बुधवार, 20 नवंबर 2019 | 06:51 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
स्वर कोकिला लता मंगेशकर की हालत नाजुक, देश भर दुआओं का दौर जारी           महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की सिफारिश, मोदी कैबिनेट ने दी मंजूरी          अयोध्या में ही मस्जिद निर्माण के लिए दी जाएगी जमीन          सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन पर रामलला का हक माना          कोर्ट ने कहा कि पुरातत्व विभाग की खोज को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता          कोर्ट ने कहा,विवादित जमीन के नीचे एक ढांचा था और यह इस्लामिक ढांचा नहीं था          कोर्ट के फैसले में ASI का हवाला देते हुए कहा गया कि बाबरी मस्जिद का निर्माण किसी खाली जगह पर नहीं किया गया था          अयोध्या पर आया सुप्रीम कोर्ट का फैसला, बनेगा राम मंदिर, मस्जिद के लिए अलग जगह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          केंद्र सरकार ने 48 लाख कर्मचारियों को दिवाली से पहले दिया बड़ा तोहफा, 5 फीसदी बढ़ाया महंगाई भत्ता           देश के सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर सेविंग अकाउंट की तुलना में दे रहा है डबल ब्याज           पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | क्राइम | उत्तराखंड के स्कूल-कॉलेज के बच्चों को नशे का आदि बना रहे थे नशे के सौदागर

उत्तराखंड के स्कूल-कॉलेज के बच्चों को नशे का आदि बना रहे थे नशे के सौदागर


 उत्तराखंड में स्कूल-कॉलेज के बच्चों को नशे का आदि बना रहे नशे के सौदागरों को पुलिस और एसओजी की संयुक्त टीम ने धरदबोचा है। इन नशे के सौदारगरों का जाल रूदरपुर,बरेली और हल्द्वानी तक फैला था। इस का खुलासा तब हुआ जब इस गिरोह के कुछ सदस्य हलद्वानी में एक स्कूल से नशीली दवाइयों व इंजेक्शन के डिब्बे लेकर स्कूटर से आ रहे तब इन नशे के सौदागर को पुलिस और एसओजी की टीम ने देवलचौड़ से गिरफ्तार किया। आरोपित के कब्जे से नशे के लिए प्रयोग होने वाली 24,500 से अधिक गोलियां व 3200 इंजेक्शन बरामद हुए हैं।

पुलिस ने एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर आरोपित को जेल भेज दिया है। 

एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव ने बताया कि यह बहुत ही दुखद और खतरना स्थिति हैं कि ये नशे के सौदारग चुप-चाप स्कूल-कॉलेज के बच्चों को अपना शिकार बना रहे है। इस बात का इनपुट हमें कई दिनों से मिल रहा है। इसके बाद हमने एक टीम गठित की और हर थाना व चौकी स्तर पर अभियान चलाया। एसओजी को भी टास्क सौंपकर नशीले पदार्थ बेचने वालों की तुरंत गिरफ्तारी के आदेश दिए गए।

एसपी सिटी ने बताया कि हमारे पास पूरा इनपुट था कि रामपुर रोड पर देवलचौड़ क्षेत्र में रहने वाला चेतन मदान नशीली दवाइयों व इंजेक्शन की थोक में बिक्री करता है। जिसके बाद पुलिस ने पुख्ता जानकारी जुटाई और चेतन मदान को रंगे हाथों पकडऩे के लिए जाल बिछाया गया और जैसे ही हमें सूचना मिली की चेतन के रुद्रपुर से स्कूटर में नशीली गोलियां व इंजेक्शन लेकर आ रहा हैं,तो एसओजी प्रभारी दिनेश पंत व टीपी नगर चौकी प्रभारी सुशील कुमार के नेतृत्व में गठित टीम ने देर रात चेतन को दबोच लिया। स्कूटर में कट्टों में लदी भारी मात्रा में नशीली दवाइयां व इंजेक्शन मिलने पर उसके खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है। पूछताछ में चेतन ने बताया कि वह हल्द्वानी शहर के प्रतिष्ठित स्कूल-कॉलेज,  इंस्टीट्यूट व कोचिंग सेंटरों के छात्रों के अलावा भीमताल व द्वाराहाट के प्रमुख शिक्षण संस्थानों के छात्रों को भी एजेंटों के माध्यम से नशीली दवाइयां बेचता है,और अभी तक लाखों रूपये की नशीली दवाइयां वह सफलाई कर चुका है। 

चेतन की गिरफ्तारी के बाद एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव ने बताया कि पूछताछ में पता चला कि चेतन छह-सात सालों तक हल्द्वानी के एक प्रतिष्ठित मेडिकल स्टोर में काम कर चुका है। इसके बाद उसने श्याम मेडिकोज के नाम से लाइन नंबर आठ में मेडिकल स्टोर खोला। उस मेडिकल स्टोर से भी वह नशीली दवाइयों की बिक्री करता था। लंबे समय तक मेडिकल स्टोर के कारोबार से जुड़े होने के कारण उसके नशे के लती काफी ग्राहक व एजेंट बन गए। वर्ष 2018 में चेतन ने मेडिकल स्टोर बंद कर दिया और खुद विभिन्न स्थानों में जाकर नशीली दवाइयों की डिमांड सप्लाई करने लगा। चेतन ने बताया कि वह रुद्रपुर व बरेली के दवाइयों के थोक विक्रेताओं से नशीली दवाइयां व इंजेक्शन खरीदकर लाता है। सस्ते दामों में दवाइयां खरीदकर लाने के बाद वह ग्राहकों को महंगे दामों में इसकी बिक्री करता है। पुलिस ने इसके साथ जुड़े नशे के और सौदागरों की तलाश भी शुरू कर दी है। 

एसपी सिटी अमित श्रीवास्तव ने बताया की अभी हमारा यह चैकिंग अभियान खत्म नहीं हुआ है। इसमें अभी कही और लोगों भी संलिप्त हैं। जिनकी तलाशी की जा रही हैं,और जो लोगों स्कूल-कॉलेजो में पढ़ने जाने वाले बच्चों को नशे का आदि बना रहे है। उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।

एसपी सिटी ने लोगों से अपील भी की कि वह अपने बच्चों पर स्कूल-कॉलेज आते-जाते समय नजर रखें साथ ही घर लौटने पर बच्चों के बैंग जरूर चैक करें।क्योंकि आएं दिन देखने में आ रहा हैं कि यह नशे के सौदारगर भोले-भाले बच्चों को अपना शिकार बना रहे है। जिसके आए दिन बच्चे अपराध करने से भी नहीं चुक रहे है।  

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: