मंगलवार, 20 अप्रैल 2021 | 09:30 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
कोरोना से बिगडे़ हालात: एक दिन में 2.16 लाख नए मामले, 1184 मौतें और 15 लाख सक्रिय केस          शिक्षा मंत्री का एलान, देशभर में दसवीं की परीक्षाएं रद्द व बारहवीं की स्थगित          अमेरिकी सांसद ने उड़ाए इमरान के होश, बोले-आतंकियों को आसरा देता है पाकिस्तान          यूएई के प्रधानमंत्री बने ब्रिटेन के सबसे बड़े जमींदार, खरीदी एक लाख एकड़ जमीन          हरिद्वार-दो अखाड़ों ने की कुंभ समापन की घोषणा, नाराज संत बोले-अपनी अवधि तक चलेगा मेला          गीतकार पंडित किरण मिश्र का निधन, 67 की उम्र में ली अंतिम सांस          केदारनाथ धाम के पत्थरों से तैयार किए गए 10 हजार शिवलिंग, घर ले जा सकेंगे तीर्थयात्री          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | लाइफस्टाइल | विटामिन डी से दूर होगी दिल की बीमार

विटामिन डी से दूर होगी दिल की बीमार


भारत में 50 प्रतिशत लोग दिल की बीमारी के शिकार होते है लेकिन अगर सही टाइम पर विटामिन डी का प्रयोग किया जाए तो आपके लिए इससे अच्छा रामबाण इलाज हो ही नही सकता। नए शोध के अनुसार विटामिन डी की कमी से जूझ रहे मोटापे से पीडि़त वयस्कों को इसकी उच्च खुराक देने से धमनी की कठोरता में कमी लाई जा सकती है। यह हृदय रोग की बड़ी वजह मानी जाती है जिस रोग में मौत निशिचत होती है। आपको बता दें कि इससे 2015 में दुनियाभर में 1.77 करोड़ लोगों की मौत हो गई थी।

विटामिन डी की कमी से हमारे शरीर में कई चीजों की पूर्ती होती है ।जिनमें विटामिन डी अंडे के पीले भाग, मछली के तेल, मक्खन, दूध और धूप सेंकने से प्राप्त किया जा सकता है। विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए जरूरी है कि प्रतिदिन सुबह-सुबह धूप सेंकी जाए। इतना ही नहीं विटामिन डी से युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करने से भी शरीर की भीतरी कमजोरी को दूर किया जा सकता है।

इसके अलावा अमेरिका की अगस्ता यूनिवर्सिटी के हृदय रोग विशेषज्ञ यानबिन डोंग ने कहा कि धमनी की दीवारों का कड़ा होना और विटामिन डी की कमी का हृदय रोग में योगदान हो सकता है। नतीजों से जाहिर हुआ है कि चार माह तक विटामिन डी की 4,000 इंटरनेशनल यूनिट आइयू की उच्च खुराक देने से धमनी के कड़ेपन में 10.4 फीसद तक की कमी लाई जा सकती है। फिलहाल वयस्कों और बच्चों को रोजाना 600 आइयू की खुराक देने की सलाह दी जाती है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: