सोमवार, 25 अक्टूबर 2021 | 01:29 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम पुष्कर धामी ने अयोध्या में रामलला और हनुमानगढ़ी के दर्शन          मुख्यमंत्री पुष्कर धामी एवं माताश्री मंगला जी ने किया हंस फाउण्डेशन डायलिसिस केन्द्र का लोकार्पण          सीएम ने उत्तराखण्ड जन विकास समिति के पहल 2021 अधिवेशन का शुभारम्भ किया          जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो और जवान शहीद,सीएम धामी ने जताया गहरा दुःख          महिला मंगल दल एवं युवक मंगल दल के लिए आर्थिक सहायता के लिए शासनादेश जारी          सीएम धामी ने गुवाहाटी में शहीद हुए सेना के जवान सोनित कुमार सैनी को दी श्रद्धांजलि          मुख्य सचिव ने पर्यटन विभाग के अधिकारियों को दिए निर्देश, माउंटेनियर्स और ट्रैकर्स के लिए होगी रिस्टबैंड की व्यवस्था          सीएम हेल्पलाइन पर प्राप्त जन शिकायतों का समाधान समयबद्धता से हो-सीएम धामी         
होम | क्राइम | कत्ल के मामले मे दुष्कर्मी बाबा राम रहीम को हुई 5 साल की सजा

कत्ल के मामले मे दुष्कर्मी बाबा राम रहीम को हुई 5 साल की सजा


डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख राम रहीम  को एक और बड़ा झटका लग गया है। राम रहीम को मैनेजर के मर्डर के मामले में 5 साल की सजा हो गई है। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम को आज रणजीत सिंह हत्याकांड में सजा सुनाई जाएगी और इसके लिए राम रहीम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कोर्ट रूम से जुड़ चुका है। राम रहीम सिर पर सफेद टोपी पहने हुए है और उसकी दाढ़ी काले रंग में रंगी हुई है। राम रहीम पहले से कमजोर नजर आया, लेकिन उसके चेहरे पर शिकन नहीं दिख रही है। इस केस के 4 अन्य दोषी कृष्ण लाल, अवतार, सबदिल और जसबीर प्रत्यक्ष रूप से कोर्ट में पेश हुए हैं। पंचकूला स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में सुनवाई चल रही है। जज सुशील गर्ग फैसला सुनाएंगे। इससे पहले सुनवाई दोपहर बाद तक के लिए स्थगित कर दी गई थी। एहतियात बरतते हुए सुरक्षा के मद्देनजर पंचकूला में धारा 144 लगा दी गई है। 10 जुलाई 2002 को सच्चा सौदा डेरे की मैनेजमेंट कमेटी के मेंबर रहे कुरुक्षेत्र के रणजीत सिंह की गोलियां मारकर हत्या कर दी गई थी। डेरे के ही कुछ अनुयायियों के अनुसार, डेरा प्रबंधन को शक था कि रणजीत सिंह ने ही साध्वी यौन शोषण मामले में अपनी बहन से गुमनाम चिट्ठी लिखवाई। पुलिस जांच से असंतुष्ट रणजीत सिंह के पिता ने जनवरी 2003 में पंजाब और हरियाणा हाईकोर्ट में याचिका दायर कर अपने बेटे की हत्या की जांच सीबीआई से करवाने की मांग की, जिसे हाईकोर्ट ने मंजूर कर लिया। सीबीआई ने मामले में डेरामुखी राम रहीम समेत 5 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया। 2007 में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने आरोपियों पर चार्ज फ्रेम किए और 8 अक्टूबर 2021 को उन्हें दोषी करार दे दिया। राम रहीम को इस केस में 5 साल की सजा हुई है।

 

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: