शुक्रवार, 7 अगस्त 2020 | 03:30 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पीएम मोदी ने रखी राम मंदिर की नींव, देश भर में घर-घर दीप प्रज्ज्वलित कर मनाई जा रही है खुशियां          उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           कोटद्वार में अतिवृष्टि से सड़क पर आया मलबा, बरसाती नाले में बही कार, चालक की मौत          चारधाम देवस्थानम बोर्ड मामले में उत्तराखंड सरकार को बड़ी राहत,सुब्रह्मण्यम स्वामी की याचिका हाईकोर्ट          प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग से की केदारनाथ के निर्माण कार्यों की समीक्षा, कहा धाम के अलौकिक स्वरूप में और भी वृद्धि होगी          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | उत्तराखंड में कोरोना वायरस के 32 नए मामले, एक की मौत

उत्तराखंड में कोरोना वायरस के 32 नए मामले, एक की मौत


उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। रविवार को 32 नए मामले सामने आए हैं। इनमें सबसे अधिक मामले नैनीताल 14, देहरादून दस, चमोली दो, चंपावत एक, रुद्रप्रयाग एक, टिहरी गढ़वाल से चार मामले हैं। अब प्रदेशभर में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 2823 हो गया है। हालांकि 2018 लोग पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं, जबकि 749 मामले अभी एक्टिव हैं। वहीं, 18 लोग राज्य से बाहर चले गए हैं। इधर, एक और कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हुई है। डायरिया से ग्रसित ये शख्स हल्द्वानी के अस्पताल में भर्ती था और उसकी शनिवार को कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। रविवार को उसकी मौत हो गई। फिलहाल, अस्पताल की ओपीडी बंद कर दी गई है और मरीज के कॉन्टेक्ट में आने वाले डॉक्टर समेत सभी स्टाफ की सूची मांगी गई है। इन्हें क्वारंटाइन किया जा रहा है। प्रदेश में मृतकों का आंकड़ा 32 हो चुका है। नैनीताल में कोरोना संक्रमित एक और मरीज की मौत हो गई है। 26 जून को हल्द्वानी का ही 65 वर्षीय मरीज नीलकंठ अस्पताल में भर्ती हुआ था। उसे डायरिया और बुखार की दिक्कत थी। कुछ घंटों के बाद ही उसकी सांस फूलने लगी। डॉक्टर ने जांच करने के साथ ही मरीज को तत्काल आइसीयू में भर्ती कर दिया। इसके बाद कोरोना जांच के लिए सैंपल भी भिजवा दिया गया। 27 जून की रात को मरीज की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। रविवार की सुबह ही अस्पताल प्रबंधन ने सूचना सीएमओ कार्यालय में दे दी थी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. भारती राणा ने बताया कि मरीज के कॉन्टेक्ट में आने वाले डॉक्टर समेत सभी स्टाफ की सूची मांगी गई है। इन्हें क्वारंटाइन किया जा रहा है। साथ ही मामले की सूचना प्रशासन को भी दे दी गई थी। मरीज की मौत के बाद ही अस्पताल में ओपीडी और इमरजेंसी सेवा बंद हो गई है। सीएमओ ने कहा कि फिलहाल तीन दिन तक सभी सेवाएं बंद रहेंगी। सभी के सैंपल लिए जाएंगे। एम्स ऋषिकेश में पिछले 24 घंटे में 8 लोगों की रिपोर्ट कोविड पाजिटिव पाई गई है। इनमें एम्स संस्थान की इमरजेंसी के एक जूनियर रेजिडेंट डाक्टर भी शामिल हैं, जबकि अन्य अधिकांश मामले हरिद्वार जनपद के हैं। संस्थान की ओर से इस बाबत स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को अवगत करा दिया गया है। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि संस्थान में की गई कोविड सेंपलिंग में 8 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्होंने बताया कि संस्थान के एक 25 वर्षीय जूनियर रेजिडेंट चिकित्सक, जो एम्स की इमरजेंसी सेवा में तैनात हैं और संस्थान के हॉस्टल निवासी हैं, जो 26 जून को डायरिया की शिकायत के साथ इमरजेंसी में आए थे, जहां उनका कोविड सैंपल लिया गया व उन्हें आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया। इनकी रिपोर्ट रविवार को कोविड पॉजिटिव आई है।

© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: