सोमवार, 25 अक्टूबर 2021 | 01:12 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम पुष्कर धामी ने अयोध्या में रामलला और हनुमानगढ़ी के दर्शन          मुख्यमंत्री पुष्कर धामी एवं माताश्री मंगला जी ने किया हंस फाउण्डेशन डायलिसिस केन्द्र का लोकार्पण          सीएम ने उत्तराखण्ड जन विकास समिति के पहल 2021 अधिवेशन का शुभारम्भ किया          जम्मू-कश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो और जवान शहीद,सीएम धामी ने जताया गहरा दुःख          महिला मंगल दल एवं युवक मंगल दल के लिए आर्थिक सहायता के लिए शासनादेश जारी          सीएम धामी ने गुवाहाटी में शहीद हुए सेना के जवान सोनित कुमार सैनी को दी श्रद्धांजलि          मुख्य सचिव ने पर्यटन विभाग के अधिकारियों को दिए निर्देश, माउंटेनियर्स और ट्रैकर्स के लिए होगी रिस्टबैंड की व्यवस्था          सीएम हेल्पलाइन पर प्राप्त जन शिकायतों का समाधान समयबद्धता से हो-सीएम धामी         
होम | देश | बिजली संकट पर क्या झूठ बोल रही केजरीवाल सरकार?

बिजली संकट पर क्या झूठ बोल रही केजरीवाल सरकार?


देश और दुनिया में बिजली संकट की तरफ बढ़ रही है। इसकी चर्चा आपने हर तरफ पढ़ी और सुनी होगी, लेकिन क्या वाकई में दिल्ली में भी बिजली सकंट होने वाला है। इसके लेकर केजरीवाल सरकार ने कहा है कि, दिल्ली में बिजली संकट होने वाला है। इसका जवाब केन्द्र सरकार ने दिया है। दिल्‍ली सरकार के मंत्री सत्‍येंद्र जैन कहते हैं कि राजधानी को उसके कोटे की आधी बिजली ही सप्‍लाई हो रही है। टाटा पावर दिल्‍ली डिस्‍ट्रीब्‍यूशन लिमिटेड के सीईओ गणेश श्रीनिवासन ने भी कहा क‍ि 'छोटे ब्‍लैकआउट होंगे ही' क्‍योंकि दिल्‍ली को सप्‍लाई करने वाले पावर प्‍लांट्स में 'कुछ दिन का ही कोयला' है। इन दावों के उलट, केंद्र सरकार ने जो तस्‍वीर सामने रखी है, उसके मुताबिक दिल्‍ली में पिछले 15 दिन से बिजली की कोई कमी नहीं। नैशनल थर्मल पावर कॉर्पोरेशन का डेटा यह भी दिखाता है कि 1 से 11 अक्‍टूबर के बीच दिल्‍ली को जितनी बिजली मुहैया कराई गई, उसका 70% ही इस्‍तेमाल हुआ। इस तरह दिल्ली की बिजली को लेकर अलग-अलग आंकड़े दिए जा रहे हैं। जिसको लेकर अब एक अलग ही तरह की बहस शुरू हो गई है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: