सोमवार, 15 जुलाई 2024 | 04:13 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | रोजगार | कमाई 7 लाख से ज़्यादा है तब भी ले सकते हैं टैक्स फायदा

कमाई 7 लाख से ज़्यादा है तब भी ले सकते हैं टैक्स फायदा


इस बार के बजट में सबसे ज़्यादा चर्चा नए इनकम टैक्स स्लैब को सात लाख तक करने की हुई। लेकिन इसके साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि नए स्लैब को चुनने वालों को इनवेस्टमेंट का फायदा नहीं मिलेगा। यानी अगर आपका वेतन सात लाख से दस हजार भी ज़्यादा हुआ तो आप पूरे टैक्स दायरे में आ जाएंगे। जबकि सच्चाई ये नहीं है। आइये पूरा समझते हैं।

बजट 2023 में नई इनकम टैक्‍स व्‍यवस्‍था को आकर्षक बनाने के लिए कुछ डिडक्‍शंस बेनिफिट भी रखे गए हैं। 1 अप्रैल, 2023 से आप इसे क्‍लेम भी कर सकेंगे। नई इनकम टैक्‍स व्‍यवस्‍था का प्‍लस पॉइंट इसका आसान होना है। इसमें टैक्‍स की दरें पुरानी व्‍यवस्‍था के मुकाबले कम हैं। इसका निगेटिव पक्ष यही बताया जा रहा है कि इसमें ज्‍यादातर डिडक्‍शन और एक्‍जेम्‍पशन का बेनिफिट नहीं है। अब तक लोगों का यही मानना था कि नई टैक्‍स व्‍यवस्‍था में सिर्फ स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन का बेनिफिट उपलब्‍ध है।

अभी भी नौकरीपेशा, पेंशनर्स और फैमिली पेंशनर्स स्टैण्डर्ड डिडेक्शन का फायदा ले सकते हैं। जिन लोगों की सैलरी या पेंशन इनकम है वे 50 हजार रुपये स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन क्‍लेम कर सकते हैं। इम्‍प्‍लॉयर को बिना कोई डॉक्‍यूमेंट दिए यह डिडक्‍शन क्‍लेम किया जा सकता है। सैलरी पर इनकम टैक्‍स का कैलकुलेशन करते वक्‍त इम्‍प्‍लॉयर अपने आप स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन को ध्‍यान में रखता है। फैमिली पेंशनर के मामले में नई टैक्‍स व्‍यवस्‍था के तहत 15,000 रुपये का स्‍टैंडर्ड डिडक्‍शन उपलब्‍ध कराने का प्रस्‍ताव किया गया है। अब तक यह बेनिफिट पुरानी इनकम टैक्‍स व्‍यवस्‍था में उपलब्‍ध था।

इसी तरह एनपीएस कॉन्ट्रिब्‍यूशन की बात करें तो अगर आपका इम्‍प्‍लॉयर आपके एनपीएस अकाउंट में कॉन्ट्रिब्‍यूशन कर रहा है तो बतौर सैलरीड कर्मचारी आप डिडक्‍शन क्‍लेम करने के हकदार हैं। ग्रॉस इनकम से किए जाने वाले कॉन्ट्रिब्‍यूशन पर यह डिडक्‍शन मिलेगा। यह डिडक्‍शन इनकम टैक्‍स ऐक्‍ट के सेक्‍शन 80सीसीडी (2) के तहत क्‍लेम किया जा सकता है। इस सेक्‍शन के तहत एक कर्मचारी जो अधिकतम अमाउंट क्‍लेम कर सकता है, वह प्राइवेट और सरकारी कर्मचारी के मामले में अलग-अलग है। प्राइवेट सेक्‍टर के कर्मचारी अपनी सैलरी के 10 फीसदी तक अधिकतम डिडक्‍शन क्‍लेम कर सकते हैं। वहीं, सरकारी कर्मचारी के मामले में सैलरी का 14 फीसदी तक अधिकतम डिडक्‍शन क्‍लेम करने की अनुमति है।

इसी तरह अग्निवीर कॉरपस फंड में कॉन्ट्रिब्‍यूशन- अग्निवीर कॉरपस फंड में जमा की गई रकम पर सेक्‍शन 80सीसीएच के तहत इनकम टैक्‍स छूट मिलेगी। यह इनकम टैक्‍स ऐक्‍ट का नया सेक्‍शन है। जमा की गई रकम को डिडक्‍शन के तौर पर क्‍लेम कर सकते हैं। अग्निवीर कॉरपस फंड से मैच्‍योरिटी पर मिलने वाली रकम भी टैक्‍स-फ्री होगी।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: