शुक्रवार, 13 दिसम्बर 2019 | 12:54 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पाकिस्तान को भारत की नसीहत, अपने यहां अल्पसंख्यकों के हालात पर दें ध्यान          टी-20 रैंकिंग में विराट को पांच स्थान और राहुल को तीन स्थान का फायदा हुआ है। राहुल 734 अंकों के साथ छठे और विराट 685 अंकों के साथ टॉप-10 की लिस्ट में दसवें स्थान पर पहुंच गए हैं          ICC की टी-20 रैंकिंग में छाए भारतीय बल्लेबाज, विराट और राहुल की बड़ी छलांग          अयोध्या पर सभी पुनर्विचार याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट ने की खारिज,पांच जजों की बेंच ने सुनाया फैसला           निर्भया के दोषी की सुप्रीम कोर्ट में पुनर्विचार याचिका, कहा- यहां तो हवा से मर रहे, फिर फांसी क्यों          भारतीय सेना को मिले 306 युवा जांबाज अधिकारी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने परेड की सलामी          हैदराबाद एनकाउंटर पर CJI का बड़ा बयान,बदले की भावना से किया गया न्याय इंसाफ नहीं          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          इसरो ने रचा इतिहास,कार्टोसैट-3 के अंतरिक्ष यान को सफलतापूर्वक कक्षा में किया स्थापित          अयोध्या में ही मस्जिद निर्माण के लिए दी जाएगी जमीन          सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन पर रामलला का हक माना          कोर्ट ने कहा कि पुरातत्व विभाग की खोज को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता          कोर्ट ने कहा,विवादित जमीन के नीचे एक ढांचा था और यह इस्लामिक ढांचा नहीं था          कोर्ट के फैसले में ASI का हवाला देते हुए कहा गया कि बाबरी मस्जिद का निर्माण किसी खाली जगह पर नहीं किया गया था          अयोध्या पर आया सुप्रीम कोर्ट का फैसला, बनेगा राम मंदिर, मस्जिद के लिए अलग जगह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          देश के सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर सेविंग अकाउंट की तुलना में दे रहा है डबल ब्याज           पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | खेल | सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है,भारतीय क्रिकेट टीम के अंदर !

सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है,भारतीय क्रिकेट टीम के अंदर !


मैनचेस्टर में बुधवार को न्यूजीलैंड के खिलाफ 18 रन से सेमीफाइनल में हारकर टीम इंडिया विश्व कप 2019 की खिताबी दौड़ से बाहर हो गई। विराट कोहली की कप्तानी में खिताब की सबसे बड़े दावेदार के रूप में उतरी भारतीय टीम ने लीग दौर में शानदार प्रदर्शन किया। 8 में से 7 मैच में जीत हासिल करके भारतीय टीम लीग दौर के बाद अंक तालिका में पहले पायदान पर रही। ऐसे में सेमीफाइनल में उसकी भिड़ंत चौथे पायदान पर काबिज न्यूजीलैंड के साथ हुआ। कीवी टीम को भारतीय टीम के सामने आसान विरोधी के रूप में देखा जा रहा था लेकिन सबने इस बात को भुला दिया कि विश्व कप से पहले अभ्यास मैच में इसी टीम ने भारतीय टॉप ऑर्डर को मात दी थी। जबकि लीग दौर का दोनों के बीच खेला जाने वाला मुकाबला बारिश की भेंट चढ़ गया। ऐसे में टीम इंडिया के खिलाड़ियों के साथ-साथ प्रशंसकों ने अपने विरोधी को कमजोर समझने की भूल कर दी और यही उसे अंत में भारी पड़ गई। 

भले ही हार के कारण कोई भी रहे हों लेकिन खिताबी दौड़ से बाहर होने के बाद भारतीय टीम के अंदर खिलाड़ियों के बीच दरार की खबरें उबरकर बाहर आने लगीं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक टीम दो खेमों में बंट गई है। रिपोर्ट के मुताबिक टीम के खिलाड़ी दो खेमों में बंट गए हैं। एक धड़ा कप्तान विराट कोहली के साथ है तो दूसरा उपकप्तान रोहित शर्मा के साथ। लेकिन इन दोनों खेमों के बीच अविश्वास का स्तर ज्यादा नहीं और ये अभी विरोध के लेवल पर नहीं पहुंचा है। रिपोर्ट के मुताबिक टीम में सिर्फ कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री की चलती है। टीम में खेलने का मौका केवल पसंद के खिलाड़ियों को मिलता है। रोहित शर्मा और जसप्रीत बुमराह जैसे खिलाड़ियों को प्रदर्शन के आधार पर टीम से बाहर नहीं किया जा सकता लेकिन इनके अलावा उन्हीं खिलाड़ियों को मौका दिया जाता हो जो विराट के खेमे के हैं।

 

रिपोर्ट में टीम इंडिया के एक सदस्य के हवाले से बताया गया है 'के एल राहुल चाहे जितना खराब प्रदर्शन कर लें, उन्हें तब तक मौके दिए जाएंगे जब तक वह वापसी ना कर लें। अगर ओपनिंग में मौका होगा तो उन्हें वहां इस्तेमाल किया जाएगा, अगर चौथे नंबर पर मौका होगा तो वहां जगह दी जाएगी। अगर कहीं मौका नहीं होगा तो वह अंतिम-15 में तो रहेंगे ही और जैसे ही किसी का प्रदर्शन खराब होगा या कोई चोटिल होगा, उन्हें वापस अंतिम एकादश में शामिल कर लिया जाएगा।' इस रिपोर्ट में भेदभाव के बारे में आगे बताया गया है कि कुलदीप यादव और युजवेंद्रा सिंह चहल में चाहे कोई भी खराब प्रदर्शन करे, अंतिम एकादश से बाहर तो कुलदीप ही होंगे, क्योंकि चहल रॉयल चैलेंजर्स बेंगलूर में विराट की कप्तानी में खेलते हैं।'

 

सवाल यह भी उठाया जा रहा हैं कि अंबाती रायुडू को टीम से बाहर किए जाने का बहाना ढूंढा जा रहा था। रिपोर्ट में खिलाड़ी के हवाले से बताया कि 'रायुडू को तो बाहर ही किया जाना था बस उसके खराब प्रदर्शन का इंतजार हो रहा था। कप्तान को रायुडू कभी पसंद नहीं था, इसीलिए उसने टीम चयन के बाद थ्रीडी चश्मे वाला कमेंट किया था। यही नहीं, जब शिखर धवन और विजय शंकर चोटिल हुए और बैकअप में होने के बाद भी उसका चयन नहीं हुआ तो उसने खुन्नस में संन्यास ले लिया। उसे पता था कि अब उसका चयन होना ही नहीं है, तो गिड़गिड़ाने से क्या फायदा।'

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि खिलाड़ी विराट कोहली और रवि शास्त्री के रवैये से परेशान हैं और इस बात का इंतजार किया जा रहा है कि दोनों की छुट्टी कब होगी। अब देखने वाली बात यह होगी कि यह रिपोर्ट यदि पुख्ता हैं तो क्या बहुत जल्द टीम इंडिया में बड़े बदलाव देखने को मिलेगे। 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: