रविवार, 7 जून 2020 | 12:12 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | देश | हंस फाउण्डेशन के सहयोग से प्रदेश के 2197 विद्यालयों में 02 लाख विद्यार्थियों को थालियों एवं गिलास कि

हंस फाउण्डेशन के सहयोग से प्रदेश के 2197 विद्यालयों में 02 लाख विद्यार्थियों को थालियों एवं गिलास कि


मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को डोईवाला में उत्तराखण्ड सरकार एवं हंस फाउण्डेशन के संयुक्त तत्वाधान में डोईवाला क्षेत्र के विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन हेतु थालियों एवं गिलास का वितरण किया। हंस फाउण्डेशन के सहयोग से प्रदेश के 2197 विद्यालयों में 02 लाख विद्यार्थियों को थालियों एवं गिलास का वितरण किया जा रहा है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने हंस फाउण्डेशन द्वारा मसूरी, ऊखीमठ और पिथौरागढ़ के लिए 03 एम्बुलेंस एवं पार्वती प्रेमा जगाती सरस्वती विद्या मन्दिर स्कूल, नैनीताल को प्रदान की गई 01 स्कूल बस को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया तथा भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण द्वारा भानियावाला में निर्मित सामुदायिक शौचालय कॉम्प्लेक्स का भी लोकापर्ण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने डोईवाला क्षेत्र के अन्तर्गत 03 विद्यालयों के लिए वर्चुअल रियलटी लैब को भी लांच किया।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने घोषणा की कि डोईवाला उच्चतर माध्यमिक विद्यालय को उच्चीकृत किया जायेगा। डोईवाला नगर में सीवरलाईन बनाई जायेगी। रेशम माजरी में टेक्निकल इंस्टीट्यूट के लिए प्रशिक्षण संस्थान बनाया जायेगा। भोगपुर पेयजल योजना के तहत अल्ट्रा फिल्ट्रेशन टेक्नोलॉजी के माध्यम से शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जायोगा। डोईवाला, भानियावाला एवं दुर्गा चौक पर 03 वाटर एटीएम लगाये जायेंगे। डोईवाला में प्रेस क्लब के लिए विधायक निधि से प्रेस क्लब भवन बनाने की भी बात कही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने एयरपोर्ट अथॉरिटी का भानियावाला में लगभग 22 लाख रूपये की लागत से दो शौचालयों के निर्माण, एम्स ऋषिकेश में लैब के लिए 10 करोड़ रूपये एवं देहरादून में सेंट्रल लाईब्रेरी के लिए 7.5 करोड़ रूपये प्रदान करने के लिए एयरपोर्ट अथॉरिटी का आभार प्रकट किया।

इस मौके पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि हम शिक्षा के क्षेत्र में जिस बेहतरी के लिए काम करना चाहते है। उस दिशा में माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के आशीर्वाद हंस फाउंडेशन हमें निरंतर सहयोग कर रहा है। यह निश्चित तौर पर हमारे राज्य के लिए बहुत ही सुखद हैं कि हमारे साथ हर क्षेत्र में हंस फाउंडेशन खड़ा है।

मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि हंस फाउण्डेशन  के संस्थापक श्री भोले जी महाराज एवं मंगला माता जी ने उत्तराखण्ड में शिक्षा, स्वास्थ्य एवं रोजगार के क्षेत्र में अहम योगदान दिया है। स्पोर्ट्स के क्षेत्र में भी हर सम्भव मदद का आश्वासन हंस फाउण्डेशन के द्वारा दिया गया। कम्यूनिटी किचन के लिए हंस फाउण्डेशन द्वारा पूरा सहयोग दिया जा रहा है। बच्चों के सर्वांगीण विकास एवं समाज के विकास में हंस फाउण्डेशन महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।
  शिक्षा मंत्री श्री अरविन्द पाण्डेय ने कहा कि हंस फाउण्डेशन ने शिक्षा के क्षेत्र में राज्य को भरपूर सहयोग दिया है। 07 कम्यूनिटी किचन बनाने के लिए हंस फाउण्डेशन ने सहमति दी है। अगले वर्ष मार्च-अप्रेल तक 02 कम्यूनिटी किचन प्रारम्भ हो जायेंगे। प्रदेश में शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए हर सम्भव प्रयास किये जा रहे हैं। 500 विद्यालयों में वर्चुअल क्लास के माध्यम से पढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। प्रदेश में सभी को एक जैसी शिक्षा प्राप्त हो इसके लिए एनसीईआरटी का सिलेबस लागू किया गया है।

इस अवसर में माताश्री मंगला जी ने कहा कि हमारे बच्चे स्वच्छ भोजन करेगें तो वह स्वच्छ रहेंगे। हम चाहते थे कि मिड-डे-मिल बच्चों को साफ बर्तनों में मिले अर्थात शुद्ध भोजन शुद्ध बर्तनों में नहीं मिलेगा तो उसमें कुछ कमी रह जाएगी। माननीय मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी एवं शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे जी इस दिशा में यह कदम बढ़ाया तो हमें बहुत अच्छा लगा। हम सब को अपने नौनीहालों के अच्छे भविष्य के लिए हम हमेशा प्रतिबद्ध रहना होगा। तभी देश में बच्चों का भविष्य बेहतर होगा।

माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी  ने इस बेहतर आयोजन के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत एवं शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे का आभार प्रकट किया है।  

माता मंगला जी ने कहा कि शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में हंस फाउण्डेशन का विशेष ध्यान है। बच्चों के लिए भोजन एवं स्वच्छता पर ध्यान दिये जाने की जरूरत है। इसी उद्देश्य से बच्चों को भोजन पात्र उपलब्ध कराये जा रहे हैं। बच्चों को पौष्टिक आहार एवं स्वच्छ वातावरण उपलब्ध कराना आवश्यक है। हंस फाउण्डेशन का प्रयास बच्चों के शिक्षा एवं स्वास्थ्य के लिए हर सम्भव मदद करना है।
इस मौके पर विशेष तौर पर मौजूद उत्तराखंड के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि माता मंगलाजी एवं भोले जी महाराज द्वारा पूरे भारतवर्ष में जिस तरह से सामाजिक कार्य किये जा रहे हैं। यह यकीनन हमारे लिए श्रेयकर हैं। माताजी निरंतर हमें शिक्षा के क्षेत्र में सहयोग कर रही है। इससे हमें लगता हैं कि आने वाले दिनों में उत्तराखंड में शिक्षा के क्षेत्र में हम निश्चित तौर पर नयी विचारधारा को स्थापित कर अपने नौनिहालों को नयी दिशा की तरफ लेकर जाएगें। क्योंकि यह वह नौनिहाल हैं,जो गरीबी के कारण अपनी शिक्षा को जारी नहीं रख पा रहे थे। लेकिन माताजी एवं महाराज जी ने इन नौनिहालों को शिक्षित करने का जो बीड़ा उठाया हैं। वह निश्चित तौर पर महत्वपूर्ण हैं। इस कड़ी में आज उत्तराखंड के 13 जिलों के ढाई लाख स्कूली छात्रों को मिड-डे मील खाने के लिए बर्तन प्रदान किए है। इसके लिए हम माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आभार प्रकट करते है।

आपको बता दें की हंस फाउंडेशन माता मंगला जी एवं भोले जी महाराज की प्रेरणा से देश के दुर्गम क्षेत्रों में स्वास्थ्य-शिक्षा के क्षेत्र में जो अलख जगा रहा है। इसी का परिणाम है जिन क्षेत्रों में स्वास्थ्य  की सुविधाओं के न होने पर आए दिन मृत्यु के अनुपात में बढ़ौतरी हो रही थी। उन क्षेत्रों में इस अनुपात में तेजी के साथ कमी आई है। जिन क्षेत्रों में शिक्षा की लो धुंधली थी। उन क्षेत्रों में आज हंस फाउंडेशन के तत्वावधान में शिक्षा की लो जगमगा रही हैं। इसी कड़ी में मिड-डे मील खाने के ढाई लाख छात्रों को खाने के बर्तन उपलब्ध कराने की एक महत्वपूर्ण कार्य है।

इस अवसर पर हंस फाउण्डेशन के संस्थापक श्री भोले जी महाराज, सचिव शिक्षा आर.मीनाक्षी सुन्दरम, जिलाधिकारी देहरादून सी रविशंकर, हंस फाउण्डेशन के विशेष कार्यधिकारी एस.एम मेहता, आदि उपस्थित थे।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: