बृहस्पतिवार, 29 अक्टूबर 2020 | 07:25 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
मन की बात में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की देशवासियों से अपील,सैनिक के नाम जलाएं एक दीया          विजयदशमी के पावन पर्व पर बद्री-केदार,गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट बंद होने की तिथि का ऐलान          स्वास्थ्य मंत्रालय की देश वासियों से अपील,त्योहारों के मौसम में कोरोना को लेकर बरतें सावधानी          दिवाली से पहले केंद्रीय कर्मचारियों को मोदी सरकार का तोहफा,3737 करोड़ रुपये के बोनस का भुगतान तुरंत           भारत दौरे से पहले अमेरिकी रक्षा मंत्री का बड़ा बयान लद्दाख में चीन भारत पर डाल रहा है सैन्‍य दबाव          उत्तराखंड में चिन्हित रेलवे क्रॉसिंगों पर 50 प्रतिशत धनराशि केन्द्रीय सड़क अवस्थापना निधि से की जाएगी          उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | देश | पीएम मोदी ने फिट इंडिया मूवमेंट के एक साल पूरा होने पर,बताए अपनी फिटनेस के सीक्रेट

पीएम मोदी ने फिट इंडिया मूवमेंट के एक साल पूरा होने पर,बताए अपनी फिटनेस के सीक्रेट


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज फिट इंडिया मूवमेंट के एक साल पूरा होने पर कई हस्तियों से बात की। इस ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और पैरालिंपियन देवेंद्र झाझरिया के अलावा मॉडल, रनर और एक्टर मिलिंद सोमन, न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने भी हिस्सा लिया। इस दौरान पीएम मोदी ने न्यूट्रिशनिस्ट को अपनी फिटनेस की सीक्रेट रेसिपी मोरिंगा के पराठे के बारे में भी बताया। पीएम मोदी ने न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर के संग फिट इंडिया मुहिम पर चर्चा की। इस दौरान रुजुता ने बताया कि हम जो सामान्य खाना खाते हैं, उसका सेवन करके भी हम फिट रह सकते हैं क्योंकि उसमें सभी जरूरी पोषक तत्व होते हैं। पीएम मोदी ने चर्चा के दौरान बताया, 'मेरी भी एक रेसिपी है।'

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बताया कि वह फिट रहने के लिए मोरिंगा (सहजन के पत्ते) के पराठे बनाकर खाते हैं। पीएम ने बताया कि वह हफ्ते में एक या दो बार इसको खाते हैं। उन्होंने आगे कहा कि वह पब्लिक के लिए जरूर इस रेसिपी को रखेंगे। पीएम मोदी ने न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर से बातचीत के दौरान बताया कि वह कोरोना वायरस के इस मुश्किल दौर में अपनी मां से हफ्ते में 2-3 बार बात करने की कोशिश करते हैं। उन्होंने कहा, 'जब भी मैं अपनी मां को फोन करता हूं तो वह पूछती हैं कि हल्दी लेते हो या नहीं।'

मोरिंगा एक पौधा है, जो भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान के क्षेत्रों में मुख्य रूप से पाया जाता है। यह उष्ण कटिबंध में भी उगाया जाता है। मोरिंगा को हिंदी में सहजन, सुजना, मुनगा आदि नामों और अंग्रेजी में (मोरिंगा) या (ड्रमस्टिक) भी कहते हैं। औषधि या दवाएं बनाने के लिए इसके पेड़ के पत्ते, छाल, फूल, फल, बीज और जड़ सभी चीजों का उपयोग किया जाता है।

मोरिंगा का उपयोग अस्थमा,मधुमेह,मोटापा व कई अन्य बीमारियों को दूर करने के लिए किया जाता है। मोरिंगा के बीजों के तल का उपयोग खाद्य पदार्थों, इत्र और बालों की देखभाल करने वाले उत्पादों में और मशीन लुब्रिकेंट के रूप में भी किया जाता है।

मोरिंगा में प्रोटीन्स, विटामिंस और मिनरल्स भरपूर होता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण यह कोशिकाओं को क्षतिग्रस्त होने से भी बचाता है। पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण सहजन सब्जी का सेवन सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना गया है। इसकी पत्तियों से तैयार पाउडर भी सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं। शुरुआती शोध से पता चलता है कि 3 सप्ताह तक रोजाना 3 ग्राम मोरिंगा लेने से अस्थमा के लक्षणों की गंभीरता कम हो जाती है। हल्के से मध्यम अस्थमा वाले वयस्कों में फेफड़ों की कार्यक्षमता में सुधार होता है।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: