मंगलवार, 24 मई 2022 | 03:04 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
30 जून से शुरू होगी अमरनाथ यात्रा          शंघाई मिले कोरोना का एक दिन में 23,000 से ज्‍यादा नए मामले          रूस ने भारत को दिए एस-400 मिसाइल सिस्टम के पार्ट्स          कर्नाटक हाईकोर्ट का हिजाब विवाद पर बड़ा फैसला,हिजाब इस्लाम का हिस्सा नहीं          सीबीएसई की 10वीं की परीक्षाएं 26 अप्रैल से 24 मई तक, 12वीं की परीक्षाएं 26 अप्रैल से 15 जून तक आयोजित की जाएगी          केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने जारी की टर्म 2 परीक्षा के लिए 10वीं और 12वीं की डेटशीट          आरबीआई ने पेटीएम पेमेंट्स बैंक को नए ग्राहक जोड़ने से रोका, आईटी ऑडिट का भी दिया आदेश          8 मई को खुलेंगे श्री बदरीनाथ धाम के कपाट          कांग्रेस दफ्तरों में होगी सीडीएस जनरल बिपिन सिंह रावत और जनरल जोशी की फोटो         
होम | लाइफस्टाइल | अब नॉनवेज के लिए जानवरों की हत्या नहीं होगी

अब नॉनवेज के लिए जानवरों की हत्या नहीं होगी


क्या नॉनवेज यानी मांस से बनने वाले टेस्टी आइटम तैयार करने के लिए जानवरों को मारना जरूरी है। बहुत से लोग नॉनवेज का टेस्ट तो पसंद करते हैं, लेकिन केवल अपने स्वाद के लिए जानवरों को मारना पसंद नहीं करते, इसलिए जिन्दगी भर नॉनवेज खाना छोड़ देते हैं। यहां तक कि वे दूसरों को भी नॉनवेज छोड़ने की नसीहत देते रहते हैं। लेकिन अगर मैं कहूं कि बिना किसी जानवर की जान लिए ही आपको टेस्टी नॉनवेज फूड मिल जाए तो आप क्या कहेंगे। जी हां, दिल्ली से सटे फरीदाबाद के एक रेस्टोरेन्ट ने ये क्रांतिकारी पहल की है।

 

क्या आपने कभी नकली जानवरों का नकली मांस , नकली मछली खाई है...ये बात पहली बार सुनने में आपको हैरान कर सकती है...लेकिन यकीन मानिए ये खबर पुरी तरह से सच है.....भारत में एक ऐसी जगह है...जहां पर नकली जानवरों का मांस मिलत है और लोग बड़े ही चाव से इसे खाते हैं.....अब हैरानी की बात ये ही कि, आखिर नकली जानवरों का असली मांस कोई कैसे खा सकता है तो आपको बता दें, टेस्‍ट में बिल्‍कुल नॉन वेज जैसा पर फायदों में उससे कहीं ज्‍यादा. सिर्फ देसी ही नहीं बल्कि विदेशी लोग भी जमकर इन नकली जानवरों का मांस खाते हैं...

इसी तरह कई लोग नॉनवेज खाते तो हैं लेकिन मंगलवार और गुरुवार को धार्मिक वजहों से छोड़ना पड़ता है। नॉन-वेज प्रेमियों को इन दो दिनों में बिना नॉनवेज के मन मारकर वेज खाना पड़ता है। लेकिन अब ये सारी समस्याएं खत्म होने वाली हैं। इस वीडियो को देखने के बाद आप भी इस फूड स्टॉल पर ज़रूर जाना  चाहेंगे, जहां ये टेस्टी डिश मिलती है।

आगे बढ़ने से पहले आपसे गुजारिश है कि अगर आपने अभी तक हिमालयन न्यूज़ चैनल को सबस्क्राइब नहीं किया है तो जरूर कर दीजिए, ताकि आपको ऐसे ही वीडियो की नोटिफिकेशन मिलती रहे। तो क्या वाकई दिल्ली के आसपास कोई ऐसा रेस्टोरेन्ट है, जिसमें नॉनवेज  बनाने के लिए जानवरों को मारा नहीं जाता है, तो जवाब है बिल्कुल है। चलिए आपको ले चलते हैं फरीदाबाद के तंदूरी हट में। ये देखिए इस रेस्टोरेन्ट में वेजीटेरियन फिश की डिश को लोग बड़े चाव से खा रहे हैं। इसी तरह यहां जो मीट बनता है, उसके स्वाद के तो लोग दीवाने हैं।

बटर चिकन तो यहां बनते ही खत्म हो जाता है। अब आप सोच रहे होंगे कि ये सब डिश बनाने के लिए तो मुर्गे, बकरे या मछली को मारना ही पड़ता है। तो हम आपको बता दें कि ये नकली जानवरों का मांस है। नकली जानवर यानी सोयाबीन से बनीं बेहद टेस्टी डिशेश। सोयाबीन से ऐसी कई डिशेज बनती है जिसे खाने के बाद आपको नॉन-वेज की याद नहीं आएगी। ऐसी ही खास डिसेज दिल्ली का एक होटल बनाता है....जहां पर vegeterian chicken , vegeterian mutton , vegeterian fish. soya chicken , soya mutton rogan josh , soya fish जैसी बेहद टेस्टी डिसेज  आपको खाने का मौका मिलेगा.. tandoori hut  में सबकुछ सोयाबिन का बनाया हुआ मिलता है..। मछली से लेकर बकरा और चिकन .ये सब आप दिल्ली से सटे फरीदाबाद में जाकर खा सकते हैं। तो अगर आप भी जानवरों से प्रेम करते हैं और उनको बिना मारे टेस्टी फूड खाना चाहते हैं, तो यहां जरूर जाएं। इस बारे में आप क्या सोचते हैं, अपनी  राय कॉमेन्ट बॉक्स के जरिए जरूर शेयर करें।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: