बृहस्पतिवार, 17 अक्टूबर 2019 | 06:13 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          कांग्रेस पार्टी का बड़ा एलान, जम्मू-कश्मीर में नहीं लड़ेंगे BDS चुनाव          केंद्र सरकार ने 48 लाख कर्मचारियों को दिवाली से पहले दिया बड़ा तोहफा, 5 फीसदी बढ़ाया महंगाई भत्ता           देश के सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर सेविंग अकाउंट की तुलना में दे रहा है डबल ब्याज           भारतीय सेना एलओसी पार करने से हिचकेगी नहीं,पाकिस्तान को आर्मी चीफ बिपिन रावत की चेतावनी          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत का निधन, अमेरिका में ली अंतिम सांस, 3 दिन का राजकीय शोक घोषित

उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत का निधन, अमेरिका में ली अंतिम सांस, 3 दिन का राजकीय शोक घोषित


उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पंत का आकस्मिक निधन हो गया है। वे लगभग 58 वर्ष के थे। कैंसर से पीड़ित होने पर अमेरिका में उनका इलाज चल रहा था। जैसे ही उनके निधन की सूचना फ्लैश हुई तो उत्तराखंड में लोग स्तब्ध रह गए। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कैबिनेट के सहयोगी पंत के निधन पर गहरा दुख जताया है। सरकार ने सभी सरकारी कार्यक्रम रद्द करते हुए राज्य में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित कर दिया है। गुरुवार को राज्य के सभी सरकारी व गैर सरकारी दफ्तर भी बंद रहेंगे।

प्रकाश पंत मूलरूप से चोढियार (गंगोलीहाट) पिथौरागढ़ के रहने वाले थे, लेकिन बाद में वे खड़कोट (पिथौरागढ़) में बस गए थे। फरवरी, 19 में बजट सत्र के दौरान अचानक भाषण देते वे बेहोश होकर गिर भी गए थे।  इसके बाद उन्होंने अपना चेकअप कराया था, लेकिन तब कोई गंभीर बीमारी का पता नहीं चल पाया था। 

स्वास्थ्य में सुधार न होने पर मार्च के अंतिम हफ्ते दून स्थित मैक्स हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया। इसी दौरान पंत को कैंसर होने की पुष्टि हुई, लेकिन किसी को इसका भान नहीं था कि कैंसर उनके शरीर में इतना फैल चुका है। इसके बाद उन्हें दिल्ली स्थित राजीव गांधी कैंसर इंस्टीट्यूट में भर्ती कराया गया था। वहां भी स्वास्थ्य में सुधार न होने पर बीती 29 मई को परिजन उन्हें इलाज के लिए अमेरिका ले गए।

बुधवार को पंत के निधन की सूचना मिलते ही उत्तराखंड में शोक छा गया। प्रकाश पंत मंत्री के रूप में सरकार में नंबर टू के पोजिशन पर थे। उनके निधन के शोक में  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने गुरुवार को राज्य के सभी सरकारी और गैर सरकारी कार्यालयों में अवकाश घोषित कर दिया है।  

तीन दिन का राजकीय शोक घोषित
कैबिनेट मंत्री पंत ने निधन पर सरकार ने तीन दिन का राजकीय शोक घोषित कर दिया है। इसी दौरान सरकारी कार्यालयों में राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और कोई उत्सव या सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं होंगे।

ये अहम विभाग थे पंत के पास
पंत के पास संसदीय कार्य, विधायी, भाषा,  वित्त, पेयजल एवं स्वच्छता,  आबकारी, गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग से अहम विभाग थे। फिलहाल ये विभाग मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत खुद देख रहे हैं।

वित्त मंत्री प्रकाश पंत के निधन की खबर पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दुख जताया है।  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने ट्वीट कर लिखा- 'उत्तराखंड में मेरे वरिष्ठ सहयोगी एवं प्रदेश के वित्तमंत्री श्री प्रकाश पंत जी का अमेरिका में इलाज के दौरान स्वर्गवास होने का समाचार पा कर स्तब्ध भी हूँ और व्यथित भी। प्रकाश जी का जाना मेरे लिए व्यक्तिगत एवं अपूर्णीय क्षति है; उनके निधन से हमारा तीन दशक पुराना साथ यादों में रह गया।' 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: