मंगलवार, 16 जुलाई 2019 | 04:04 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
दिल्ली-एनसीआर में हुई झमाझम बारिश, गर्मी और उमस से मिली राहत          हिमाचल प्रदेश के सोलन में इमारत गिरने की वजह से अब तक सेना के 6 जवानों सहित सात लोगों की मौत           भारतीय क्रिकेट टीम के अंदर सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक टीम दो खेमों में बंट गई है          पीएम नरेंद्र मोदी सितंबर में अमेरिका जाएंगे, जहां भारतीय समुदाय के लोगों से उनकी मुलाकात हो सकती है। इस दौरान दुनिया के कई अन्‍य देशों के नेताओं से भी मुलाकात की संभावना है          अयोध्या केस मध्यस्थता पैनल 18 जुलाई को पेश करे रिपोर्ट, सुप्रीम कोर्ट का निर्देश          भाजपा को 2016-18 के बीच 900 करोड़ रू से ज्यादा चंदा मिला, एडीआर की रिपोर्ट में आया सामने          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार          बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने किया तेज सेना का गठन           भ्रष्ट अफसरों को जबरन वीआरएस दिया जाए, ऐसे लोग नहीं चाहिए-योगी आदित्यनाथ         
होम | लाइफस्टाइल | विटामिन डी से दूर होगी दिल की बीमार

विटामिन डी से दूर होगी दिल की बीमार


भारत में 50 प्रतिशत लोग दिल की बीमारी के शिकार होते है लेकिन अगर सही टाइम पर विटामिन डी का प्रयोग किया जाए तो आपके लिए इससे अच्छा रामबाण इलाज हो ही नही सकता। नए शोध के अनुसार विटामिन डी की कमी से जूझ रहे मोटापे से पीडि़त वयस्कों को इसकी उच्च खुराक देने से धमनी की कठोरता में कमी लाई जा सकती है। यह हृदय रोग की बड़ी वजह मानी जाती है जिस रोग में मौत निशिचत होती है। आपको बता दें कि इससे 2015 में दुनियाभर में 1.77 करोड़ लोगों की मौत हो गई थी।

विटामिन डी की कमी से हमारे शरीर में कई चीजों की पूर्ती होती है ।जिनमें विटामिन डी अंडे के पीले भाग, मछली के तेल, मक्खन, दूध और धूप सेंकने से प्राप्त किया जा सकता है। विटामिन डी की कमी को पूरा करने के लिए जरूरी है कि प्रतिदिन सुबह-सुबह धूप सेंकी जाए। इतना ही नहीं विटामिन डी से युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन करने से भी शरीर की भीतरी कमजोरी को दूर किया जा सकता है।

इसके अलावा अमेरिका की अगस्ता यूनिवर्सिटी के हृदय रोग विशेषज्ञ यानबिन डोंग ने कहा कि धमनी की दीवारों का कड़ा होना और विटामिन डी की कमी का हृदय रोग में योगदान हो सकता है। नतीजों से जाहिर हुआ है कि चार माह तक विटामिन डी की 4,000 इंटरनेशनल यूनिट आइयू की उच्च खुराक देने से धमनी के कड़ेपन में 10.4 फीसद तक की कमी लाई जा सकती है। फिलहाल वयस्कों और बच्चों को रोजाना 600 आइयू की खुराक देने की सलाह दी जाती है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: