रविवार, 27 सितंबर 2020 | 10:06 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
टाइम मैग्जीन ने जारी की दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट,पीएम मोदी लिस्ट में इकलौते भारतीय ने          पीएम मोदी ने फिट इंडिया मूवमेंट के एक साल पूरा होने पर,बताए अपनी फिटनेस के सीक्रेट          डीआरडीओ को मिली बड़ी कामयाबी,अर्जुन टैंक से लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल का सफल परीक्षण          ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर डीन जोन्स का मुंबई में दिल का दौरा पड़ने से निधन          पॉलिसी उल्लंघन के कारण गूगल ने पेटीएम को हटाया,पेटीएम ने कहा,पैसे हैं सुरक्षित          प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों को आश्वस्त किया कि लोकसभा से पारित कृषि सुधार संबंधी विधेयक उनके लिए रक्षा कवच का काम करेंगे           उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | समाज हित में उत्कृष्ट कार्यों के लिए उत्तरांचल उत्थान परिषद को मिलेगा सम्मान

समाज हित में उत्कृष्ट कार्यों के लिए उत्तरांचल उत्थान परिषद को मिलेगा सम्मान


सामाजिक एवं सांस्कृतिक पटल पर सेवा के कार्य कर रहे उत्तरांचल उत्थान परिषद को 17 मार्च 2020 को मध्यप्रदेश शासन द्वारा नाना जी देषमुख राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। उत्तरांचल उत्थान परिषद के केंद्रीय कार्यालय सेवा निकेतन देहरादून से जारी संदेश के अनुसार मध्य प्रदेश सरकार द्वारा उत्तराखण्ड के सुदूरवर्ती ग्रामीण क्षेत्रों में कार्य करने के लिए और सांस्कृतिक पटल पर अग्रणीय भूमिका निभाने के लिए उत्तरांचल उत्थान परिषद का चयन इस सम्मान के लिए किया गया है।

उत्तरांचल उत्थान परिषद के महामंत्री राम प्रकाश पैन्यूली ने इस सम्मान समारोह में शामिल होकर इस सम्मान को ग्रहण करेंगे। आपको बता दें कि समाजसेवी स्व0 डां0 नित्यानन्द जी के प्रमुख सहयोगी रहे एवं उत्तरांचल उत्थान परिषद के वर्तमान महामंत्री राम प्रकाष पैन्यूली इस संस्था की स्थापना से ही परिषद के कार्यों से जुड़े रहते हुए सन् 2008 से केन्द्रीय महामंत्री का दायित्व निर्वहन कर रहे हैं। उनके अथक प्रयासों से उत्तरांचल उत्थान परिषद की गतिविधियां प्रतिदिन नये आयाम रच रही है। आपके के सानिद्धय में उत्तराखंड में समग्र ग्राम विकास अभियान के लिए आधारभूत कार्यक्रम बनाए गए हैं। उच्च एवं मध्य हिमालयी ग्रामों से पलायन जैसी भयंकर समस्या के समाधान स्वरूप परिषद देश भर में फैले प्रवासी उत्तराखण्डी समाज को ‘मेरा गाँव मेरा तीर्थ अभियान’ से जोड़ने के लिए निरंतर प्रवासी पंचायतों का आयोजन किया जा रहा है। इन प्रवासी पंचायतों के अनुवर्ती प्रयासों के रूप में सैकड़ों ग्रामों में ग्रामोत्सवों की अभिनव परम्परा आरम्भ की गई है। इन ग्रामोत्सवों में ग्रामदेवता के पूजन के निमित्त प्रवासी एवं ग्रामवासी वर्ष में एक बार एकत्रित हो कर धार्मिक आयोजन करते हैं और ग्राम विकास गोष्ठी कर सामाजिक सहयोग पर आधारित ग्राम विकास के अभियान को आगे बढ़ाते हैं। आज यह परम्परा सैकड़ों ग्रामों में परिषद की प्रेरणा से विशाल आकार ले चुकी है। पलायन की समस्या से जूझते उत्तराखंड को परिषद ने ग्रामोत्सवों के माध्यम से समाधान का मार्ग प्रशस्त किया है।

उत्तरांचल उत्थान परिषद के तत्ववाधान में आज के समय में बड़ी संख्या में खण्डहर हो चुके घरों का पुनर्निमाण शुरू हुआ है। साथ ही युवाओं ने महानगरों की छोटी-छोटी नौकरियां छोड़ कर अपने गांव में स्वरोजगार के उपक्रम आरम्भ किए हैं। प्रवासी पंचायतों की सफलता को देखकर प्रदेश सरकार ने भी लाखों प्रवासियों को ग्रामविकास की धारा से जोड़ने के लिए सरकार में अलग से विभाग बनाने की घोषणा की है।
उत्तरांचल उत्थान परिषद के महामंत्री राम प्रकाष पैन्यूली बातते हैं कि आने वाले समय में पहाड़ों में बड़े स्तर पर रोजगार पैदा करने के साथ-साथ पलायन रोकने के लिए नई नीतियों के साथ काम करेगी। जिससे उत्तराखंड में विकास की नयी भूमिका तय होगी। परिषद ने मध्य प्रदेश में राष्ट्रीय स्तर के सम्मान के लिए चयनित होने पर खुशी जताई है।

 

 

 

 

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: