सोमवार, 8 अगस्त 2022 | 07:20 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
प. बंगाल: अर्पिता मुखर्जी के फ्लैट से 28.90 करोड़ रुपये और 5 किलो से ज्यादा सोना बरामद          उत्तराखंड में कोरोना के 334 नए मामले, 2 लोगों की मौत          1 से 4 अगस्त तक भारत दौरे पर रहेंगे मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम सोलिह          बंगाल शिक्षा घोटाला: पार्थ चटर्जी को मंत्री पद से हटाया गया           संसद में स्मृति ईरानी और सोनिया गांधी के बीच नोकझोंक           गुजरात: जहरीली शराब कांड में एक्शन, SP का तबादला, 2 डिप्टी SP सस्पेंड           दिल्ली में फर्जी कॉल सेंटर का भंडाफोड़, 3 गिरफ्तार          पार्थ चटर्जी के घर में चोरी, लोग समझे ED का छापा पड़ा है          कर्नाटक में प्रवीण हत्याकांड में पुलिस ने अब तक 21 लोगों की हिरासत में लिया         
होम | उत्तराखंड | उत्तराखंड: पहाड़ से मैदान तक भारी बारिश, इन 8 जिलों में बारिश का येलो अलर्ट

उत्तराखंड: पहाड़ से मैदान तक भारी बारिश, इन 8 जिलों में बारिश का येलो अलर्ट


उत्तराखंड में मौसम विभाग ने आज से अगले पांच दिन तक भारी वर्षा की चेतावनी जारी की है। अगर आप इस दौरान कहीं बाहर यात्रा पर हैं तो जल्द से जल्द सुरक्षित स्थान पर पहुंचे। जिन जिलों के लिए चेतावनी जारी की गई है। उनमें देहरादून के पर्वतीय क्षेत्रों के अलावा रुद्रप्रयाग, पौड़ी, चमोली, अल्मोड़ा, नैनीताल, चंपावत, पिथौरागढ़ तथा बागेश्वर जैसे जिले शामिल हैं। आम जनता को अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं।

 

इस बीच राज्य में 29 जून को मानसून के पहुंचने की संभावना है। मौसम विभाग ने भूस्खलन होने और नदियों में उफान को लेकर अलर्ट जारी किया है। आपको बता दें मौसम विभाग ने बारिश को लेकर ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। अगले चौबीस घंटे में बागेश्वर, नैनीताल, चंपावत और पिथौरागढ़ में तेज हवाओं संग भारी बारिश की संभावना है।

 

बारिश के बाद से कई नदियां अपने उफान पर हैं। वहीं मौसम विभाग ने भारी बारिश को लेकर ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया है। मैदानी क्षेत्रों देहरादून, हरिद्वार, रुड़की, नैनीताल, हल्द्वानी, मसूरी, विकासनगर, रुद्रपुर आदि शहरों में भी भीषण बारिश हो रही है। भीषण गर्मी और उमस झेल रहे लोगों को बारिश ने काफी हद तक राहत तो पहुंचाई है। मगर बारिश के बाद जलभराव और नदियों के उफान पर आने की वजह से लोगों की आफत आ गई है। बीते रविवार की रात से ही पर्वतीय क्षेत्रों में मौसम का मिजाज बदलने लगा था। जिसके बाद सोमवार की सुबह नैनीताल, भीमताल और चम्पावत में सबसे अधिक बारिश रिकॉर्ड की गई।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: