रविवार, 23 फ़रवरी 2020 | 01:10 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | खेल | उत्तराखंड के महिम वर्मा बने बीसीसीआई के उपाध्यक्ष

उत्तराखंड के महिम वर्मा बने बीसीसीआई के उपाध्यक्ष


क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड (सीएयू) के सचिव महिम वर्मा अब बीसीसीआई में पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली के साथ एक नई पारी शुरू करते नजर आएंगे। सौरव गांगुली जहां बीसीसीआई के अध्यक्ष बनें, वहीं महिम वर्मा को निर्विरोध उपाध्यक्ष चुना गया है।

साल 2019 उत्तराखंड क्रिकेट के लिए भाग्यशाली रहा है। राज्य बनने के 19वें साल में उत्तराखंड को बीसीसीआई से मान्यता मिली। 13 अगस्त 2019 को बीसीसीआई में सुप्रीम कोर्ट से नियुक्त प्रशासकों की कमेटी (सीओए) ने क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड को बीसीसीआई के पूर्ण सदस्य के रूप में मान्यता दी। अब दिवाली से पहले क्रिकेट के क्षेत्र में उत्तराखंड को बड़ा तोहफा मिला है। क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के सचिव महिम वर्मा का बीसीसीआई के नए उपाध्यक्ष के रूप में निर्विरोध चुने जाने के बाद उत्तराखंड के खिलाड़ियों में खुशी की लहर है।

उत्तराखंड से बीसीसीआई को पहला बड़ा अफसर मिला है। उत्तराखंड क्रिकेट को नयी ऊंचाइयों तक पहुंचाने में महिम के परिवार का बहुत बड़ा योगदान रहा है। उनके पिता पीसी वर्मा 40 वर्षों से उत्तराखंड में क्रिकेट के भविष्य को संवारने में जुटे थे। पीसी वर्मा की कड़ी मेहनत की तारीफ गृहमंत्री अमित शाह और राजीव शुक्ला ने भी की है। अब तक महिम क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड में सचिव पद की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। लेकिन अब उन्हें बीसीसीआई में उपाध्यक्ष पद की बड़ी जिम्मेदारी मिली है। इसके साथ ही वो उत्तराखंड के पहले व्यक्ति बन गए हैं, जिन्हें बीसीसीआई में बड़ा पद मिला है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: