सोमवार, 8 अगस्त 2022 | 05:51 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
प. बंगाल: अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से 28.90 करोड़ रुपये और 5 किलो से ज्यादा सोना बरामद          उत्तराखंड में कोरोना के 334 नए मामले, 2 लोगों की मौत          1 से 4 अगस्त तक भारत दौरे पर रहेंगे मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम सोलिह          बंगाल शिक्षा घोटाला: पार्थ चटर्जी को मंत्री पद से हटाया गया           संसद में स्मृति ईरानी और सोनिया गांधी के बीच नोकझोंक           गुजरात: जहरीली शराब कांड में एक्शन, SP का तबादला, 2 डिप्टी SP सस्पेंड           दिल्ली में फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, 3 गिरफ्तार          पार्थ चटर्जी के घर में चोरी, लोग समझे ED का छापा पड़ा है          कर्नाटक में प्रवीण हत्याकांड में पुलिस ने अब तक 21 लोगों की हिरासत में लिया         
होम | उत्तराखंड | उत्तराखंड में जर्जर स्वास्थ्य सुविधाओं के चलते महिला ने रोड पर बच्चे को दिया जन्म!

उत्तराखंड में जर्जर स्वास्थ्य सुविधाओं के चलते महिला ने रोड पर बच्चे को दिया जन्म!


उत्तराखंड की स्वास्थ्य व्यवस्था इतनी बदहाल है कि आए दिन कुछ ना कुछ ऐसी ख़बरें आती हैं जो सोचने पर मजबूर कर देती है।  एक तरफ देश जहां आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है, वहीं कई ग्राम सभाएं आज भी सड़क, स्वास्थ्य और अन्य सुविधाओं से वंचित हैं। ग्राम सभा बल्यूटी के तोक मोरा में बुधवार को गर्भवती को प्रसव पीड़ा होने पर प्रसूता को पांच किमी कुर्सी पर बैठाकर लाए लेकिन सड़क पर प्रसव हो गया। 

 


भुजियाघाट के करीब बसे तोक मोरा गांव की दीपा जीना को प्रसव पीड़ा हुई। गांव से नैनीताल हाईवे पांच किमी दूर है। सड़क न होने की वजह से दीपा के परिजन और ग्रामीण उसे कुर्सी पर बैठाकर सड़क की ओर लाने लगे। इस दौरान मूसलाधार बारिश हो रही थी।

ग्रामीणों का कहना है कि रास्ता फिसलन भरा होने की वजह से चलना दुश्वार हो रहा था जिस वजह से गर्भवती को ले जाना बहुत मुश्किल साबित हो रहा था। कई बार संतुलन बनाना मुश्किल हो गया। रास्ते में उनके पैरों पर जोंक चिपक रहीं थीं। भारी बारिश में दीपा भी भीगती रही। किसी तरह तीन घंटे तक चलने के बाद भुजियाघाट से दस मीटर पहले प्रसव पीड़ा बढ़ गई और अपराह्न तीन बजे महिला ने सड़क पर ही बच्चे को जन्म दे दिया। तभी वहां 108 एंबुलेंस पहुंच गई। महिला और बच्चे को एंबुलेंस से तुरंत महिला अस्पताल ले जाया गया। 

भुजियाघाट चौराहे के पास प्रसूता ने बच्चे को जन्म दिया तो इसकी सूचना वहां मौजूद लोगों को लग गई। तुरंत ही लोग मदद के लिए दौड़े। राहत की बात यह है कि तभी वहां एंबुलेंस पहुंच गई जिस वजह से कुछ राहत मिल गई। बता दें कि महिला का यह तीसरा बच्चा था। फिलहाल अस्पताल में जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: