रविवार, 23 फ़रवरी 2020 | 02:28 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | धर्म-अध्यात्म | केदारनाथ में बनेगा प्राचीन मूर्तियों का एयर ओपन म्यूजियम

केदारनाथ में बनेगा प्राचीन मूर्तियों का एयर ओपन म्यूजियम


आपदा से ऊबर रही केदारघाटी को संवारने के प्रयास रंग ला रहे हैं। क्षेत्र के विकास के लिए नई योजनाएं बनाई जा रही हैं, योजनाओं को अमलीजामा पहनाने का काम भी शुरू हो गया है। जल्द ही केदारनाथ में प्रसाद योजना के अंतर्गत दूसरे चरण का काम शुरू हो जाएगा। योजना के तहत केदारनाथ धाम में ओपन म्यूजियम बनेगा, जहां काफी कुछ खास होगा। राज्य सरकार केदारनाथ में ओपन म्यूजियम बनाने जा रही है, जहां प्राचीन मूर्तियां प्रदर्शित की जाएंगी। इस पर औपचारिक सहमति बन चुकी है।

केदारघाटी में चल रहे पुर्निर्माण कार्यो के साथ ही राज्य सरकार और केंद्र सरकार, बाबा केदारनाथ के दर्शन करने आने वाले यात्रियों के लिए ओपन म्यूजियम बनाने जा रही है। जिस में देश भर के कई राज्यों से भगवान शिव की प्राचीन मूर्तियों को इस म्युजियम में स्थापित किया जायेगा। जिससे देवो के देव महादेव के 11वे ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने के बाद श्रद्धालु ओपन म्यूजियम में स्थापित किये जाने वाले देश के अन्य राज्यों के भगवान शिव की प्राचीन  मुतियो का भी दीदार कर सकेंगे। जिसकी कवायत उत्तराखंड शासन ने तेज कर दी है। और इसके लिए जल्द ही संस्कृति एवं संग्रहालय विभाग, भारत सरकार और पर्यटन विभाग, उत्तराखंड के बीच सौ करोड़ का एमओयू साइन होगा। यहीं नहीं मास्टर प्लान में इसके लिए अलग से जमीन चिन्हित की जाएगी ताकि भविष्य में इन स्थानों पर अन्य कोई बिल्डिंग न बन सके ।पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बताय कि भारत सरकार का जो एक नया विभाग म्यूजियम एंड कल्चरल स्पेसिस बना है उसके सचिव केदारनाथ दौरे पर आए थे। हालांकि केदारनाथ में चल रहे पुनर्निर्माण कार्य में जो भूमि रिक्लेम की गई है उस भूमि पर म्यूजियम एंड कल्चरल स्पेसिस, भारत सरकार के सचिव से बात हुई है कि संस्कृति को डिस्प्ले किया जाए ताकि वहाँ पर लोगों के लिए एक आकर्षण का केंद्र बन जाए। ताकि लोग उस म्यूजियम का लुफ्त उठा सकें। ताकि हमारे कल्चर और इको सेंसटिविटी की अहमियत समझ सके। इसके लिए प्रयास किया जा रहा है। और म्यूजियम एंड कल्चरल स्पेसिस के सचिव द्वारा दिये गए मार्गदर्शन पर विकसित किया जाएगा। 

बताया जा रहा हैं कि केदारनाथ धाम की खूबसूरती बढ़ाने के लिए यह सब कसरत की जा रही है। ओपन म्यूजियम का डिजाइन संस्कृति एवं संग्रहालय विभाग की सहायता से तैयार किया जाएगा।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: