सोमवार, 8 अगस्त 2022 | 07:40 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
प. बंगाल: अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से 28.90 करोड़ रुपये और 5 किलो से ज्यादा सोना बरामद          उत्तराखंड में कोरोना के 334 नए मामले, 2 लोगों की मौत          1 से 4 अगस्त तक भारत दौरे पर रहेंगे मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम सोलिह          बंगाल शिक्षा घोटाला: पार्थ चटर्जी को मंत्री पद से हटाया गया           संसद में स्मृति ईरानी और सोनिया गांधी के बीच नोकझोंक           गुजरात: जहरीली शराब कांड में एक्शन, SP का तबादला, 2 डिप्टी SP सस्पेंड           दिल्ली में फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, 3 गिरफ्तार          पार्थ चटर्जी के घर में चोरी, लोग समझे ED का छापा पड़ा है          कर्नाटक में प्रवीण हत्याकांड में पुलिस ने अब तक 21 लोगों की हिरासत में लिया         
होम | देश | मंदी का सामना करेगा भारत? क्या कह रही है IMF की रिपोर्ट

मंदी का सामना करेगा भारत? क्या कह रही है IMF की रिपोर्ट


पहले मंदी पर ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट और अब IMF की रिपोर्ट ने साबित कर दिया है कि भारत की अर्थव्यवस्था इतनी खराब नहीं है, जितनी की विपक्षी दल शोर मचाते हैं। दुनिया भले ही मंदी का सामना कर रही हो, लेकिन भारत पर इसका ज्यादा असर नहीं पड़ने वाला है।

 

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा IMF ने अपनी ताजा रिपोर्ट में अनुमान लगाया है कि मौजूदा वित्तीय वर्ष यानी साल 2022-23 में भारत की विकास की दर 7.4% और अगले साल यानी साल 2023-24 में 6.1% रह सकती है। इससे पहले भारतीय रिजर्व बैंक RBI ने मौजूदा वित्तीय वर्ष के लिए विकास दर 7.2 फीसदी रहने का अनुमान पहले ही लगाया था।

 

आईएमएफ की इस रिपोर्ट से भारत में विपक्षी दलों को जरूर झटका लग सकता है। विपक्षी दल लगातार पीएम नरेंद्र मोदी की आर्थिक नीतियों को देश के लिए नुकसान वाला बताते रहे हैं। यहां तक कि इस मामले में संसद में हंगामा तक हो रहा है। ब्लूमबर्ग की मंदी के बारे में रिपोर्ट में दुनिया के तमाम देशों के मुकाबले भारत की हालत अच्छी बताई गई है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में मंदी का असर करीब-करीब जीरो रहेगा, यानी फिलहाल भारत की अर्थव्यवस्था ठीक चल रही है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: