बुधवार, 23 जून 2021 | 11:13 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम रावत ने रेल विकास निगम के अधिकारियों से ली ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाईन की जानकारी          हुंडई मोटर इंडिया फाउंडेशन ने उत्तराखंड को प्रदान किए वेंटिलेटर,ऑक्सीमीटर एवं सैनिटाइजर सहित अन्य सामान          सीएम ने दिखाई पांच वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी          इसरो की सेटेलाइट से बच्चें करेंगे ऑन लाइन पढ़ाई          पंजाब चुनावों से पहले कांग्रेस में छिड़ी जंग          उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू के लिए दिशा-निर्देश जारी          उत्तराखंड में जल्द दूर होंगी सेवानिवृत्त राजकीय पेंशन संबंधी विसंगतियां          सचिन तेंदुलकर बने सदी के सबसे तेज बल्लेबाज          अमेरिका के राष्ट्रपति को पीछे छोड़ नंबर वन बने पीएम मोदी         
होम | उत्तराखंड | देहरादून के मालदेवता में भारी बारिश मलबा कई घरों में घुसा

देहरादून के मालदेवता में भारी बारिश मलबा कई घरों में घुसा


उत्तराखंड में प्री मानसून की भारी बारिश के दौर के बाद कुछ दिनों तक गर्मी और शुष्क मौसम के बाद एक बार फिर उत्तराखंड में मौसम विभाग ने भारी बारिश की चेतावनी दी है। मौसम विभाग ने राज्य के कई हिस्सों में 11 जून से भारी बारिश की चेतावनी देते हुए यलो अलर्ट जारी किया। इसी के साथ उत्तराखंड में 11 और 12 जून को बारिश के साथ ही आंधी तूफान की संभावना और पहाड़ी ज़िलों के दूरस्थ इलाकों में काफी भारी बारिश भी होने की बात कही है।

इस बीच देहरादून के मालदेवता में लगातार बारिश की वजह से यहां कई घरों में मलबा घुस गया है। मालदेवता रोड पर मलबा आने से पूरी सड़क बाधित हो गई है। मालदेवता में मलबा आने से फिलहाल किसी तरह से जनहानि की खबर नहीं है। फिलहाल स्थानीय प्रशासन मौके पर पहुंच गया। सड़क खुलवाने का कार्य किया जा रहा है जल्द ही सड़क आवागमन हेतु खोल दी जाएगी।

प्रदेश के सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी भूस्खलन प्रभावित मालदेवता क्षेत्र पहुंचे। अपने सारे कार्यक्रम निरस्त कर सुबह से शाम 4 बजे तक प्रभावित क्षेत्र में डटे रहे काबीना मंत्री द्वारा स्थानीय ग्रामीणों को तत्काल राहत पहुंचाने हेतु ग्रामीणों के लिए भोजन व्यवस्था की तथा स्वयं भी ग्रामीणों के साथ ही दोपहर का भोजन किया। काबीना मंत्री द्वारा आपदा प्रभावितों के लिए पंचायत घर में 12 बैड तथा गद्दे-बिस्तर इत्यादि का इंतजाम कर राहत कैम्प की व्यवस्था की गई है।

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि जैसे ही मुझे सूचना मिली कि मालदेवता क्षेत्र में भूस्खलन होने के कारण मलवा आ गया है, मैं तुरंत घटना स्थल पर पहुंचा। कल रात हुए भारी बारिश के कारण मालदेवता से भैसवाड़गांव के लिए पीएमजीएसवाई के तहत बन रही सड़क का मलवा स्खलित हो कर मुख्य मार्ग, ग्रामीणों के घरों तथा खेतों में आ गया है। सेरकी-बौंठा पंचायत के झोल गांव को सर्वाधिक नुकसान हुआ है। मैंने स्वयं वहां खड़े हो कर मलवा हटवाने के कार्य का मुल्यांकन किया। पी0एम0जी0एस0वाई0 की निमार्णाधीन सड़क का मलवा अतिवृष्टि के कारण गांव तक आ गया है।

उन्होंने कहा कि अधिकारियों को निर्देषित किया है कि तत्काल प्रकरण की जांच कर दोषी अधिकारियों के विरुद्ध जबावदेही निर्धारित करने का कार्य करें। साथ ही जिलाधिकारी को निर्देषित किया है कि गांव के सात परिवारों को अन्यत्र सुरक्षित स्थान पर पर पुर्नवासित किया जाए क्योंकि इन परिवारों पर भविष्य में भी खतरा आसन्न है। राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देषित किया है कि प्रभावितों के नुकसान का आंकलन कर तत्काल मुआवजा उपलब्ध करवाया जाए। साथ ही निर्माणाधीन सड़क में जिन वायरक्रेट के कारण मलवे से बचाव हुआ वह क्षतिग्रस्त हो गए हैं। इनका मरम्मत कार्य तत्काल करवाने के लिए निर्देषित किया गया है। ताकि भविष्य में ऐसी दुर्घटना से बचाव हो सके। क्यारा और द्वारा की ओर से आने वाले सब्जी इत्यादि के वाहनां के लिए यह मार्ग अवरूद्ध हो गया है अतः इसे खोलने का कार्यवाही जारी है।  

इस अवसर पर रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ, जिला पंचायत सदस्य वीर सिंह चौहान, अनुज कौशल, भाजपा जिलाध्यक्ष शमशेर सिंह पुण्डीर, बीडीसी बालम सिंह, ग्राम प्रधान दिनेश, अपर जिलाधिकारी गिरीश गुणवंत, उप जिलाधिकारी गोपाल राम बिनवाल, तहसीलदार दयाराम, पीएमजीएसवाई, लोनिवि, सिंचाई विभाग, ग्रामीण अभियंत्रण विभाग, पुलिस के अधिकारियों सहित मौके पर उपस्थित रहे।

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: