शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024 | 07:52 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | लाइफस्टाइल | हिम तेंदुए देखने उत्तराखण्ड आएंगे सैलानी, जल्द ही बनेगा लद्दाख जैसा प्लान

हिम तेंदुए देखने उत्तराखण्ड आएंगे सैलानी, जल्द ही बनेगा लद्दाख जैसा प्लान


लद्दाख में हिम तेंदुआ टूर के सफल संचालन को देखते हुए अब उत्तराखंड भी ऐसी ही पहल करने जा रहा है। हिम तेंदुआ टूर संचालन के विभिन्न पहलुओं के अध्ययन के लिए अधिकारियों का एक दल राज्य के उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हिम तेंदुओं की संख्या 121 है। अब इन्हें पर्यटन से जोड़ने के मद्देनजर आने वाले दिनों में यहां भी हिम तेंदुआ टूर आयोजित किए जाएंगे। साथ ही इस प्राणी के संरक्षण में जनभागीदारी भी सुनिश्चित की जाएगी।
उच्च हिमालयी क्षेत्र में हिम तेंदुए हमेशा से ही आकर्षण का केंद्र रहे हैं। इसलिए इन्हें इन क्षेत्रों की शान भी कहा जाता है। लद्दाख में हिम तेंदुओं की अच्छी-खासी संख्या को देखते हुए इसे पर्यटन से भी जोड़ा गया है। इस क्रम में वहां के उच्च हिमालयी क्षेत्र में हिम तेंदुआ टूर का निरंतर आयोजन हो रहा है। इससे जहां सैलानी हिम तेंदुओं का दीदार कर रोमांचित होते हैं, वहीं लद्दाख को ठीक ठाक आय भी हो रही है।
उत्तराखंड में भी इसकी अपार संभावनाएं हैं। गंगोत्री नेशनल पार्क में स्नो लेपर्ड कंजर्वेशन सेंटर की स्थापना भी जा रही है। हिम तेंदुआ टूर का लद्दाख किस तरह आयोजन करता है, इसका अध्ययन करने के लिए राज्य के वन विभाग और सिक्योर हिमालय परियोजना से जुड़े छह अधिकारियों का दल 26 से 31 अक्टूबर तक लद्दाख के दौरे पर रहेगा। इस अध्ययन के आधार पर राज्य में भी लद्दाख की भांति हिम तेंदुआ टूर आयोजित किए जाएंगे।
गंगोत्री नेशनल पार्क, गोविंद नेशनल पार्क व वन्य जीव विहार
नंदादेवी बायोस्फीयर रिजर्व के उच्च स्थलीय क्षेत्र
ट्रांस हिमालयन एरिया के अलावा उत्तरकाशी वन प्रभाग
मुनस्यारी व पिथौरागढ़
प्रमुख सचिव वन ने बताया कि सिक्योर हिमालय परियोजना के अंतर्गत हिम तेंदुआ टूर संचालन के अध्ययन के लिए अधिकारियों का दल लद्दाख भेजा जा रहा है। राज्य में हिम तेंदुआ टूर के आयोजन में यह अध्ययन महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इसके साथ ही उच्च हिमालयी क्षेत्रों में पर्यटन की दृष्टि से यह अहम कदम साबित होगा। 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: