बृहस्पतिवार, 29 फ़रवरी 2024 | 04:52 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | पर्यटन | बर्फबारी न होने से 'बर्बाद' हुआ पर्यटन का कारोबार, 80 फीसदी सैलानी 'गायब'

बर्फबारी न होने से 'बर्बाद' हुआ पर्यटन का कारोबार, 80 फीसदी सैलानी 'गायब'


देहरादून- उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटक स्थलों में इस साल एक बार भी बर्फबारी नहीं हुई है। इसका सीधा असर पर्यटन कारोबार पर दिख रहा है। नैनीताल, मसूरी, मुक्तेश्वर, रामगढ़, अल्मोड़ा, रानीखेत, कसारदेवी सहित अन्य इलाकों में पर्यटकों की संख्या में 80 फीसदी तक कमी आई है।
ऐसे में सर्दियों में होने वाला पर्यटन कारोबार पूरी तरह से ठहर गया है। जनवरी में उत्तराखंड में अक्सर बर्फ से लदे पहाड़ नजर आते हैं। पर इस साल मौसम कुछ अलग ही रंग दिखा रहा है। नैनीताल समेत कई हिल स्टेशन पर एक बार भी बर्फ नहीं पड़ी है और जंगल अलग धधक रहे हैं।
दिन का तापमान 16 से 18 डिग्री तक पहुंच रहा है। इसके उलट रात में जबरदस्त पाला गिर रहा है। बारिश-बर्फबारी न होने का सीधा असर पर्यटन कारोबार पर पड़ा है। नैनीताल के होटल एसोसिएशन के मुताबिक पर्यटकों की संख्या में 80 फसदी तक की गिरावट है।
कारोबारी विजय जोशी के अनुसार सप्ताहांत में ही पर्यटक आ रहे हैं। इसके अलावा बाकी पूरा हफ्ता नैनीताल में सन्नाटे में ही गुजर रहा है। वहीं अल्मोड़ा में भी 60 फीसदी तक की कमी दर्ज हुई है। रानीखेत, कसारदेवी, बिनसर, दूनागिरी जैसे पर्यटक स्थलों में होटल, होमस्टे व रिजॉर्ट खाली पड़े हैं। 
चार दिन लंबा सप्ताहांत 25 जनवरी से शुरू हो रहा है। ऐसे में सूने पड़े पर्यटन कारोबार बढ़ने की उम्मीद है। आने वाले शुक्रवार को गणतंत्रत दिवस की छुट्टी रहेगी। इसके बाद शनिवार व रविवार का अवकाश आ रहा है।
ऐसे में बाहरी राज्यों से पर्यटकों के पहुंचने की उम्मीद है। मैदानों में काफी ठंड पड़ रही है। पहाड़ों में दिन का मौसम काफी सुहावना बना है। ऐसे में पर्यटक इस मौसम का आनंद लेने को भी नैनीताल पहुंच सकते हैं। 
मौसम विभाग ने आने वाले एक हफ्ते तक भी बारिश या बर्फबारी की संभावना नहीं जताई है। इस पूरे हफ्ते मौसम लगभग पूरी तरह शुष्क ही बना रहेगा। शुक्रवार व शनिवार को कुछ पहाड़ी इलाकों में हल्की बूंदाबांदी का पूर्वानुमान है। ऐसे में पहाड़ों में घूमने के लिए भी यह समय काफी अच्छा रहेगा।  
जिला पर्यटन विकास अधिकारी ने बतायाकि बर्फबारी नहीं होने से जिले के पर्यटन स्थलों में पिछली बार की अपेक्षा इस बार करीब 60 फीसदी कम पर्यटक पहुंचे हैं।  जहां पहले लोग पर्यटन स्थल बिनसर, दुनागिरी, कसारदेवी, रानीखेत आदि जगहों पर बर्फबारी का आनंद लेने पहुंचते थे, वहीं इस बार बारिश और बर्फबारी नहीं होने से लोगों की आवाजाही काफी कम हो रही है। 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: