रविवार, 21 जुलाई 2019 | 08:44 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
81 साल की उम्र में शीला दीक्षित का निघन          शीला दीक्षित 15 साल तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रहीं थी          दिल्ली की सबसे लोकप्रिय मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का दिल्ली में निधन          इसरो ने किया ऐलान, अब 22 जुलाई को लॉन्च होगा चंद्रयान-2          कुलभूषण जाधव मामले पर पीएम मोदी ने जताई खुशी कहा- ये सच्चाई और न्याय की जीत है          भारतीय वायुसेना के लिए गेम चेंजर साबित होगी राफेल-सुखोई की जोड़ी,एयर मार्शल भदौरिया          कुलभूषण जाधव केस, ICJ में भारत की बड़ी जीत, फांसी की सजा पर रोक, पाकिस्तान को सजा की समीक्षा का आदेश          गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा बयान, कहा- सभी घुसपैठियों और अवैध प्रवासियों को करेंगे देश से बाहर          पीएम नरेंद्र मोदी सितंबर में अमेरिका जाएंगे, जहां भारतीय समुदाय के लोगों से उनकी मुलाकात हो सकती है। इस दौरान दुनिया के कई अन्‍य देशों के नेताओं से भी मुलाकात की संभावना है          भाजपा को 2016-18 के बीच 900 करोड़ रू से ज्यादा चंदा मिला, एडीआर की रिपोर्ट में आया सामने          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार          बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू प्रसाद यादव के बेटे तेज प्रताप यादव ने किया तेज सेना का गठन           भ्रष्ट अफसरों को जबरन वीआरएस दिया जाए, ऐसे लोग नहीं चाहिए-योगी आदित्यनाथ         
होम | उत्तराखंड | ‘द हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल’ सतपुली लगा तीन दिवसीय स्त्री रोग जांच शिविर

‘द हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल’ सतपुली लगा तीन दिवसीय स्त्री रोग जांच शिविर


उत्तराखण्ड में हर जरूरतमंद और गंभीर से गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों के लिए वरदान साबित हो रहे द हंस जरनल अस्पताल सतपुली में समाजसेवी माताश्री मंगलाजी एवं भोलेजी महाराज की प्रेरणा से 5 जुलाई से 7 जुलाई 2019 तक निःशुल्क स्त्री रोग जांच क्लिनिक का आयोजन किया गया। जिसमें नयारघाटी व दूर दराज के ग्रामीणों सहित हजारों कि संख्या में पहुंचे स्थानीय लोगों ने स्वास्थ्य लाभ उठाया। शिविरि में हंस फाउंडेशन जरनल अस्पातल एवं दिल्ली की श्रेष्ठ स्त्री रोग विशेषज्ञों द्वारा खून जांच,एक्स-रे एवं अल्ट्रासाउंड किया गया।

द हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक ब्रिगेडियर डाक्टर एच.एस मिन्हास ने बताया की पहाड़ की महिलाओं के संघर्ष पहाड़ को नया जीवन देता है। यहां की महिलाओं की संघर्षों की गाथ बहुत कठिन होती है। पहाड़ की नारी अपने खेत-खलिहानों और पशुओं के लिए अपना जीवन तक दाव पर लगा देती है। कई बार गंभीर से गंभीर बिमारी के बावजूद पहाड़ की महिलाएं अपने शरीर के प्रति कभी गंभीर नहीं होती है।

माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज ने पहाड़ की महिलाओं के संघर्षों को बहुत करीब से देखते-समझते है। उन्हीं के आशीष से हमने हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल में महिलाओं के लिए विशेष तौर पर इस शिविर का आयोजन किया था। जिसमें बड़ी संख्या में महिलाएं आई और उन्होंने अपने स्वास्थ्य की जांच कराई।

डाक्टर मिन्हास ने बताया कि इस शिविर में स्त्री रोग विशेषज्ञ डाक्टर सोनाली गुप्ता एवं डाक्टर    उषा मिन्हास ने महिलाओं से जुड़ी बीमारियों व समस्याओं की जांच की,जिसमें गर्भावस्था,माहवारी के दौरान असहनीय दर्द,असमय माहवारी,गर्भ निरोधक गोलियों के सेवन से समस्या,लंबे समय तक गर्भ निरोधोक गोलियों के सेवन करने से उत्पन्न हुई समस्या,बार-बार गर्भपात का होना,बच्चेदानी की समस्या और किसी भी अन्य प्रकार के स्त्री रोग से ग्रसित महिलाओं को इलाज किया गया और उनसे परामर्श कर भविष्य में इन बिमारियों से बचने के लिए जागरूक किया गया।

इस शिविर में खून, यूरीन, अल्ट्रासाउंड, एक्स रे, सीटी स्कैन सहित निःशुल्क दवाइयों का वितरण भी किया गया। शिविर में चौबट्टाखाल, संगलाकोटी, रीठाखाल, एकेश्वर, सतपुली, बिलखेत, बडियूँ, कांसखेत, कल्जीखाल, पटीसैन, गवाना, दुधारखाल,ज्वालपा देवी और संतुधार  आदि ग्रामों से बड़ी संख्या में महिलाएं अपने स्वास्थ्य जांच के लिए पहुंची। इस मौके पर इन तमाम ग्रामों से आई महिलाओं ने द हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल में विशेष तौर पर महिलाओं के स्वास्थ्य जांच के लिए इस शिविर का आयोजन करने के लिए माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज और हंस फाउंडेशन जरनल अस्पताल के डाक्टर एवं सदस्यों का कोटि-कोटि आभार व्यक्त किया।   

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: