शनिवार, 24 जुलाई 2021 | 09:55 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम पुष्कर धामी ने किया 179 करोड़ की 65 योजनाओं का लोकार्पण,शिलान्यास          मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने रुद्रपुर में अधिकारियों के साथ विकास कार्यों की समीक्षा          कोरोना महामारी के बीच ओलंपिक गेम्स हुए शुरू          सीएम पुष्कर धामी ने कोविड-19 से बचाव के लिये उच्चाधिकारियों एवं जिलाधिकारियों के साथ की समीक्षा          उत्तराखंड में कांग्रेस का सियासी संकट खत्म,हरीश रावत होंगे मुख्यमंत्री का चेहरा          कोरोना संक्रमण के चलते आर्थिक मंदी से जूझ रहे चारधाम यात्रा व पर्यटन को उभारे के लिए धामी सरकार की 200 करोड़ रूपए के आर्थिक पैकेज की घोषणा          प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत उत्तराखंड में 240 लाभार्थियों को दिया गया आवास कब्जा          इसरो की सेटेलाइट से बच्चें करेंगे ऑन लाइन पढ़ाई         
होम | उत्तराखंड | उत्तराखंड में कांग्रेस का सियासी संकट खत्म,हरीश रावत होंगे मुख्यमंत्री का चेहरा

उत्तराखंड में कांग्रेस का सियासी संकट खत्म,हरीश रावत होंगे मुख्यमंत्री का चेहरा


उत्तराखंड में लंबे समय से चला आ रहा कांग्रेस का सियासी संकट आखिरकार खत्म हो गया है। पंजाब में तमाम उठापटक के बाद अब उत्तराखंड में कांग्रेस में चल रही अंदरूनी कलह को दूर करते हुए कांग्रेस ने एक बार फिर से उत्तराखंड के कद्दावर नेता हरीश रावत को मुख्यमंत्री पद का चेहरा बनाया है। हरीश रावत को चुनाव प्रचार कमेटी का अध्यक्ष भी बनाया गया है।

इसी के साथ लंबी जद्दोजहद के बाद कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष का पद गणेश गोदयाल को सौंपा गया है। जबकि वर्तमान प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह को विधायक दल का नेता चुना गया है। इसी के साथ कांग्रेस में चल रही अंदरुनी कलह अब दूर हो गई है।

कांग्रेस के इस फैसले के बाद हरीश रावत ने उन्हें खुशी जताते हुए कहा की हम लगातार पहाड़ के विकास और पहाड़ के लोगों की भावनाओं का सम्मान करते हुए। उनको बेहतर विकल्प के तौर पर काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और हमारी पूरी टीम पहाड़ के विकास के लिए आगे भी और बेहतर काम करेंगी।

आपको बता दें कि उत्तराखंड में 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस अब पूरी तरह से तैयारी में जुट गई है। कांग्रेस के निर्णय को लेकर के सी वेणुगोपल ने पत्र जारी किया है। जिसके तहत प्रदीप टमटा को उपाध्यक्ष और दिनेश अग्रवाल को संयोजक की जिम्मेदारी दी गई। इसके अलावा कोषाध्यक्ष का प्रभार आर्येंद्र शर्मा को सौंपा गया। उत्तराखंड में चार कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए हैं। जिसमें प्रोफेसर जीत राम, भुवन कापड़ी, तिलक राज बेहड और रंजीत रावत को जिम्मेदारी सौंपी गई है। 

 

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: