सोमवार, 23 सितंबर 2019 | 09:25 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सेंसेक्स के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी तेजी, 1 दिन में ही निवेशकों को 7 लाख करोड़ रुपए का फायदा          इंतजार खत्म- वायुसेना को मिला पहला राफेल फाइटर जेट, दिया गया नए वायुसेना प्रमुख का नाम          जीएसटी काउंसिल की बैठक: ऑटो सेक्टर को नहीं मिली राहत, होटल कमरों पर कम हुई टैक्स दर          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          मौत का एक्सप्रेस वे बना यमुना एक्सप्रेस वे, इस साल हादसों में गई 154 लोगों की जान          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | दुनिया | कश्मीर द्विपक्षीय मसला,किसी तीसरे पक्ष की जरूरत नहीं,ट्रंप को मोदी की दो-टूक

कश्मीर द्विपक्षीय मसला,किसी तीसरे पक्ष की जरूरत नहीं,ट्रंप को मोदी की दो-टूक


फ्रांस में आयोजित जी-7 शिखर सम्मेलन-2019 से इतर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के बीच द्वीपक्षीय मुलाकात हुई। जैसा कि उम्मीद थी कि कश्मीर मसले पर दोनों नेताओं में बातचीत होगी, वैसा हुआ भी। पीएम मोदी ने कश्मीर मसले पर भारत का स्टैंड साफ किया और कहा कि भारत और पाकिस्तान के सभी मुद्दे द्विपक्षीय हैं। उन्होंने कहा कि कश्मीर हमारा आपसी द्विपक्षीय मसला है और हम दोनों मिलकर इसे सुलझा लेंगे। उन्होंने कहा कि इस मसले पर हमें किसी तीसरे देश की जरूरत नहीं है। पीएम मोदी के साथ बैठे डोनाल्ड ट्रंप ने कश्मीर मसले पर मध्यस्थता करने से साफ इनकार कर दिया और कहा कि कश्मीर का मुद्दा भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मुद्दा है और ये दोनों देश मिलकर इसे सुलझा लेंगे। पीएम मोदी और डोनाल्ड ट्रंप के बीच हुई बातचीत के कुछ बिंदु इस प्रकार है।

1. पीएम मोदी ने डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की और कश्मीर मसले पर अपना रुख स्पष्ट किया। उन्होंने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच जितने भी मुद्दे हैं सभी द्विपक्षीय है और हम दोनों देश मिलकर सुलझा लेंगे। 

2. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सामने पीएम मोदी ने कहा कि कश्मीर मसला भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मसला है। 1947 से पहले भारत और पाकिस्तान एक साथ थे। मैं आश्वस्त हूं कि हम इन सभी मुद्दों पर चर्चा कर सकते हैं और इसका सामाधान भी साथ मिलकर कर सकते हैं।

3. ट्रंप के साथ मुलाकात के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के सभी मसले द्विपक्षीय हैं। हम किसी अन्य तीसरे देश को कष्ट देना नहीं चाहते। 

4. वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मध्यस्थता करने से इनकार कर दिया और उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान का द्विपक्षीय मसला है और ये दोनों देश मिलकर इसे सुलझा लेंगे। 

5. पीएम मोदी ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच कई द्विपक्षीय मुद्दे हैं। चुनाव के बाद जब मैंने पाकिस्तान के पीएम को फोन किया तो मैंने कहा था कि पाकिस्तान को भी गरीबी के खिलाफ लड़ना है, भारत को भी लड़ना है। पाकिस्तान को भी बीमारियों से लड़ना है, भारत को भी, पाकिस्तान को भी अशिक्षा से लड़ना है भारत को भी। पाकिस्तान को भी असुविधाओं के खिलाफ लड़ना है भारत को भी लड़ना है। हम दोनों को मिलकर इन मुद्दों के खिलाफ लड़ना है। हमने ये बातें पाकिस्तान से कही हैं और राष्ट्रपति ट्रंप से भी। 

6. पीएम मोदी ने डोनाल्ड ट्रंप के साथ मुलाकात के दौरान कहा कि भारत और अमेरिका लोकतांत्रिक मूल्यों को साथ लेकर चलने वाले देश हैं। 

7. जी-7 शिखर सम्मेलन-2019 के इतर पीएम मोदी और राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच मजाकिया दृश्य भी देखने को मिला। द्विपक्षीय वार्ता के दौरान पीएम मोदी के साथ डोनाल्ड ट्रंप ने मजाकिया लहजे में कहा कि दरअसल पीएम मोदी अच्छी अंग्रेजी बोलते हैं, इसलिए वह वार्ता नहीं चाहते। 

8. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को यहां कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हेंं बताया कि कश्मीर में सब कुछ नियंत्रण में है। जी-7 शिखर सम्मेलन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात की। 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: