शनिवार, 25 सितंबर 2021 | 08:08 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | विचार | पर्यावरण बचेगा तभी तो जीवन बचेगा

पर्यावरण बचेगा तभी तो जीवन बचेगा


आज दुनियाभर में विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जा रहा है। इस दिन को मनाने का प्रमुख उद्देश्य लोगों को जागरूक करना है। इसके साथ ही शुद्ध वातावरण के प्रति लोगों को जागरूक करना है। पर्यावरण में अचानक प्रदूषण का स्तर बढ़ने से तापमान में भी तेजी देखी जा रही है तो कहीं कहीं पर प्रदूषण के बढ़े हुए स्तर के कारण लंबे समय से बारिश भी नहीं हो पाती। ऐसे में लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरुक करने के लिए हर साल विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। दुनियाभर में 5 जून के दिन हर साल विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है। पर्यावरण बिगड़ने से कई जीव-जन्तू विलुप्त हो रहे हैं. वहीं इंसान कई प्रकार की गंभीर बिमारियों का शिकार भी हो रहे हैं। विश्व पर्यावरण दिवस की शुरुआत साल 1972 में संयुक्त राष्ट्र संघ की और से की गई थी। पर्यावरण दिवस की शुरुआत स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम से हुई थी। इसी दिन यहां पर दुनिया का पहला पर्यावरण सम्मेलन का आयोजन किया गया था। जिसमें भारत की ओर से तात्कालिन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने भाग लिया था। विश्व पर्यावरण दिवस मनाए जाने से पहले हर साल के लिए एक थीम रखी जाती है। इस साल विश्व पर्यावरण दिवस 2021 की थीम 'पारिस्थितिकी तंत्र की बहाली ' है। आज पर्यावरण अंसुतलन बढ़ता ही जा रहा है। लगातार बढ़ती आबादी और अद्यौगिकीकरण, प्राकृति संसाधनों का अंधाधुंध दोहन की वजह से आज वैश्विक तापमान लगातार बढ़ रहा है। पृथ्वी के तापमान में बढोतरी हो रही है पिछले कुछ दशकों में तापमान में 3-4 डिग्री सेंटीग्रेड तक बढ़ चुका है। ग्लेशियर लगातार पिघल रहे हैं जिससे समुद्र का तटीय इलाके के डूबने का खतरा पैदा हो गया है। इन तमाम समस्याओं को देखते हुए हम सभी को पर्यावरण को बचाना है तभी हम अपने आप को बचा सकेंगे।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: