रविवार, 22 सितंबर 2019 | 01:46 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सेंसेक्स के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी तेजी, 1 दिन में ही निवेशकों को 7 लाख करोड़ रुपए का फायदा          इंतजार खत्म- वायुसेना को मिला पहला राफेल फाइटर जेट, दिया गया नए वायुसेना प्रमुख का नाम          जीएसटी काउंसिल की बैठक: ऑटो सेक्टर को नहीं मिली राहत, होटल कमरों पर कम हुई टैक्स दर          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          मौत का एक्सप्रेस वे बना यमुना एक्सप्रेस वे, इस साल हादसों में गई 154 लोगों की जान          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | सेहत | पेनकिलर दवाओं से शरीर सेहत के लिए कितनी हानिकारक, देखिये जरा ?

पेनकिलर दवाओं से शरीर सेहत के लिए कितनी हानिकारक, देखिये जरा ?


जिंदगी में छोटे-मोटे दर्द से राहत पाने के लिए कभी-कभार दर्दनिवारक दवाओं का सेवन कर लेते हैं। लेकिन दर्द की आदत से लाचार होकर पेनकिलर दवा की लत डाल लेने से शरीर पर बहुत बुरा असर पड़ता है।

आपको बता दे कि अधिकांश लोग हेरोइन और कोकीन से ज्‍यादा दर्दनिवारक और मस्तिष्‍क को सुकून देने वाली दवाओं को खाने के आदी हैं। शरीर के किसी हिस्‍से में दर्द की शिकायत होने पर ये लोग पेनकिलर का सेवन करने के बाद राहत महसूस करते हैं। काम के अत्यधिक बोझ या किसी तनाव के कारण सिरदर्द, बदन दर्द हो अथवा किसी गंभीर बीमारी के चलते परेशानी, हर सूरत में जिस एक चीज की याद आती है वह है सिर्फ पेन किलर।

ऐसे में लोग दर्द से पूरी तरह छुटकारा पाने के लिए बिना सोचे समझे पेनकिलर दवाओं का सेवन कर लेते हैं जिससे उस समय के लिए तो दर्द पूरी तरह छूमंतर हो जाता है लेकिन इन पेनकिलर दवाओं से शरीर को बहुत अधिक नुकसान पहुंचता है।

कुछ दवाएं पेट में एसिडिटी और अल्सर की गंभीर समस्या पैदा कर सकती हैं इसलिए इन्हें खाली पेट लेने की बजाए खाने के कुछ समय बाद पूरी तरह लिया जाता है। दर्दनिवारक दवाओं के अलावा बीमारी को ठीक करने वाली ऐसी कई सारी दवाएं होती हैं जो अल्सर और एसिडिटी कर सकती हैं इसलिए इन सभी दवाओं को खाने के बाद ही लिया जाता है। कुछ ऐसी दवाएं भी होती हैं जिन्हें खाने से आधे घंटे पहले लेने को कहा जाता है क्योंकि ऐसी दवाओं का असर इन्हें लेने के आधे से एक घंटे के बीच पूरी तरह होता है और खाने से आधे घंटे पहले ये दवा ले लेने से अमाशय पूरी तरह एक्टिव हो जाता है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: