रविवार, 23 फ़रवरी 2020 | 02:52 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दिए कुम्भ मेले की आवश्यक तैयारियों के निर्देश

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को दिए कुम्भ मेले की आवश्यक तैयारियों के निर्देश


मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत 10 फरवरी 2020 को मेला नियंत्रण भवन हरिद्वार में अपराह्न 03:00 बजे कुम्भ मेले की व्यवस्थाओं से सम्बन्धित कार्यों एवं योजनाओं की गहन समीक्षा करेंगे। सोमवार को सचिवालय में कुम्भ मेले से सम्बन्धित कार्यों की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने सभी विभागीय प्रमुखों एवं विभागाध्यक्षों को कड़े निर्देश दिए हैं कि वे अपने विभाग से सम्बन्धित कार्यों का गहनता से स्थलीय निरीक्षण के पश्चात व्यक्तिगत रूप से बैठक में शामिल हों। बैठक में मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह भी उपस्थित रहेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2021 में आयोजित होने वाला कुम्भ मेला भव्य एवं दिव्यता के साथ आयोजित होना है। यह राज्य की प्रतिष्ठा से जुड़ा विषय है। हमें देवभूमि की परम्परा के अनुरूप इस विश्वस्तरीय आयोजन को सफल बनाना है। इसमें सभी विभागीय प्रमुख अपनी जिम्मेदारी समझें। मुख्यमंत्री ने कहा कुम्भ के आयोजन हेतु स्थायी प्रकृति के निर्माण कार्यों के लिए अपेक्षित बजट जारी किया जा चुका है। उन्होंने निर्माण कार्यों में गुणवत्ता के साथ ही शीघ्रता किए जाने के भी निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि वर्ष 2019 में प्रयाग में आयोजित कुम्भ सफल रहा था। इसके लिए प्रयाग कुम्भ में मेलाधिकारी रहे विजय किरण आनन्द के अनुभवों का लाभ भी 2021 के हरिद्वार कुम्भ मेले में लिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कुम्भ मेले में हमें देश व दुनिया से आने वाले 12 करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं को ध्यान में रखते हुए व्यवस्थायें बनानी हैं इसके लिऐ समयबद्धता के साथ सभी विभाग अपनी कार्य योजना धरातल पर लायें। उन्होंने कहा कि कुम्भ मेले के सफल आयोजन के लिए सभी अखाड़ों के संत महात्माओं, जन प्रतिनिधियों, बद्धिजीवियों के साथ ही आम जनता का भी सहयोग लिया जायेगा इस पावन पर्व पर आने वाले श्रद्धालु सुखद एवं अविस्मरणीय अनुभव लेकर लौटें, यह भी हमारा प्रयास होना चाहिए। सचिवालय में आयोजित बैठक में सचिव मुख्यमंत्री श्रीमती राधिका झा के साथ ही अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: