मंगलवार, 30 नवंबर 2021 | 03:45 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने पतंजलि विश्वविद्यालय,हरिद्वार के प्रथम दीक्षांत समारोह में गोल्ड मेडलिस्ट विद्यार्थियों को प्रदान की उपाधि          ओमीक्रॉन कोरोना वेरिएंट की भारत में हुई एंट्री          वर्ष 2025 तक उत्तराखण्ड बनेगा हर क्षेत्र में अग्रणी राज्यःसीएम पुष्कर सिंह धामी          सीएम पुष्कर धामी ने राइजिंग उत्तराखण्ड कार्यक्रम में किया प्रतिभाग,गायक जुबिन नौटियाल को किया सम्मान          1 दिसंबर से सउदी अरब जा सकेंगे भारतीय          उत्तराखंड में कोरोना काल में सराहनीय कार्य करने वाले ग्राम प्रधानों को मिलेगी 10 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि          T20 रैंकिंग में रोहित शर्मा को हुआ फायदा          15 दिसम्बर तक स्वरोजगार योजनाओं के तहत लोन के निर्धारित लक्ष्य को किए जाने के सीएम धामी ने दिए निर्देश          सीएम योगी आदित्यनाथ एवं सीएम पुष्कर धामी की लखनऊ में हुई बैठक में निपटा उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड का 21 वर्ष पुराना विवाद         
होम | सेहत | कोरोना की तीसरी लहर का नहीं होगा कोई असर

कोरोना की तीसरी लहर का नहीं होगा कोई असर


देश और दुनिया में कोरोना की दूसरी लहर का हाल हम सभी देख चुके हैं। इस बीच भारत में भी कोरोना के मामले कुछ काम हुए हैं। लेकिन अब कहा जा रहा है कि, भारत में कोरोना की तीसरी लहर आ गई है। इसके साथ ही दुनिया भर से इस तरह की खबरें भी सामने आ रही हैं। इस बीच एक राहत देने वाली खबर सामने आई है।
आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर ने राहत देने वाली खबर दी है। आईआईटी के प्रोफेसर मणींद्र अग्रवाल ने गणितीय विश्लेषण 'सूत्र' के आधार पर दावा किया है कि तीसरी लहर दूसरी लहर से कम घातक होगी। उन्‍होंने तीसरी लहर के अक्टूबर-नवबंर के बीच आने की संभावना जताई है।
आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मणींद्र अग्रवाल ने बताया कि तीसरी लहर के आकलन के लिए हमने पिछले एक महीने में अपने मॉडल के जर‍िए काफी गणना की है। इसमें यह निकल कर सामने आया है कि तीसरी लहर इतनी प्रभावशाली नहीं है, जितनी दूसरी लहर थी। इसमें हमने तीन सेनेरियों बनाए हैं। यदि कोई नया वेरिएंट अगस्त के अंत तक आ जाता है, जो डेल्टा वेरिएंट से भी ज्यादा तेजी से फैलने वाला है तो तीसरी लहर अक्टूबर-नवंबर के समय में आएगी। तीसरी लहर पहली लहर के बराबर होगी। इस तरह भारत  ही नहीं दुनिया के लिए ये एक राहत भरी खबर है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: