शनिवार, 24 अगस्त 2019 | 04:04 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
चिदंबरम को 26 अगस्त तक CBI रिमांड में भेजा, वकील और परिजन हर दिन 30 मिनट मिल सकेंगे          उत्तरकाशी हेलीकॉप्टर क्रैश,देहरादून लाए गए दोनों पायलटों के शव, दी गई श्रद्धांजलि          उत्तरकाशी में राहत सामग्री ले जा रहा हेलिकॉप्टर क्रैश, सभी तीन लोगों की मौत          डोनाल्ड ट्रंप से बोले पीएम मोदी- भारत विरोधी बयान शांति के लिए ठीक नहीं, फोन पर हुई दोनों की आधे घंटे बातचीत          जाकिर नाईक की बोलती बंद, मलेशिया सरकार ने भाषण देने पर लगाया प्रतिबंध          अंतरिक्ष के क्षेत्र में भारत की बड़ी कामयाबी, चंद्रयान-2 ने चंद्रमा की कक्षा में प्रवेश किया ​          भारतीय वायुसेना दुनिया की पेशेवर सेनाओं में से एक, बालाकोट स्ट्राइक के बाद दुनिया ने माना लोहा- राजनाथ सिंह​          विंग कमांडर अभिनंदन को पकड़ने वाले पाकिस्तानी कमांडो को भारतीय सेना ने मार गिराया          टीम इंडिया के दोबारा हेड कोच बने रवि शास्‍त्री          अरुण जेटली की हालत नाजुक, अमित शाह और योगी ने एम्स पहुंचकर ली स्वास्थ्य की जानकारी          भाजपा में शामिल हुए AAP के बागी विधायक कपिल मिश्रा, मनोज तिवारी और विजय गोयल भी रहे मौजूद          घाटी में 70-80 के दशक जैसा माहौल चाहते हैं, सब ठीक रहा तो बिना बंदूक के मिलेंगे: आर्मी चीफ          कश्‍मीर पर मध्‍यस्‍थता का सवाल ही नहीं, डोनाल्‍ड ट्रंप          जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने के भारत सरकार के फैसले के बाद पाकिस्तान तिलमिला,सीमा पर तनाव बढ़ाने के लिए सैन्य गतिविधियां बढ़ाई,स्कार्दू में फाइटर प्लेन तैनात किए           पीएम नरेंद्र मोदी सितंबर में अमेरिका जाएंगे, जहां भारतीय समुदाय के लोगों से उनकी मुलाकात हो सकती है। इस दौरान दुनिया के कई अन्‍य देशों के नेताओं से भी मुलाकात की संभावना है          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | धर्म-अध्यात्म | सावन शिवरात्रि कल,जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विध‍ि और महत्‍व

सावन शिवरात्रि कल,जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विध‍ि और महत्‍व


सावन शिवरात्रि हर साल सावन के महीने की कृष्‍ण पक्ष चतुर्दशी को आती है। इस बार सावन शिवरात्रि 30 जुलाई को है। सावन शिवरात्रि  का हिन्‍दू धर्म में विशेष महत्‍व है। वैसे तो हर महीने कृष्‍ण पक्ष की चतुर्दशी को शिवरात्रि आती है, लेकिन सावन महीने में आने वाली शिवरात्रि को विशेष फलदायी माना जाता है। मान्‍यता है कि फाल्‍गुन महीने में पड़ने वाली महाशिवरात्रि की तरह ही सावन शिवरात्रि में भी अक्षय पुण्‍य मिलता है। हिन्‍दू मान्‍यताओं के अनुसार आदि देव भगवान शिव शंकर का दिन सोमवार है और सावन उनकी पूजा का सर्वश्रेष्‍ठ महीना है। मान्‍यता है कि सावन के महीने में स्वयं भगवान शिव, माता पार्वती, गणेश, कार्तिकेय, नंदी और अपने शिवगणों सहित पूरे महीने पृथ्वी पर विराजते हैं। यही वजह है कि सावन शिवरात्रि के दिन भगवान भोले नाथ की विशेष पूजा का विधान है। 

हिन्‍दू कैलेंडर के अनुसार सावन शिवरात्रि हर साल सावन के महीने की कृष्‍ण पक्ष चतुर्दशी को आती है. ग्रेगोरियन कैलेंडर के अनुसार हर साल अगस्‍त-सितंबर माह में सावन शिवरात्रि मनाई जाती है। इस बार सावन शिवरात्रि 30 जुलाई को है।

अगर सावन की शिवरात्रि के शुभ मुहूर्त की बात करें तो 

चतुर्दशी तिथि प्रारंभ: 30 जुलाई 2019 को दोपहर 02 बजकर 49 मिनट से 
चतुर्दशी तिथि समाप्त: 31 जुलाई 2018 को  सुबह 11 बजकर 57 मिनट तक
निशिथ काल पूजा: 31 जुलाई 2019 को दोपहर 12 बजर 06 मिनट से 12 बजकर 49 मिनट तक
पारण का समय: 31 जुलाई 2019 को सुबह 05 बजकर 46 मिनट से सुबह 11 बजकर 57 मिनट तक

शिवभक्‍त पूरे साल सावन शिवरात्रि की प्रतीक्षा करते हैं। सावन का महीना आते ही शिव भक्‍त बोल बम के नारों के साथ पैदल ही कांवड़ लेने के लिए हरिद्वार और गौमुख निकल पड़ते हैं। फिर कई किलोमीटर की पैदल यात्रा कर सावन शिवरात्रि के दिन अपने आराध्‍य भोलेनाथ का जलाभिषेक करते हैं। सावन शिवरात्रि के दिन शिवलिंग का जलाभिषेक करना बेहद पुण्‍यकारी और कल्‍याणकारी माना जाता है। मान्‍यता है कि सावन शिवरात्रि के दिन जो भक्‍त सच्‍चे मन से शिव शंकर की पूजा करते हैं भगवान उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण कर देते हैं।

सावन शिवरात्रि की पूजन विधि 
- शिवरात्रि के दिन सुबह जल्‍दी उठकर स्‍नान कर स्‍वच्‍छ वस्‍त्र धारण करें. 
- इसके बाद व्रत का संकल्‍प लें. 
- अब घर के मंदिर या शिवालय जाकर शिवलिंग पर पंचामृत (दूध, दही, शहद, घी और गन्‍ने का रस या चीनी का मिश्रण) चढ़ाएं. 
- अब 'ॐ नमः शिवायका जाप करते हुए शिवलिंग पर एक-एक कर बेल पत्र, फल और फूल चढ़ाएं. 
- मान्‍यता है कि सावन शिवरात्रि पर भोलेनाथ को तिल चढ़ाने से पापों का नाश होता है. 
- मनचाहा वर पाने के लिए चने की दाल का भोग लगाने का विधान है. 
- घर में सुख-शांति के लिए धतूरे के पुष्‍प या फल का भोग लगाया जाता है. 
- शत्रुओं पर विजय पाने या कोर्ट केस जीतने के लिए शिवलिंग पर भांग भी चढ़ाई जाती है.



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: