बुधवार, 26 जून 2024 | 03:13 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | पर्यटन | दिल्ली-एनसीआर में गर्मी बढ़ते ही राफ्टिंग के लिए उमड़े सैलानी, 50 हजार से ज़्यादा पर्यटक पहुंचे

दिल्ली-एनसीआर में गर्मी बढ़ते ही राफ्टिंग के लिए उमड़े सैलानी, 50 हजार से ज़्यादा पर्यटक पहुंचे


 

पारा जैसे-जैसे उछाल मार रहा है, वैसे-वैसे रिवर राफ्टिंग के लिए पर्यटकों की आमद बढ़ती जा रही है। गंगा के कौड़ियाला-मुनिकीरेती इको टूरिज्म जोन में पूरे दिन रंग-विरंगी राफ्ट नजर आ रही हैं। इस माह अब तक 50 हजार से अधिक पर्यटक राफ्टिंग का लुत्फ उठा चुके हैं, जबकि मार्च में 51,568 पर्यटकों ने राफ्टिंग की थी।
इस सत्र में आठ माह (सितंबर 2022 से अप्रैल 2023 तक) में एक लाख 94 हजार 246 पर्यटक राफ्टिंग के लिए ऋषिकेश पहुंच चुके हैं। हालांकि, वर्षा और गंगा का जलस्तर बढ़ा होने के कारण राफ्टिंग कुछ विलंब से शुरू हो पाई थी।
इसके बाद दिसंबर और जनवरी में ठंड बढ़ने के कारण पर्यटकों ने राफ्टिंग के प्रति ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखाई। फरवरी के बाद राफ्टिंग के प्रति पर्यटकों का रुझान बढ़ा, जो जारी है। प्रत्येक सप्ताहंत पर बड़ी संख्या में पर्यटक राफ्टिंग के लिए पहुंच रहे हैं।
यहां से की जाती है राफ्टिंग
ब्रह्मपुरी क्लब हाउस से ऋषिकेश: पहली बार राफ्टिंग करने वालों के लिए यह अच्छा प्वाइंट है। ब्रह्मपुरी क्लब हाउस से ऋषिकेश एनआइएम के बीच की दूरी लगभग नौ किमी है।
कौड़ियाला से ऋषिकेश: 35 किमी की इस राफ्टिंग में 13 रैपिड मिलते हैं।
देवप्रयाग से ऋषिकेश: 75 किमी की इस राफ्टिंग को पूरा करने में दो दिन लगते हैं। पहले दिन बीज घाट से 35 किमी की राफ्टिंग पूरी कर पर्यटक नाइट स्टे के लिए कौड़ियाला पहुंचते हैं। दूसरे दिन कौड़ियाला से ऋषिकेश पहुंचने के साथ राफ्टिंग पूरी होती है।
मरीन ड्राइव से ऋषिकेश: 27 किमी की यह दूरी तय करने में दो घंटे लगते हैं। इस दौरान गंगा नदी में क्लिफ जंपिंग और रोलर कोस्टर जैसे रैपिड का आनंद ले सकते हैं।
शिवपुरी से ऋषिकेश: इस राफ्टिंग की दूरी 18 किमी है और इसे पूरा करने में तीन घंटे लगते हैं।
रविवार को गंगा में उतरीं रंग-विरंगी राफ्ट
ऋषिकेश में रविवार को राफ्टिंग के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक उमड़े। पूरा दिन रंग-विरंगी राफ्टें गंगा में तैरती नजर आईं। पर्यटकों ने राफ्टिंग के दौरान बाडी सर्फिंग, क्लिफ जंप आदि गतिविधियों का भी लुत्फ उठाया। राफ्टिंग के वाहनों के कारण मुनिकीरेती, तपोवन और बदरीनाथ मार्ग पर जाम की स्थिति भी बनी रही।
जिला पर्यटन अधिकारी ने बताया कि गंगा में रिवर राफ्टिंग के लिए पर्यटकों की संख्या में निरंतर वृद्धि हो रही है। इस माह अब तक 45 हजार से अधिक पर्यटक राफ्टिंग का लुत्फ उठा चुके हैं। इसका बड़ा कारण दोनों सप्ताहंत पर लगातार तीन दिन का अवकाश रहा। आने वाले दिनों में और अधिक पर्यटकों के पहुंचने की उम्मीद है।
इस सत्र में शिवपुरी राफ्टिंग करने वाले पर्यटक
माह, पर्यटकों की संख्या
सितंबर, 464
अक्टूबर, 7,634
नवंबर, 14,176
दिसंबर, 15,177
जनवरी, 9,814
फरवरी, 14,258
मार्च, 35,031
ब्रह्मपुरी से राफ्टिंग करने वाले पर्यटक
माह, पर्यटकों की संख्या
सितंबर, 9,877
अक्टूबर, 31,685
नवंबर, 10,437
दिसंबर, 4,282
जनवरी, 2,733
फरवरी, 5,044
मार्च, 12,974
क्लब हाउस (फूलचट्टी) से राफ्टिंग करने वाले पर्यटक
माह, पर्यटकों की संख्या
सितंबर, 943
अक्टूबर, 6,091
नवंबर, 3,435
दिसंबर, 2,630
जनवरी, 1,905
फरवरी, 2,093
मार्च, 3,563



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: