सोमवार, 24 फ़रवरी 2020 | 07:35 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | उत्तराखंड के उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत को मिल सकती है उत्तराखंड बीजेपी की कमान !

उत्तराखंड के उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत को मिल सकती है उत्तराखंड बीजेपी की कमान !


गुटबाजी से जूझ रही उत्तराखंड बीजेपी को पटरी पर लाने के लिए बीजेपी नेता धन सिंह रावत को कमान मिल सकती है। बीजेपी के विश्वस्त सूत्रों के मुताबिक लीडरशिप ने बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के लिए धन सिंह के नाम पर मुहर लगा दी है। अगर सब ठीकठाक रहा तो दो-तीन दिनों के भीतर रावत के नाम का ऐलान कर दिया जाएगा।

भाजपा प्रदेश चुनाव पदाधिकारी बलवंत सिंह भौर्याल ने बीते दिनों मीडिया से बातचीत में बताया था कि पार्टी में सक्रिय सदस्य बनाना पहला लक्ष्य था। इसी के साथ ब्लॉक और जिला स्तर के पदाधिकारियों का चुनाव होना है इसके बाद 1 दिसंबर से 15 दिसंबर के बीच हाईकमान के निर्देश पर उत्तराखंड में प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव कराया जाएगा।

बीजेपी के  प्रदेश चुनाव प्रभारी बलवंत सिंह भौर्याल की बातों से जाहिर होता है कि 15 दिसंबर तक तस्वीर साफ हो जाएगी। मौजूदा सितंबर महीने में ही पार्टी संगठन के चुनाव की प्रक्रिया शुरू हो रही रही है। इस दौरान पार्टी बूथ लेवल से लेकर जिला और प्रदेश स्तर तक पदाधिकारियों के चुनाव करेगी। जहां तक अध्यक्ष पद पर दावेदारों की बात है तो लगभग आधा दर्जन कद्दावर नेता विधायक और संगठन के ओहदेदार अपना दावा दिल्ली में ठोंक रहे हैं। पिछले विधान सभा चुनाव की बात करें या नगर निगम की या फिर लोकसभा के चुनाव की पार्टी ने धन सिंह रावत के संगठनात्मक कौशल का बखूबी इस्तेमाल किया और नतीजा भी बेहतर आया जिसके बाद खुद रावत की चाहत अध्यक्ष पद पर टिक गई होगी ऐसा भी माना जा सकता है।

बीते कुछ समय से उच्च शिक्षा मंत्री ने प्रदेश में दौरे और कार्यक्रम भी तेज कर दिए हैं। जिससे उनकी सक्रियता साफ नजर आती है। ऐसे में क्या राजनैतिक ज्योतिषियों का अंदाज़ा सही साबित होगा यह अगले कुछ दिनों में सामने आ जायेगा।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: