शनिवार, 29 जनवरी 2022 | 06:39 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम योगी ने प्रयागराज में अतीक से मुक्त भूमि पर किया शिलान्यास, बोले- दीवारों से निकल रहा गरीबों का पैसा          राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने पतंजलि विश्वविद्यालय,हरिद्वार के प्रथम दीक्षांत समारोह में गोल्ड मेडलिस्ट विद्यार्थियों को प्रदान की उपाधि          ओमीक्रॉन कोरोना वेरिएंट की भारत में हुई एंट्री          वर्ष 2025 तक उत्तराखण्ड बनेगा हर क्षेत्र में अग्रणी राज्यःसीएम पुष्कर सिंह धामी          सीएम पुष्कर धामी ने राइजिंग उत्तराखण्ड कार्यक्रम में किया प्रतिभाग,गायक जुबिन नौटियाल को किया सम्मान          1 दिसंबर से सउदी अरब जा सकेंगे भारतीय          उत्तराखंड में कोरोना काल में सराहनीय कार्य करने वाले ग्राम प्रधानों को मिलेगी 10 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि          T20 रैंकिंग में रोहित शर्मा को हुआ फायदा          15 दिसम्बर तक स्वरोजगार योजनाओं के तहत लोन के निर्धारित लक्ष्य को किए जाने के सीएम धामी ने दिए निर्देश          सीएम योगी आदित्यनाथ एवं सीएम पुष्कर धामी की लखनऊ में हुई बैठक में निपटा उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड का 21 वर्ष पुराना विवाद         
होम | देश | ट्विटर का CEO बनकर पराग अग्रवाल ने देश का नाम किया रोशन

ट्विटर का CEO बनकर पराग अग्रवाल ने देश का नाम किया रोशन


दुनियाभर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाने वाले ट्विटर को अब नया सीईओ मिल गया है। पराग अग्रवाल को ट्विटर का नया सीईओ बनाया गया है। अग्रवाल ट्विटर के सह-संस्थापक और अब तक सीईओ रहे जैक डोर्सी की जगह लेंगे। डोर्सी ने सीईओ पद से इस्तीफ़ा दे दिया है। उन्होंने ट्विटर पर इसकी और पराग अग्रवाल के चुने जाने की जानकारी दी। उन्होंने ये भी बताया कि पराग अग्रवाल को किन खूबियों की वजह से सीईओ बनाया गया है। डोर्सी ने ट्विटर पर पोस्ट किए गए पत्र में लिखा, ''क़रीब 16 साल तक कंपनी में सह संस्थापक, सीईओ, चेयरमैन, कार्यकारी चेयरमैन, अंतरिम सीईओ, सीईओ आदि की भूमिकाएं निभाने के बाद मैंने तय किया है कि ये मेरे जाने का समय है. पर क्यों?'' 'पहली ये कि पराग अग्रवाल अब सीईओ बन रहे हैं। हमारी कंपनी के बोर्ड ने सारे विकल्प खंगालने के बाद सर्वसम्मति से इसके लिए पराग को चुना है। वो कंपनी और इसकी ज़रूरतों को काफ़ी गहराई से समझते हैं, इसलिए वो काफ़ी समय से मेरी भी पसंद रहे हैं। पराग अग्रवाल ने आईआईटी बॉम्बे से कंप्यूटर साइंस और इंजनीयरिंग में बीटेक की डिग्री हासिल की है। आईआईटी बॉम्बे से पढ़ाई के बाद उन्होंने अमेरिका की स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी से कंप्यूटर साइंस में पीएचडी की है। पराग इससे पहले माइक्रोसॉफ्ट रिसर्च और याहू रिसर्च में महत्वपूर्ण पदों पर काम कर चुके है। ट्विटर के साथ उनका जुड़ाव साल 2011 में हुआ। कहा जाता है कि ट्विटर को पॉपुलर बनाने में पराग का बड़ा योगदान रहा है। खुद जैक डोर्सी ने अपने इस्तीफे में कठिन निर्णयों में पराग की भूमिका का जिक्र किया है। रेवेन्यू और कस्टमर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में कंपनी को टॉप पर पहुंचाने की वजह से पराग एक बाद एक टॉप पद पर पहुंचे। पराग के काम कारण के साल 2016 और 2017 में कंपनी को जबरदस्त ऑडियंस ग्रोथ मिली। साल 2018 में ट्विटर ने पराग को कंपनी का सीटीओ नियुक्त किया था। सीटीओ के तौर पर पराग के पास कंपनी की तकनीकी रणनीति, अडवांस मशीन लर्निंग की जिम्मेदारी थी।  साल 2019 में जैक डोर्सी ने पराग को प्रोजेक्ट ब्लूस्की का हेड बनाया था। ब्लूस्की प्रोजेक्ट को ट्विटर पर भ्रामक खबरों के खिलाफ बनाया गया था। 29 नवंबर 2021 को जैक डोर्सी के इस्तीफा देने के साथ ही अब पराग नए सीईओ बन चुके हैं। पराग के ट्विटर के सीईओ बनने के बाद भारत के लोग बेहद खुश हैं।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: