बृहस्पतिवार, 17 अक्टूबर 2019 | 06:44 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          कांग्रेस पार्टी का बड़ा एलान, जम्मू-कश्मीर में नहीं लड़ेंगे BDS चुनाव          केंद्र सरकार ने 48 लाख कर्मचारियों को दिवाली से पहले दिया बड़ा तोहफा, 5 फीसदी बढ़ाया महंगाई भत्ता           देश के सबसे बड़ा सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक पब्लिक प्रॉविडेंट फंड पर सेविंग अकाउंट की तुलना में दे रहा है डबल ब्याज           भारतीय सेना एलओसी पार करने से हिचकेगी नहीं,पाकिस्तान को आर्मी चीफ बिपिन रावत की चेतावनी          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | दुनिया | पिथौरागढ़ में भारत और कजाकिस्तान के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास काजिंद 2019 शुरू

पिथौरागढ़ में भारत और कजाकिस्तान के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास काजिंद 2019 शुरू


पिथौरागढ़ में 3 से 14 अक्टूबर तक सेना के मैत्री मैदान में चलने वाला भारत-कजाकिस्तान के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास शुरू हो गया है। आज दोनों देशों के राष्ट्रगान के बाद भारत-कजाकिस्तान के सैनिकों का संयुक्त युद्धाभ्यास काजिंद 2019 का शुभारंभ सेना के मैत्री मैदान में हुआ। इसके लिए बुधवार को कजाकिस्तान के 60 सैनिकों का दल पिथौरागढ़ पहुंच गया था।

संयुक्त युद्धाभ्यास में दोनों देशों के करीब 200 सैनिक हिस्सा ले रहे हैं। भारत की ओर से दो राजपूत रेजीमेंट जोशीमठ के जवान युद्धाभ्यास में शिरकत कर रहे हैं। दो राजपूत रेजीमेंट के कंपनी कमांडर मेजर भूप सिंह ने बताया कि आज मैत्री मैदान में बिग्रेडियर एसके मंडल (सेना मेडल), कमांडर 111 इंडिपेंडेंट इंफ्रेट्री बिग्रेड संयुक्त युद्धाभ्यास का शुभारंभ करेंगे।

युद्धाभ्यास के दौरान दोनों देशों के सैनिकों को जंगल, पहाड़ियों और घरों में छिपे उग्रवादियों को मार गिराने का अभ्यास कराया जाएगा। सैनिकों को विपरीत और विषम भौगोलिक परिस्थितियों में आतंकी घटनाओं से खुद की रक्षा कर किस तरह निपटा जाए इसके बारे में जानकारी दी जाएगी।

संयुक्त अभ्यास के लिए दो राजपूत रेजीमेंट के सैनिक पहले से ही यहां पहुंच कर अभ्यास कर रहे हैं। रेजीमेंट के कमांडिंग ऑफिसर कर्नल अजीत कुमार बहरा (सेना मेडल) सैनिकों को युद्धाभ्यास की जानकारी दे रहे हैं। 14 अक्तूबर को संयुक्त युद्धाभ्यास का समापन होगा।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: