बृहस्पतिवार, 17 अक्टूबर 2019 | 06:15 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          कांग्रेस पार्टी का बड़ा एलान, जम्मू-कश्मीर में नहीं लड़ेंगे BDS चुनाव          केंद्र सरकार ने 48 लाख कर्मचारियों को दिवाली से पहले दिया बड़ा तोहफा, 5 फीसदी बढ़ाया महंगाई भत्ता           देश के सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर सेविंग अकाउंट की तुलना में दे रहा है डबल ब्याज           भारतीय सेना एलओसी पार करने से हिचकेगी नहीं,पाकिस्तान को आर्मी चीफ बिपिन रावत की चेतावनी          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | जहरीली शराब कांड,भाजपा ने अवैध शराब की तस्करी में संलिप्त घोंचू की प्राथमिक सदस्यता रद्द की

जहरीली शराब कांड,भाजपा ने अवैध शराब की तस्करी में संलिप्त घोंचू की प्राथमिक सदस्यता रद्द की


मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के कड़े रुख को देखते हुए आज भाजपा ने अवैध शराब की तस्करी में संलिप्त बताए गए अजय सोनकर उर्फ घोंचू की प्राथमिक सदस्यता रद्द कर दी है। प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के आदेशों के बाद महानगर अध्यक्ष विनय गोयल के यह कार्रवाई की है।

बता दें कि मुंबई से लौटे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने रविवार रात पथरिया पीर में हुए जहरीली शराब कांड के मामले में गृह, आबकारी व पुलिस विभाग के अधिकारियों को तलब किया था। उन्होंने इस घटना और इसके बाद की गई कार्रवाई की विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने साफ किया कि अगर किसी के संरक्षण की बात सामने आती है तो इसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। साथ ही अवैध शराब पर अंकुश लगाने के मद्देनजर आबकारी एक्ट में संशोधन की जरूरत हो तो इसका प्रस्ताव तैयार किया जाए।

मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए कि मुख्य आरोपित को जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाए। वह आदमी चाहे धरती पर हो, आसमान में अथवा पाताल में, हर हाल में पकड़ा जाना चाहिए। उन्होंने इस बात पर सख्त नाराजगी जताई कि शहर के बीचों बीच इतना सबकुछ चल रहा हो और हमारी एजेंसियों को पता तक न चले, यह कैसे हो सकता है। उन्होंने कहा कि पूरे घटनाक्रम की गहराई से हर पहलू की बारीकी से जांच की जाए और जो भी दोषी पाया जाए, उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। 

वहीं मुख्यमंत्री ने पूरे प्रदेश में अवैध शराब के खिलाफ छापेमारी को अभियान चलाने के निर्देश दिए और कहा कि इसमें जिन लोगों की मिलीभगत हो उन्हें पकड़कर सख्त से सख्त एक्शन लिया जाए। उन्होंने कहा कि अवैध शराब के धंधे में लिप्त तत्वों के खिलाफ कार्रवाई को और सख्त करने के लिए आबकारी एक्ट में किसी प्रकार के संशोधन की जरूरत हो तो उसका प्रस्ताव तैयार किया जाए। उन्होंने कहा कि अवैध शराब और नशे के कारोबार को रोकने में आमजन का भी सहयोग लिया जाए। 

बैठक में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह, डीजी लॉ एंड ऑर्डर अशोक कुमार, प्रमुख सचिव आनंदवर्द्धन, सचिव नितेश झा, आइजी गढ़वाल रेंज अजय रौतेला, आबकारी आयुक्त सुशील कुमार, डीएम देहरादून सी.रविशंकर व एसएसपी अरुण मोहन जोशी मौजूद थे। 

जहरीली शराब कांड से जुड़े अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए रविवार को भी पुलिस ने ताबड़तोड़ छापे मारे। शराब की तस्करी में संलिप्त भाजपा नेता की गिरफ्तारी के लिए भी पुलिस जुटी हुई है। इस बीच पूरे प्रकरण का पर्दाफाश करने के लिए लोगों के बयान लेने की प्रक्रिया भी चलती रही।

पथरियापीर इलाके में जहरीली शराब पीने से शुक्रवार को हुई छह लोगों की मौत के बाद से पुलिस और आबकारी विभाग में हड़कंप की स्थिति है। जबकि प्रभावित क्षेत्र में मातम का माहौल और सन्नाटा पसरा हुआ है। कभी कोई नेता या पुलिस बस्ती में पहुंचती है तो लोग शिकायतों का अंबार लगा दे रहे हैं। सबकी बस एक ही शिकायत है कि आखिर सब कुछ जानते हुए भी सरकारी तंत्र अवैध शराब की तस्करी को क्यों नहीं रोक पाया। वहीं रविवार को भी पथरियापीर में पुलिस बल तैनात रहा। पुलिस शराब के अड्डों के बारे में लोगों से जानकारी जुटा रही है। 

उधर क्षेत्र में अवैध शराब की तस्करी में संलिप्त बताए गए भाजपा करनपुर मंडल के उपाध्यक्ष अजय सोनकर उर्फ घोंचू और राजा नेगी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने उनके संभावित ठिकानों पर छापे मारे। दोनों घर से फरार बताए जा रहे हैं। पुलिस लगातार मामले से जुड़े विभिन्न पहलुओं की पड़ताल में जुटी है। एसएसपी अरुण मोहन जोशी खुद मामले की मॉनीटरिंग कर रहे हैं। मामले की जांच कर रहे एसपी देहात परमेंद्र डोबाल ने बताया कि लोगों के बयान लिए जा रहे हैं।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: