मंगलवार, 21 जनवरी 2020 | 06:05 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
जगत प्रकाश नड्डा निर्विरोध चुने गए बीजेपी के अध्यक्ष          गणतंत्र दिवस पर बड़े आतंकी हमले की साजिश नाकाम, जैश के पांच आतंकी गिरफ्तार          एजीआरः टेलीकॉम कंपनियों को एक हफ्ते में चुकाना होगा 1.04 लाख करोड़ रुपये, पुनर्विचार याचिका खारिज          हिमाचल सरकार ने खोला नौकरियों का पिटारा, भरे जाएंगे 2500 पद, पढ़ें कैबिनेट के बड़े फैसले          महेंद्र सिंह धोनी BCCI के सालाना अनुबंध से भी बाहर, इन खिलाड़ियों को किया गया शामिल          जम्मू-कश्मीरः आफत बनकर आया हिमस्खलन, बर्फीले तूफान की चपेट में आने से तीन जवान शहीद, दो लापता          दिल्ली विधानसभा चुनाव की घोषणा 70 विधानसभा सीटों पर 8 फरवरी को होंगे चुनाव 11 फरवरी आएंगे नतीजे           सीबीएसई के निर्देश, अब 75 प्रतिशत से कम हाजिरी वाले छात्र नहीं दे पाएंगे परीक्षा          पांच महीने बाद कश्मीर में एसएमएस और सरकारी अस्पतालों में ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवा शुरू          मनोज मुकुंद नरवाणे बने देश के 28वें सेनाध्यक्ष          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          देश के सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर सेविंग अकाउंट की तुलना में दे रहा है डबल ब्याज           पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | स्वामी विवेकानंद की 157 वीं जयंती के अवसर पर उत्तराखण्ड यंग लीडर्स कान्क्लेव का आयोजन

स्वामी विवेकानंद की 157 वीं जयंती के अवसर पर उत्तराखण्ड यंग लीडर्स कान्क्लेव का आयोजन


मुख्यमंत्री  त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा है कि अच्छे लोगों को समाज व राजनीति में आगे आना चाहिए। सज्जन शक्ति को जाग्रत किए जाने की जरूरत है। राजनीतिक इच्छा शक्ति  जब सोच के साथ जुड़ जाती है तो समाज व देश हित में निर्णय होते हैं। परंतु इसके लिए बहुत जरूरी है कि अच्छे लोग आग आएं। मुख्यमंत्री ओएनजीसी ऑडिटॉरियम में आयोजित उत्तराखण्ड यंग लीडर्स कान्क्लेव में सम्बोधित कर रहे थे।

स्वामी विवेकानंद की 157 वीं जयंती के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में 90 से अधिक संस्थाओं से आए छात्र-छात्राओं का स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें शोधार्थी बनाना होगा। स्वयं के अंदर झांकना चाहिए। सब कुछ हमारे भीतर ही है। स्वामी विवेकानंद जी ने दुनिया को भारतीय दर्शन से अवगत कराया। हमें अपनी इस महान परम्परा व पूर्वजों पर गर्व करना चाहिए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत नौजवानों का देश है। नौजवान भारत की ताकत हैं। जहां दुनिया के देश बूढ़े हो रहे है जबकि हमारे यहां सबसे अधिक नौजवान हैं। आने वाले समय में भारत दुनिया का मार्गदर्शन करेगा।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रबंधन हमें हनुमान जी से सीखना चाहिए। वे अपने हर काम में सफल रहते थे। वे हर काम को राम का काम मान कर करते थे। और जब तक काम हो नहीं जाता विश्राम नहीं करते थे। स्वामी विवेकानंद जी ने भी हमें उठो, जागो और लक्ष्य प्राप्त होने तक न रूको का मंत्र दिया था।
मुख्यमंत्री ने कहा कि निराशा का भाव नहीं आना चाहिए। काम तो आशा के संचार से ही हो सकता है। आज शिक्षा है परंतु संस्कार नहीं हैं। महिलाओं से दुराचार के मामलों में 90 प्रतिशत से अधिक परिचित होते हैं। इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए हमें संकल्प लेना चाहिए कि सुधार की पहल स्वयं से व परिवार से करेंगे। गलत का प्रतिकार करना चाहिए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने सिंगल यूज प्लास्टिक पर रोक का जो आह्वान किया है उसमें युवाओं को अपनी भागीदारी निभानी चाहिए। देहरादून में प्लास्टिक कचरा 75 प्रतिशत कम हो गया है।  
मुख्यमंत्री ने कहा कि वसुधैव कुटुम्बकम हमारी परम्परा व संस्कृति रही है। भारत ने समय-समय पर दुनिया भर से पीड़ित सम्प्रदायों को शरण दी है। सीएए में भी पीड़ितों को नागरिकता देने की बात कही गई है। इसका विरोध कुछ लोगों द्वारा निराधार ही किया जा रहा है।
उच्च शिक्षा मंत्री डा. धन सिंह रावत ने कहा कि इस उत्तराखण्ड यंग लीडर्स कान्क्लेव में युवाओं से विभिन्न सामाजिक मुद्दों पर चर्चा की जायेगी। उत्तराखण्ड प्रगति के पथ पर कैसे और अग्रसर हो सकता है, इस पर मंथन किया जायेगा। कान्क्लेव में युवाओं के सुझाव भी लिये जायेंगे। देश एवं राज्य के विकास के लिए युवाओं को सही दिशा देना जरूरी है। उन्होंने कहा कि पिछले दो साल 10 माह में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के नेतृत्व में राज्य सरकार ने पूरी ईमानदारी एवं कर्तव्यनिष्ठा के साथ कार्य किया है। देश में किसी भी राज्य में सबसे ईमानदारी एवं अच्छा कार्य हो रहा है, तो उसमें सबसे ऊपर हमारे मुख्यमंत्री जी का नाम है। यदि मुखिया की साख ठीक है, तो परिवार ठीक है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने मुख्यमंत्री जी के कार्यों की सराहना की है।
   देव संस्कृति विश्वविद्यालय हरिद्वार के प्रति कुलपति डॉ. चिन्मय पाण्ड्या ने कहा कि उत्कृष्ट उत्तराखण्ड के संकल्प को लेकर किये जा रहे इस कान्क्लेव से युवाओं को अपने विचारों की अभिव्यक्ति का पूरा मौका मिलेगा। कोई भी देश एवं राज्य तभी उत्कृष्ट हो सकता है, जब हम दूसरों के प्रति सम्मान का भाव रखेंगे। युवाओं का देश के प्रति जिम्मेदार होना जरूरी है। जैसा व्यवहार हम स्वयं के प्रति चाहते हैं, वैसा ही व्यवहार हमें अन्य लोगों के प्रति करना होगा। सांस्कारिक शिक्षा पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। आज हमें स्वामी विवेकानन्द जी द्वारा दिये गये संस्कारों को आगे बढ़ाने की जरूरत हैं भारतीय संस्कृति एवं परम्परा का दुनियाभर में व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार किया।
  इस अवसर पर मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक खजान दास, उच्च शिक्षा उन्नयन समिति की उपाध्यक्ष श्रीमती दीप्ति रावत, अपर मुख्य सचिव श्रीमती राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव आनन्द वर्द्धन, डीजीपी अनिल कुमार रतूड़ी, पलायन आयोग के उपाध्यक्ष एस.एस. नेगी, सचिव दिलीप जावलकर विभिन्न विश्वविद्यालयों के कुलपति उपस्थित थे।  
 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: