रविवार, 7 जून 2020 | 12:43 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | उत्तराखंड | उत्तराखंडी संस्कृति के कई रंगों के साथ रंग महोत्सव हुआ संपन्न

उत्तराखंडी संस्कृति के कई रंगों के साथ रंग महोत्सव हुआ संपन्न


उत्तराखंड की संस्कृति के दर्शन के साथ 21वां भारत रंग महोत्सव समाप्त हो गया। महोत्सव के अंतिम दिन बंगाली नाटक 'नासिका पुराण' की प्रस्तुति ने मित्रता की महत्ता बताई। इस दौरान पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियों को सराहा। राष्ट्रीय नाट्य विद्यालय नई दिल्ली और संस्कृति विभाग उत्तराखंड के संयुक्त तत्वावधान में सात फरवरी से 12 फरवरी तक 21वें भारत रंग महोत्सव के समानांतर नाट्य महोत्सव का आयोजन किया गया। संस्कृति निदेशालय के ऑडिटोरियम में उत्तराखंड की लोक-कलाओं से रूबरू कराया गया। जिसमें पांडव नृत्य, महासू वंदना, नाटी, तांदी, बाजूबंद, 52 गढ़ आदि लोक नृत्य व गायन प्रस्तुत किए गए। महोत्सव के समापन पर मुख्य अतिथि के तौर पर संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने आयोजन की सराहना की। कार्यक्रम में उत्तराखंड की खूबसूरत झलक देखने को मिली।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: