सोमवार, 21 सितंबर 2020 | 02:16 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
कोरोना के बीच 19 सिंतबर से IPL का आगाज, मुंबई और चेन्नई के बीच होगा उद्घाटन मुकाबला          पॉलिसी उल्लंघन के कारण गूगल ने पेटीएम को हटाया,पेटीएम ने कहा,पैसे हैं सुरक्षित          प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों को आश्वस्त किया कि लोकसभा से पारित कृषि सुधार संबंधी विधेयक उनके लिए रक्षा कवच का काम करेंगे           उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | एन.आई.सी के अधिकारियों के साथ की आई.टी सलाहकार रविन्द्र दत्त ने की बैठक

एन.आई.सी के अधिकारियों के साथ की आई.टी सलाहकार रविन्द्र दत्त ने की बैठक


माननीय मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के नव नियुक्त आई.टी सलाहकार श्री रविन्द्र दत्त ने मंगलवार को सचिवालय सभाकक्ष में एन.आई.सी (नेशनल इंफार्मेटिक्स सेन्टर) के अधिकारियों के साथ बैठक की। मा. मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड के आई.टी सलाहकार बनने के बाद प्रथम बार बैठक लेने पर राज्य सूचना विज्ञान अधिकारी एवं उप महानिदेशक श्री. के. नारायणन एवं अन्य अधिकारियों ने आई.टी सलाहकार श्री रविन्द्र दत्त का स्वागत किया।

आई.टी सलाहकार श्री रविन्द्र दत्त ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के डिजिटल इंडिया के लक्ष्य को साकार करने के लिए मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के नेतृत्व में उत्तराखण्ड आई.टी. क्षेत्र के अग्रणी राज्यों में लगातार आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड के नेतृत्व में चल रहे ई गवर्नेंस एवं गुड गवर्नेंस के कार्यक्रम में सभी अधिकारी सक्रिय सहभागिता निभाये।
माननीय मुख्यमंत्री के आई.टी सलाहकार श्री रविन्द्र दत्त ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत के नेतृत्व में उनका प्रयास होगा कि इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी के बेहतर उपयोग कर शासकीय कार्यों को समयबद्धता एवं पारदर्शिता से पूर्ण कराने में सहयोग किया जाए। आई.टी का बेहतर उपयोग कर प्राथमिकता के आधार पर मा. मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड के ई गवर्नेंस, ई ऑफिस और सीएम हेल्प लाइन जैसे महत्वपूर्ण प्रोजेक्टों में सक्रिय सहभागिता निभायेंगे।
श्री रविन्द्र दत्त ने कहा कि एन.आई.सी के हर स्तर के अधिकारी अपने आप को लेटेस्ट टेक्नोलॉजी और साफ्टवेयर में अपग्रेड करें जिससे प्रदेश की जनता के उपयोगार्थ लेटेस्ट टेक्नोलॉजी के साफ्टवेयर बना सकें।
उनके द्वारा प्रदेश में सभी सरकारी वेबसाइटों को कॉमन आर्किटेक्चर पर अपग्रेड करने का सुझाव दिया गया। उन्होंने सभी निर्माणाधीन साफ्टवेयर प्रोजेक्टों को डेडलाइन के साथ डेवलप किए जाने की भी अपेक्षा की। उन्होंने वेबसाइटों और एप्लीकेशन को जनता की सहूलियत के अनुसार डेवलप करने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा आज के दौर में अधिकतर जनता स्मार्टफोन का उपयोग करती है इसीलिए एन.आइ.सी द्वारा साफ्टवेयरों को मोबाईल फ्रेंडली बनाने की भी अपेक्षा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी विभागों को प्रदेश स्तर और जिला स्तर पर वीडियो कॉंन्फ्रेंसिंग की कनेक्टिविटी को और बेहतर  बनाये। उनके द्वारा सभी विभागों को सरकारी ई-मेल सर्विस gov.in का अधिक से अधिक उपयोग करने के लिए जागरूक करने की अपेक्षा की।
आई.टी. सलाहकार श्री रविन्द्र दत्त ने एन.आई.सी के विभिन्न प्रोजेक्टस् के स्टेट हेड के साथ परिचय एवं बैठक की जिसमें अधिकारियों द्वारा पूर्व में बनाये गये और वर्तमान में डेवलप हो रहे विभिन्न साफ्टवेयर प्रोजेक्टों का प्रस्तुतीकरण दिया गया।
राज्य सूचना विज्ञान अधिकारी एवं उप महानिदेशक श्री. के. नारायणन ने कहा कि एन.आई.सी प्रदेश में उत्तराखण्ड सरकार के ई-गर्वनेंस के प्रोजेक्टों को उत्तराखण्ड में लागू कराने में अहम भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि एन.आई.सी द्वारा बदरीनाथ, केदारनाथ के लिए ऑनलाइन पूजा, ऑनलाइन प्रसाद, ऑनलाइन डोनेशन पोर्टल तथा अन्य महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट किये जा रहे हैं। चारधाम यात्रा के लिए इंटीग्रेटेड पोर्टल भी बनाया जा रहा है साथ ही अन्य महत्वपूर्ण प्रोजेक्टों पर भी कार्य किया जा रहा है। ई-डिस्ट्रिक्ट पोर्टल सभी 13 जनपदों में चल रहा है। एन.आई.सी द्वारा देश में पहली बार लोकसभा चुनावों में सभी पोलिंग वाहनों में लोकेशन ट्रेकिंग का उपयोग किया गया। जिसका भविष्य में अन्य विभागों द्वारा प्रयोग में लाया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि जिलों में बेहतर कनेक्टिविटी से जोड़ने की दिशा में एन.आई.सी द्वारा कार्य किया जा रहा है, सभी जनपदों के ऑफिसों को बेहतर कनेक्टिविटी से जोड़ने का कार्य विभाग की प्राथमिकता में शामिल है। एनआईसी के अधिकारियों ने आश्वस्त किया कि प्रदेश में  ई गवर्नेंस और साफ्टवेयर टैक्नोलाजी के बेहतर क्रियान्वयन के लिए मा. मुख्यमंत्री जी द्वारा जो भी दिशा निर्देश प्राप्त होंगे उन पर प्राथमिकता के आधार पर समयबद्ध तरीके से कार्य किया जायेगा।
बैठक में एन.आई.सी के सभी स्तर के आफिसर्स मौजूद थे।

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: