रविवार, 21 जुलाई 2019 | 08:45 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
81 साल की उम्र में शीला दीक्षित का निघन          शीला दीक्षित 15 साल तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं थी          दिल्ली की सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का दिल्ली में निधन          इसरो ने किया ऐलान, अब 22 जुलाई को लॉन्च होगा चंद्रयान-2          कुलभूषण जाधव मामले पर पीएम मोदी ने जताई खुशी कहा- ये सच्चाई और न्याय की जीत है          भारतीय वायुसेना के लिए गेम चेंजर साबित होगी राफेल-सुखोई की जोड़ी,एयर मार्शल भदौरिया          कुलभूषण जाधव केस, ICJ में भारत की बड़ी जीत, फांसी की सजा पर रोक, पाकिस्तान को सजा की समीक्षा का आदेश          गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा बयान, कहा- सभी घुसपैठियों और अवैध प्रवासियों को करेंगे देश से बाहर          पीएम नरेंद्र मोदी सितंबर में अमेरिका जाएंगे, जहां भारतीय समुदाय के लोगों से उनकी मुलाकात हो सकती है। इस दौरान दुनिया के कई अन्‍य देशों के नेताओं से भी मुलाकात की संभावना है          भाजपा को 2016-18 के बीच 900 करोड़ रू से ज्यादा चंदा मिला, एडीआर की रिपोर्ट में आया सामने          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार          बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने किया तेज सेना का गठन           भ्रष्ट अफसरों को जबरन वीआरएस दिया जाए, ऐसे लोग नहीं चाहिए-योगी आदित्यनाथ         
होम | मनोरंजन | सबके सामने ब्रेस्ट फीड कराने का विरोध क्यों ?

सबके सामने ब्रेस्ट फीड कराने का विरोध क्यों ?


नवीन निर्मल 


मलयालम मॉडल और एक्ट्रेस गिलु जोसेफ की एक बोल्ड तस्वीर ने हंगामा बरपा दिया है। इस एक्ट्रेस ने बच्चे को ब्रेस्टफीड कराते हुए फोटो खिंचवा कर एक मैगजीन मे छपवा दिया। जैसे ही ये फोटो मलयालम में छपने वाली महिलाओं की पत्रिका गृहलक्ष्मी के कवर पेज पर छपी, बवाल शुरु हो गया। इस फोटो को अश्लील मानते हुए केरल की कोल्लम सीजेएम कोर्ट में मुकदमा भी दर्ज हो गया है।

 


एक्ट्रेस गिलु जोसेफ की इस तस्वीर के साथ एक कैप्शन भी है। इसमें लिखा है कि केरल की मांएं कह रही हैं, कृपया घूरे, नहीं हमें ब्रेस्टफीड कराना है। मैगजीन ये बताने की कोशिश कर रही है कि जब एक मां अपने बच्चे को ब्रेस्ट फीड कराती है तो उसे पवित्र माना जाना चाहिए, न कि अश्लील। लेकिन कुछ लोग इसे चर्चा में आने की घटिया हरकत मान रहे हैं। उनका आरोप है कि पत्रिका और एक्ट्रेस ने प्रमोशन पाने के लिए अनैतिक तरीके का इस्तेमाल किया है।

 


इस मामले में याचिका दायर करने वाले वकील मैथ्यू विल्सन का कहना है कि ये तस्वीर कामुक प्रकृति वाली है और महिला की गरिमा को नीचा दिखाती है. तस्वीर का विरोध करने वाले कई लोगों की आपत्ति इस बात पर भी है कि तस्वीर में जोसेफ मंगलसूत्र और सिंदूर पहने हैं जबकि वो एक ईसाई हैं। कुछ समय पहले टाइम मैग्ज़ीन ने भी कुछ इसी तरह का कवर छापा था, जिसकी आलोचना हुई थी. इसके अलावा भी कई मैग्ज़ीन इस तरह के कवर प्रकाशित कर चुकी हैं।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: