शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024 | 08:47 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | आमदनी अठन्नी खर्चा रुपैया, शॉर्टकट देश के लिए खतरनाक; PM मोदी के निशाने पर कौन?

आमदनी अठन्नी खर्चा रुपैया, शॉर्टकट देश के लिए खतरनाक; PM मोदी के निशाने पर कौन?


गुजरात में रिकॉर्डतोड़ जीत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा मुख्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस दौरान जहां उन्होंने गुजरात के साथ-साथ हिमाचल प्रदेश के वोटर्स को धन्यवाद कहा। वहीं, अपने आलोचकों पर भी निशाना साधा। पीएम मोदी ने इस दौरान लोक कहावतों का भी सहारा लिया। साथ ही उन्होंने युवा वोटरों को भी कई बातें कहीं। पीएम ने कहा कि हम समाज और देश को एकजुट करने में जुटे। उन्होंने कहा कि गरीबों को उनका हक मिल रहा है। देश आज शॉर्टकट नहीं चाहता देश का मतदाता जागरूक है। अपना हित-अहित जानता है। 

शॉर्टकट की राजनीति पर कही यह बात
शॉर्टकट की राजनीति कहीं से भी देशहित में नहीं है। पीएम मोदी ने कहा कि न्यूट्रल लोगों का भी एनालिसिस होना चाहिए। आज देश बहुत सतर्क है। देश के हर राजनीतिक दल को यह याद रखना होगा कि चुनावी हथकंडों से किसी का भला नहीं हो सकता। पीएम ने कहा कि आज के जनादेश में एक और संदेश यह है कि समाज के बीच दूरियां बढ़ाकर, राष्ट्र के सामने नई चुनौतियां खड़ी कर जो राजनीतिक दल तात्कालिक लाभ लेने के चक्कर में रहते हैं उन्हें देश की जनता देख भी रही है और समझ भी रही है। भारत का भविष्य फॉल्ट लाइन को गिरा कर ही उज्ज्वल बनेगा। 

 

सिर्फ घोषणा के लिए घोषणा नहीं
पीएम मोदी ने कहा कि हम सिर्फ घोषणा करने के लिए घोषणा नहीं करते हैं। हम राष्ट्र निर्माण के लिए निकले हैं। इसलिए हम सिर्फ 5 वर्ष का नफा-नुकसान नहीं देखते हैं। हमारी हर घोषणा के पीछे एक दूरगामी लक्ष्य है। देश का मतदाता आज इतना जागरुक है कि वो जानता है क्या उसके हित में है और क्या उसके अहित में हैं। शॉर्टकट की राजनीति का नुकसान होता है। देश समृद्ध होगा तो सबकी समृद्धि तय है। 

कहावत के बहाने निशाना
इस संबोधन के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि हमारे पूर्वजों के पास अनुभव का अगाध ज्ञान था। पूर्वजों ने कहावत दी थी, आमदनी अठन्नी खर्चा रुपैय्या। अगर यह हिसाब रहेगा तो क्या हाल होगा यह अड़ोस-पड़ोस में देख रहे हैं। अपनी इस बात के जरिए पीएम ने आम आदमी पार्टी पर इशारों में हमला किया। पीएम मोदी ने कहा कि इसलिए देश सतर्क है। देश के राजनीतिक दलों को समझना होगा कि हथकंडों से देश का भला नहीं हो सकता। जो राजनीतिक दल तात्कालिक लाभ लेने की फिराक में रहते हैं, उन्हें देश की युवा पीढ़ी देख और समझ रही है।

 

इंडिया फर्स्ट के भाव के साथ बढ़ना होगा
प्रधानमंत्री ने कहा कि लड़ने के लिए सैकड़ों वजहें, लेकिन जुड़ने के लिए केवल एक वजह मातृभूमि भारत ही काफी है। इसलिए हमें इंडिया फर्स्ट की भावना के साथ आगे बढ़ने की जरूरत है। आज देश की पहली पसंद भाजपा है। पीएम ने कहा कि गुजरात में एससी एसटी की 40 में से 34 सीटें थंपिंग मेजॉरिटी के साथ भाजपा जीती है। आदिवासी क्षेत्रों में भाजपा को आवाज माना जा रहा है। आदिवासी समुदाय भाजपा को समर्थन दे रहा है। दशकों तक नजरअंदाज किए गए इस समुदाय को नजरअंदाज किया गया है। भाजपा ने ही देश को पहला आदिवासी राष्ट्रपति दिया। आदिवासी समुदाय के कल्याण के लिए बजट बढ़ाया। 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: