रविवार, 23 फ़रवरी 2020 | 12:24 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | मनोरंजन | जिंदगी से पंगा लेना है तो जरूर देखें कंगना की ‘पंगा’

जिंदगी से पंगा लेना है तो जरूर देखें कंगना की ‘पंगा’


कंगना रनौत की फिल्म पंगा देशभर के कई सिनेमा घरों में रिलीज हो गई। फिल्म के सिनेमा घरों में लगते ही दर्शकों की तरह-तरह प्रतिक्रिया आने लगीं हैं। फिल्म की कहानी सीधी और सुलझी हुई है। जया के किरदार में कंगना ने एक बार फिर शानदार काम किया है। जया के पति प्रशांत के किरदार में जस्सी गिल की भूमिका भी अच्छी है। प्रशांत के किरदार को देखकर ये जरूर कहा जा सकता है कि अब उनकी फीमेल फैन फालोइंग उनके जैसा पति ही चाहेंगी। लेकिन सबसे मजेदार किरदार है कंगना का बेटा आदित्य, इस रोल में यज्ञ भसीन ने कमाल का काम किया है। जबरदस्त पंच दिए हैं. सपोर्टिंग रोल में नीना गुप्ता और ऋचा चड्ढा का काम भी बेहतरीन है। फिल्म के डायरेक्शन का जिम्मा अश्विनी अय्यर तिवारी ने संभाला है। अश्विनी ने फिल्म के हर पहलू को खूबसूरत तरीके से दिखाया है। एक मां जो अपने परिवार के लिए सपनों को छोड़ती है। फिर वही परिवार उसके सपनों को पूरा करने की कोशिश करता है। लेकिन महज परिवार का सपोर्ट सब नहीं होता। एक महिला के अंदर की जंग कितनी बड़ी होती है ये पंगा बखूबी बताती है। ये फिल्म रेलवे में टिकट काटने वाली एक महिला की हैजो तमाम जिम्मेदरियों को उठातेहुए अपने सपने को शादी बच्चे केबा द पूरा करती है। फिल्म को देखकर आपके अंदर कुछ करनेकी अलख जगेगी।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: