शनिवार, 24 जुलाई 2021 | 11:08 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम पुष्कर धामी ने किया 179 करोड़ की 65 योजनाओं का लोकार्पण,शिलान्यास          मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने रुद्रपुर में अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा          कोरोना महामारी के बीच ओलंपिक गेम्स हुए शुरू          सीएम पुष्कर धामी ने कोविड-19 से बचाव के लिये उच्चाधिकारियों एवं जिलाधिकारियों के साथ की समीक्षा          उत्तराखंड में कांग्रेस का सियासी संकट खत्म,हरीश रावत होंगे मुख्यमंत्री का चेहरा          कोरोना संक्रमण के चलते आर्थिक मंदी से जूझ रहे चारधाम यात्रा व पर्यटन को उभारे के लिए धामी सरकार की 200 करोड़ रूपए के आर्थिक पैकेज की घोषणा          प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत उत्तराखंड में 240 लाभार्थियों को दिया गया आवास कब्जा          इसरो की सेटेलाइट से बच्चें करेंगे ऑन लाइन पढ़ाई         
होम | क्राइम | उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार का सख्त आदेश,घर से बेवजह बाहर घूमेंगे वालों का होगा चालान

उत्तराखंड पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार का सख्त आदेश,घर से बेवजह बाहर घूमेंगे वालों का होगा चालान


पुलिस महानिदेशक, उत्तराखण्ड ने पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से पुलिस महानिरीक्षक कुमांयू परिक्षेत्र उपमहानिरीक्षक, गढवाल परिक्षेत्र, समस्त जनपदों/वाहिनियों के प्रभारियों, अन्य जनपदीय पुलिस अधिकारियों एवं थानाध्यक्षों के साथ कोरोना से सम्बन्धित बैठक की गई। बैठक में पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने विभिन्न बिन्दुओं पर विचार विमर्श करते हुए निम्न महत्त्वपूर्ण निर्देश दिये गयेः-

1- राज्य के जनपदों में लॉकडाउन लगने उपरान्त भी बहुत से व्यक्ति अनावश्यक कार्यों के बाहर घूम रहें हैं। अतः रोड पर आने वाले सभी व्यक्तियों की सख्ती से चैकिंग की जाए और जो व्यक्ति फालतू घूमते दिखें उनका चालान करें एंव उन्हे पाबन्द करें।

2- इस महामारी के दौरान कुछ व्यक्तियों द्वारा ऑक्सीजन एवं हॉस्पिटलों में बैड की कालाबाजारी की जा रही है, इसके अतिरिक्त कुछ लोग एम्बुलेन्स का किराया भी बहुत ज्यादा ले रहें हैं, ऐसे व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए उनके विरूद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए यदि उपरोक्त कालाबजारी में किसी अस्पताल अथवा अस्पताल कर्मी की सलिप्तता प्रकाश में आती है तो उसके विरूद्ध भी कठोर कार्यवाही की जाए।

3- बाहर से आने व्यक्तियों के शत प्रतिशत रजिस्ट्रेशन होना अनिवार्य है साथ ही आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट आवश्यक है। बाॅर्डर के जनपद के प्रभारी यह भी सुनिश्चित करेंगें कि ऐसे व्यक्तियों को ही प्रदेश में प्रवेश दिया जाए जो उपरोक्त शर्तों का पालन करते हैं।

4- फ्रन्टलाईन पर कार्य कर रहे पुलिसकर्मी अच्छे मास्क एवं फेस शील्ड का उपयोग करें।

5- लावारिस मृतक व्यक्तियों के दाह संस्कार कार्य में एस0डी0आर0एफ0 का प्रयोग किया जाए क्योंकि एस0डी0आर0एफ0 के पास पर्याप्त संसाधन उपलब्ध हैं इसके अतिरिक्त एस0डी0आर0एफ0 को इन परिस्थितियों हेतु प्रशिक्षण प्राप्त है, इस कार्य हेतु एस0डी0आर0एफ0 द्वारा पी0पी0ई0 किट पहनकर दाह संस्कार किये जाने एवं सम्बन्धित थाना पुलिस को शांति व्यवस्था हेतु उक्त स्थल मौजूद रहने के निर्देश दिये गए।

6- किसी पुलिस के कर्मी को स्वयं या उसके परिवार हेतु ऑक्सीजन की आवश्यकता हो तो उन्हें तुरन्त पुलिस लाईन या बटालियन से ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाय।

7- पी0ए0सी0 की प्रत्येक प्लाटून एवं जनपद के प्रत्येक थाने मे पल्स आॅक्सीमीटर एवं थर्मामीटर भी उपलब्ध कराए जांए।

उपरोक्त बैठक में पी0वी0के0 प्रसाद- अपर पुलिस महानिदेशक, पी0ए0सी0, अभिनव कुमार,- अपर पुलिस महानिदेशक, प्रशासन, वी मुरूगेशन- पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था, अमित सिन्हा- पुलिस महानिरीक्षक, पी0/एम0, श्री ए0 पी0 अंशुमान- पुलिस महानिरीक्षक, अभिसूचना एंव सुरक्षा, नीलेश आनन्द भरणे- पुलिस उपमानिरीक्षक अपराध एवं कानून व्यवस्था, श्रीमती रिधिम अग्रवाल- पुलिस उपमहानिरीक्षक, एस0डी0आर0एफ0/मॉर्डनाईजेशन के अतिरिक्त अन्य अधिकारियों द्वारा प्रतिभाग किया गया।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: