सोमवार, 30 मार्च 2020 | 12:36 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
कोरोना के चलते लखनऊ में भी लॉकडाउन, 23 मार्च तक सभी दफ्तर बंद          मध्य प्रदेश के सीएम कमलनाथ ने अपने पद से इस्तीफा दिया          जनता कर्फ्यू.रविवार को नहीं चलेगी मेट्रो, DMRC ने जारी की एडवायजरी          उत्तराखंड में 65 साल के अधिक और 10 साल से कम आयु वाले बच्चों से 31 मार्च तक घर पर रहने की अपील           कोरोना वायरस: दिल्ली का चिड़ियाघर 31 मार्च तक बंद          विदेशों में 276 भारतीय कोरोना वायरस से संक्रमित          कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते माता वैष्णो देवी की यात्रा आज से बंद          उत्तराखंड सरकार बड़ा फैसला,पदोन्नति में आरक्षण किया खत्म,कर्मचारी लौटे काम पर          भारत में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 131 हुई,उत्तराखंड व्यक्ति में कोरोना की पुष्टि           आईपीएल पर कोरोना वायरस का साया,अब 15 अप्रैल से शुरू होंगे मैच          ज्योतिरादित्य सिंधिया को भाजपा ने मध्यप्रदेश से राज्यसभा उम्मीदवार घोषित किया          भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया           SBI ने बताया यस बैंक को बचाने का प्लान, कहा- पैसा बिल्कुल सेफ          कोरोना वायरस पर बोले पीएम मोदी- अफवाहों से बचें, जो भी करें अपने डॉक्टर की सलाह पर करें          निर्भया के दोषियों के खिलाफ नया डेथ वारंट जारी, 20 मार्च सुबह 5:30 बजे होगी फांसी          कोरोनवायरस के चलते दिल्ली के सभी सरकारी और निजी प्राइमरी स्कूल कक्षा 5 वीं तक 31 मार्च तक बंद           नशीले पदार्थों की तस्करी पर काबू करने की प्रणाली पर सहमति          भारत और अमेरिका के बीच डिफेंस डील पर मुहर, ट्रेड डील के लिए बातचीत पर सहमति          भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | धर्म-अध्यात्म | देशभर में शुक्रवार को मनाई जाएंगी महाशिवरात्रि,जाने कैसे करें भोलेबाबा की पूजा

देशभर में शुक्रवार को मनाई जाएंगी महाशिवरात्रि,जाने कैसे करें भोलेबाबा की पूजा


हिंदू धर्म में महाशिवरात्रि का बहुत बड़ा महत्व माना जाता है। इस दिन भोलेबाबा के भक्त उन्हें प्रसन्न् करने के लिए उनका व्रत और पूजन करते हैं। इस साल महाशिवरात्रि का व्रत 21 फरवरी को रखा जाएगा। खास बात यह है कि इस महाशिवरात्रि पर लगभग 117 साल बाद एक अद्भुत संयोग बन रहा है। शनि स्वयं की राशि मकर में है और शुक्र अपनी उच्च की राशि मीन में होंगे जो कि एक दुर्लभ योग है। माना जाता है कि इस दिन भगवान शिव की आराधना करने से उनके भक्तों के सारे पाप और संकट दूर होते हैं। 

ज्योतिष शास्त्र में साधना के लिए तीन रात्रि विशेष मानी गई हैं। इनमें शरद पूर्णिमा को मोहरात्रि, दीपावली की कालरात्रि तथा महाशिवरात्रि को सिद्ध रात्रि कहा गया है। इस बार महाशिवरात्रि पर सर्वार्थ सिद्धि योग का संयोग भी रहेगा। इस योग में भगवान शिव-पार्वती की पूजा-अर्चना को श्रेष्ठ माना गया है। महाशिवरात्रि को शिव पुराण और महामृत्युंजय मंत्र का जाप करना चाहिए।

शास्त्रों के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव का विवाह माता पार्वती के साथ हुआ था इसलिए इस दिन उनके विवाह का उत्सव मनाया जाता है। इस दिन बेलपत्र, धतूरा, दूध, दही, शर्करा से भगवान शिव का अभिषेक करने से मनवांछित इच्छा पूरी होती है।

पुराणों और हिंदू पंचांग के अनुसार महाशिवरात्रि के पर्व को बेहद खास माना गया है. हिंदू कैलेंडर के अनुसार, फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को शिवरात्रि का उत्सव मनाया जाता है. इस दिन शिवलिंग के रुद्राभिषेक का खास महत्व होता है. इस साल की शिवरात्रि को बेहद खास माना जा रहा है क्योंकि इस बार शिवरात्रि पर 117 साल बाद शनि और शुक्र का दुर्लभ योग बन रहा है. ऐसे में ज्योतिर्विद भूषण कौशल से जानते हैं कि इस बार की महाशिवरात्रि किन लोगों के लिए रहेगी बेहद ही खास.  

इस बार की महाशिवरात्रि उन लोगों के लिए बहुत लाभकारी है जिन लोगों का अब तक विवाह नहीं हुआ है और जो लोग लव मैरिज करना चाहते हैं. इसके अलावा जिन पति-पत्नी में अक्सर लड़ाई-झगड़े होते हैं, उनकी लड़ाई बंद कराने में ये महाशिवरात्रि बहुत उपयोगी है.इस बार महाशिवरात्रि का त्योहार शुक्रवार के दिन 21 फरवरी को मनाया जा रहा है. इस दिन श्रवण नक्षत्र पड़ेगा. श्रवण नक्षत्र चंद्रमा का नक्षत्र है और चंद्रमा मकर राशि में शनि के साथ होगा. शनि और चंद्रमा जब साथ होते हैं तो विषयोग को काटने वाले उपाय किए जाते हैं.

शुक्र प्यार का कारक ग्रह है और इस दिन चंद्रमा का नक्षत्र है. इसलिए इस शिवरात्रि को जो लोग शंकर भगवान के लिए व्रत रखेंगे और पूरे विधि-विधान से शंकर जी के साथ मां पार्वती की पूजा करेंगे उनके शीघ्र विवाह का योग बन जाएगा.महाशिवरात्रि के दिन सफेद वस्त्र धारण कर शिवजी की पूजा-पाठ करें. शिवजी पर दूध, चावल, जल और बेलपत्र चढ़ाएं और शिवजी को हल्दी का तिलक लगाएं जो लोग बिना किसी व्यवधान के लव मैरिज करना चाहते हैं उन्हें महाशिवरात्रि के दिन सुबह जल में गुलाबजल डाल कर स्नान करें, चंदन का तिलक लगाएं. इस दिन गुलाबी वस्त्र धारण कर क्रिस्टल की माला से ऊं नम: शिवाय का जाप करना है.  

महाशिवरात्रि के पूरे दिन पूजा-पाठ होगी. इस दिन शिवजी पर गुलाब का फूल या गुलाब की पंखुड़ियां जरूर चढ़ाएं. आपके लव मैरिज का योग बन जाएगा.जिनके वैवाहिक जीवन में जहर घुला हुआ है और उन्हें बहुत कष्ट है तो वो लोग दूध, जल, शहद मिलाकर शिवजी का अभिषेक करें. शिवजी आपके वैवाहिक जीवन में विष का पान करेंगे. शिवजी को सफेद बताशे चढ़ाने से वैवाहिक जीवन में शांति आएगी.

महाशिवरात्रि के अगले दिन शनिवार को व्रत खोलने के बाद पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं और शनिदेव की पूजा-पाठ करें. शनि मंत्र का जाप करें और उन पर बेलपत्र की माला चढ़ाएं. शनिदेव के गुरु शिवजी हैं इसलिए शिवरात्रि के अगले दिन शनि की पूजा करने से जीवन में सारे क्लेश खत्म हो जाएंगे.शनिवार के दिन शनिदेव के सामने तिल के तेल का दिया जलाएं, लड्डू का भोग लगाएं, लगातार 8 शनिवार ऐसा करने से वैवाहिक जीवन की सारी समस्याएं दूर हो जाएंगीं. इस बार महाशिवरात्रि के दिन बनने वाला अद्भुत संयोग अविवाहितों से लेकर विवाहितों तक के लिए बेहद खास रहने वाला है. साथी के साथ आपके लड़ाई-झगड़े कम हो जाएंगें.लक्ष्मी जी को खीर का भोग लगाकर प्रसाद के तौर पर कन्याओं को बांटें. इससे घर में धन आगमन का बहुत अच्छा योग बनेगा और शिवजी के साथ-साथ लक्ष्मी मां की भी कृपा बनी रहेगी.

शुभ मुहूर्त- 
महाशिवरात्रि 21 फरवरी 2020 को शाम को 5 बजकर 16 मिनट से शुरू होकर अगले दिन यानी 22 फरवरी दिन शनिवार को शाम 07 बजकर 9 मिनट तक रहेगी। जो श्रद्धालु मासिक शिवरात्रि का व्रत करना चाहते है, वह इसे महाशिवरात्रि से शुरू कर सकते हैं।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: