बुधवार, 23 जून 2021 | 11:12 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम रावत ने रेल विकास निगम के अधिकारियों से ली ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाईन की जानकारी          हुंडई मोटर इंडिया फाउंडेशन ने उत्तराखंड को प्रदान किए वेंटिलेटर,ऑक्सीमीटर एवं सैनिटाइजर सहित अन्य सामान          सीएम ने दिखाई पांच वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी          इसरो की सेटेलाइट से बच्चें करेंगे ऑन लाइन पढ़ाई          पंजाब चुनावों से पहले कांग्रेस में छिड़ी जंग          उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू के लिए दिशा-निर्देश जारी          उत्तराखंड में जल्द दूर होंगी सेवानिवृत्त राजकीय पेंशन संबंधी विसंगतियां          सचिन तेंदुलकर बने सदी के सबसे तेज बल्लेबाज          अमेरिका के राष्ट्रपति को पीछे छोड़ नंबर वन बने पीएम मोदी         
होम | साहित्य | वरिष्ठ कवि-पत्रकार सुरेंद्र पुंडीर का निधन

वरिष्ठ कवि-पत्रकार सुरेंद्र पुंडीर का निधन


वरिष्ठ पत्रकार, कवि-साहित्यकार, सेवानिवृत शिक्षक एवं उत्तरांचल प्रेस क्लब के संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे सुरेंद्र पुंडीर का सोमवार को सुबह 8 बजे मसूरी में निधन हो गया। वह 64 वर्ष के थे। वह रविवार को देहरादून से मसूरी गांधीजी पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल होने गए थे और पूर्णतः स्वस्थ थे। सोमवार सुबह अपने मसूरी के लंढौर स्थित घर में हृदयगति रुक जाने से उनका निधन हो गया।

सुरेंद्र पुंडीर मसूरी और देहरादून के साहित्यिक परिवेश के एक जाना पहचाना नाम थे। मसूरी में साहित्यिक संस्था "अलीक" के संस्थापकों में भी वे रहे हैं और उनकी सक्रियता के चलते 1990 के दशक के आखिर तक मसूरी और आस-पास अलीक की मासिक साहित्यिक गोष्ठियां नियमित तौर पर होती रहीं। उनकी कुछ पुस्तकें भी प्रकाशित हुईं। प्रदेश में कहीं ही होने वाले साहित्यिक आयोजनों में उनकी मौजूदगी तकरीबन हमेशा रहती थी। 

एक पत्रकार के तौर पर उन्‍होंने 1986 में मसूरी से एक अखबार से संवाददाता के तौर पर जुड़े और लंबे समय तक सक्रिय रहे। 1994 में जब दून (उत्तरांचल) प्रेस क्लब की स्थापना हुई तो वे उसके संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे। प्रेस क्लब की शुरुआती कार्यकारिणी में मसूरी से वे कार्यकारिणी सदस्य भी रह चुके हैं। उन्होंने जौनपुर ब्लाक स्थित इंटर कॉलेज घोड़ाखुरी में कर डेढ़ दशक तक अध्यापक के तौर पर भी कार्य किया। अभी 3-4 साल पूर्व ही वे वहां से सेवानिवृत हुए। मसूरी के अलावा वे काफी समय से देहरादून में भी रह रहे थे।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: