मंगलवार, 24 मई 2022 | 03:05 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
30 जून से शुरू होगी अमरनाथ यात्रा          शंघाई मिले कोरोना का एक दिन में 23,000 से ज्‍यादा नए मामले          रूस ने भारत को दिए एस-400 मिसाइल सिस्टम के पार्ट्स          कर्नाटक हाईकोर्ट का हिजाब विवाद पर बड़ा फैसला,हिजाब इस्लाम का हिस्सा नहीं          सीबीएसई की 10वीं की परीक्षाएं 26 अप्रैल से 24 मई तक, 12वीं की परीक्षाएं 26 अप्रैल से 15 जून तक आयोजित की जाएगी          केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने जारी की टर्म 2 परीक्षा के लिए 10वीं और 12वीं की डेटशीट          आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक को नए ग्राहक जोड़ने से रोका, आईटी ऑडिट का भी दिया आदेश          8 मई को खुलेंगे श्री बदरीनाथ धाम के कपाट          कांग्रेस दफ्तरों में होगी सीडीएस जनरल बिपिन सिंह रावत और जनरल जोशी की फोटो         
होम | उत्तराखंड | सीएम पुष्कर धामी के निर्देश पर,सचिवालय में सोमवार को रहेगा नो मिटिंग डे

सीएम पुष्कर धामी के निर्देश पर,सचिवालय में सोमवार को रहेगा नो मिटिंग डे


मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देशानुसार मुख्य सचिव डॉ. एस.एस.सन्धु ने सभी अपर मुख्य सचिव,प्रमुख सचिव,सचिव एवं प्रभारी सचिवों को निर्देश दिये हैं कि शासन,सचिवालय स्तर पर सोमवार को कोई बैठक(तात्कालिकता के दृष्टिगत अपरिहार्य परिस्थितियों को छोड़कर) आहुत नही की जायेगी।

सोमवार को (अवकाश की स्थिति को छोड़कर) सभी अधिकारीगण अपने कार्यालय कक्ष में जन सामान्य,जन प्रतिनिधियों से भेंट हेतु सुलभ रहेंगे। शासन,सचिवालय स्तर के अधिकारियों के द्वार जन सामान्य से भेंट एवं जन समस्याओं के निस्तारण हेतु सुलभ रहने के निमित सम्यक विचारोपरान्त यह निर्णय लिया गया है।
इसके साथ ही मुख्य सचिव द्वारा निर्देश दिये गये हैं कि जिलाधिकारियों एवं फील्ड स्तरीय अधिकारियों के द्वारा अपने कार्य क्षेत्रान्तर्गत जन सामान्य से भेंट, क्षेत्र भ्रमण एवं विभिन्न कार्यों के सुचारू संचालन को सुगम बनाने के लिये शासन स्तरीय अधिकारियों के द्वारा जिलाधिकारियों,फील्ड स्तरीय अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक,वीडियो कान्फ्रेंस सप्ताह के दौरान मंगलवार एवं गुरूवार (अपरिहार्य परिस्थितियों को छोड़कर) को ही आहुत की जायेंगी।
ज्ञातव्य है कि मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी जन  समस्याओं के त्वरित निस्तारण एवं समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति तक गुड गवर्नेंस की पहुंच रहे इस सम्बन्ध में प्रयासरत है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि गुड गवर्नेंस लोगों को महसूस होनी चाहिए। इसमें फील्ड लेवल अधिकारियों व कार्मिकों की महत्वपूर्ण भूमिका होती है। डीएम इसमें कुशल टीम लीडर की तरह काम करें। साथ ही प्रत्येक स्तर पर प्रभावी और सतत मॉनिटरिंग की जाए। शासन-प्रशासन के निचले स्तर तक गुड गर्वनेंस दिखनी चाहिए। जिलों व तहसीलों में भी आम जनता से मिलने के लिए समय निर्धारित किया जाए।
 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: