मंगलवार, 21 जनवरी 2020 | 05:59 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
जगत प्रकाश नड्डा निर्विरोध चुने गए बीजेपी के अध्यक्ष          गणतंत्र दिवस पर बड़े आतंकी हमले की साजिश नाकाम, जैश के पांच आतंकी गिरफ्तार          एजीआरः टेलीकॉम कंपनियों को एक हफ्ते में चुकाना होगा 1.04 लाख करोड़ रुपये, पुनर्विचार याचिका खारिज          हिमाचल सरकार ने खोला नौकरियों का पिटारा, भरे जाएंगे 2500 पद, पढ़ें कैबिनेट के बड़े फैसले          महेंद्र सिंह धोनी BCCI के सालाना अनुबंध से भी बाहर, इन खिलाड़ियों को किया गया शामिल          जम्मू-कश्मीरः आफत बनकर आया हिमस्खलन, बर्फीले तूफान की चपेट में आने से तीन जवान शहीद, दो लापता          दिल्ली विधानसभा चुनाव की घोषणा 70 विधानसभा सीटों पर 8 फरवरी को होंगे चुनाव 11 फरवरी आएंगे नतीजे           सीबीएसई के निर्देश, अब 75 प्रतिशत से कम हाजिरी वाले छात्र नहीं दे पाएंगे परीक्षा          पांच महीने बाद कश्मीर में एसएमएस और सरकारी अस्पतालों में ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवा शुरू          मनोज मुकुंद नरवाणे बने देश के 28वें सेनाध्यक्ष          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          देश के सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर सेविंग अकाउंट की तुलना में दे रहा है डबल ब्याज           पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | उत्तराखंड में हर विश्वविद्यालय विकसित करेगा एक स्मार्ट विलेज

उत्तराखंड में हर विश्वविद्यालय विकसित करेगा एक स्मार्ट विलेज


उत्तराखंड का प्रत्येक विश्वविद्यालय अपने क्षेत्र में आने वाले गांवों में एक गांव को बतौर ‘स्मार्ट विलेज’ विकसित करेगा। ये निर्देश बृहस्पतिवार को राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने विश्वविद्यालयों के कुलपतियों एवं शासन के उच्च अधिकारियों के साथ आयोजित त्रैमासिक समीक्षा बैठक में दिए। उन्होंने कहा कि  स्मार्ट विलेज में पेयजल, स्वच्छता, शिक्षा आजीविका एवं स्वरोजगार के अवसर बेहतर उपलब्ध करवाने का कार्य किया जाए। 

राज्यपाल ने कहा कि वह इन स्मार्ट गांवों के विकास कार्यों का औचक निरीक्षण करेंगी। उन्होंने कृषि व तकनीकी विश्वविद्यालय को ‘लैब टू लैंड ट्रांसफर’ की नीति पर गंभीरता से कार्य करने को कहा। विवि की प्रयोगशालाओं में विकसित होने वाली नई तकनीक व शोध का गांवों में स्थानांतरण किया जाना है। राज्यपाल ने कहा कि सभी विवि टीचिंग एवं नान टीचिंग के रिक्त पदों तथा बैकलॉग के सभी पदों की भर्ती प्रक्रिया शीघ्र आरंभ करें। राज्यपाल ने विश्वविद्यालयों को संबद्धता संबंधित प्रकरणों का शीघ्र निस्तारित करने को कहा।
 

अधिकारियों को निर्देश दिए कि संस्कृत में आचार्य व शास्त्री की डिग्री की मान्यता

संबंधी मामले को कार्मिक विभाग व लोक सेवा आयोग से बैठक कर शीघ्र सुलझा लिया जाए। उन्होंने कहा कि ऐसे महाविद्यालयों के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए, जो परीक्षा परिणाम के बाद छात्रों को डिग्री देने में देरी करते है।


बैठक में उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि विश्वविद्यालयों के लिए एक कॉमन एक्ट प्रस्तावित है। तीन माह के भीतर सभी 872 अस्सिटेंट प्रोफेसरों के पद भर दिए जाएंगे। बैठक में अपर मुख्य सचिव ओम प्रकाश, प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा आनंद बर्द्धन, सचिव राज्यपाल रमेश कुमार सुधांशु, सचिव कृषि शिक्षा आर मीनाक्षी सुंदरम, सचिव वित्त सौजन्य, सचिव चिकित्सा पंकज कुमार पांडेय सहित सभी 11 विवि के कुलपति मौजूद रहे।               

राज्यपाल ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को इस वर्ष से इंटर यूनिवर्सिटी खेल प्रतियोगिता दोबारा शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि छात्रों को इससे पहुंचने वाले लाभ से वंचित नहीं रखा जा सकता। इस वर्ष कुमाऊं विवि इंटर यूनिवर्सिटी खेल प्रतियोगिता की मेजबानी करेगा। इसके साथ ही सभी विवि छात्रों के लिए डिजी लॉकर्स की व्यवस्था करेंगे। विश्वविद्यालय संबद्ध कालेजों व संस्थानों में ग्रीन कवर व वृक्षारोपण की रिपोर्ट भी शासन को उपलब्ध करवाएंगे।

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: