रविवार, 27 सितंबर 2020 | 10:13 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
टाइम मैग्जीन ने जारी की दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों की लिस्ट,पीएम मोदी लिस्ट में इकलौते भारतीय ने          पीएम मोदी ने फिट इंडिया मूवमेंट के एक साल पूरा होने पर,बताए अपनी फिटनेस के सीक्रेट          डीआरडीओ को मिली बड़ी कामयाबी,अर्जुन टैंक से लेजर गाइडेड एंटी टैंक मिसाइल का सफल परीक्षण          ऑस्ट्रेलिया के पूर्व दिग्गज क्रिकेटर डीन जोन्स का मुंबई में दिल का दौरा पड़ने से निधन          पॉलिसी उल्लंघन के कारण गूगल ने पेटीएम को हटाया,पेटीएम ने कहा,पैसे हैं सुरक्षित          प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के किसानों को आश्वस्त किया कि लोकसभा से पारित कृषि सुधार संबंधी विधेयक उनके लिए रक्षा कवच का काम करेंगे           उत्तराखंड में भूमि पर महिलाओं को भी मिलेगा मालिकाना हक          सीएम रावत ने गूगल के सीईओ सुंदर पिचाई को लिखा पत्र,उत्तराखंड में आइटी सेक्टर में निवेश करने का किया अनुरोध           कोरोना के चलते रद्द हुई अमरनाथ यात्रा,अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने रद्द करने का किया एलान           बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | क्राइम | मासूम जैनब की मौत से सुलग रहा पाकिस्तान

मासूम जैनब की मौत से सुलग रहा पाकिस्तान


16 दिसंबर 2012 की वो काली रात भारत कभी नही भूल पायेगा। इस दिन एक मासूम लड़की की इज्जत को चलती हुई बस में कुछ हवस के भूखों ने तार-तार कर दिया था। उनकी हवस का ये आलम था कि, निर्भया से हवस मिटाने के बाद उन्होने उसके प्राईवेट पार्ट में जिस तरह से रोड और बोतल डालीं।

 

इस दरिंदगी के बाद पूरे देश में जिस तरह से निर्भया को न्याय दिलाने के लिये आवाजे उठीं उसे भारत में आज तक कोई भी नही भूल पाया है। निर्भया भले ही इस दुनिया में न हो लेकिन उसको न्याय दिलाने वाली आवाजों को देश के साथ दुन्या कभी नही भील पायेगी।

 लेकिन हमारे पड़ोसी मुल्क को भी अब ऐसी ही न्याय के लिये उठती हुई आवोजं की जरूरत हैं जी हां हम बात कर रहे हैं। पाकिस्तान की

 

 

आपको बता दें चार फरवरी को पाकिस्तान के कसूर शहर में सात साल की जैनब अंसी कुरान क्लास के लिए जाते वक्त रास्ते से गायब हो गई थी, उसके कुछ दिन बाद जैनब का शव कचरे के ढेर में पड़ा मिला। शव पूरी तरह से नंगा था मामूम के साथ हुई दरिंदी उसके मासूम शरीब पर पड़े निशानों से बयां हो रही थी। इस घटना ने पूरे कसूर शहर को हिलाकर रख दिया और शहर में दंगा भड़क गया।

 

 

मासूम जैनब को आखिरी बार एक सीसीटीवी फुटेज में अज्ञात आदमी का हाथ पकड़ कर जाते हुए देखा गया। जैनब को इंसाफ दिलाने के लिए पाकिस्तान में ही नहीं बल्कि भारत और अन्य देशों में भी आवाज बुलंद होती दिखी हैं। सोशल मीडिया पर 'जस्टिस ऑर जैनब' हैशटैग से आक्रोशित लोग दुष्कर्मी की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। लेकिन अफसोस आरोपी की पहचान होने के बाद भी पुलिस उन्हें नहीं पकड़ पा रही है। लेकिन पूरे पाकिस्तान को इस मासूम निर्भया के न्याय का बेसर्बी से इंतजार

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: