मंगलवार, 30 नवंबर 2021 | 02:29 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने पतंजलि विश्वविद्यालय,हरिद्वार के प्रथम दीक्षांत समारोह में गोल्ड मेडलिस्ट विद्यार्थियों को प्रदान की उपाधि          ओमीक्रॉन कोरोना वेरिएंट की भारत में हुई एंट्री          वर्ष 2025 तक उत्तराखण्ड बनेगा हर क्षेत्र में अग्रणी राज्यःसीएम पुष्कर सिंह धामी          सीएम पुष्कर धामी ने राइजिंग उत्तराखण्ड कार्यक्रम में किया प्रतिभाग,गायक जुबिन नौटियाल को किया सम्मान          1 दिसंबर से सउदी अरब जा सकेंगे भारतीय          उत्तराखंड में कोरोना काल में सराहनीय कार्य करने वाले ग्राम प्रधानों को मिलेगी 10 हजार रूपये की प्रोत्साहन राशि          T20 रैंकिंग में रोहित शर्मा को हुआ फायदा          15 दिसम्बर तक स्वरोजगार योजनाओं के तहत लोन के निर्धारित लक्ष्य को किए जाने के सीएम धामी ने दिए निर्देश          सीएम योगी आदित्यनाथ एवं सीएम पुष्कर धामी की लखनऊ में हुई बैठक में निपटा उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड का 21 वर्ष पुराना विवाद         
होम | दुनिया | महानायक अभिताभ बच्चन दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित,बोले-सिनेमा मतभेद भुलाकर जोड़ने का जरिया

महानायक अभिताभ बच्चन दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित,बोले-सिनेमा मतभेद भुलाकर जोड़ने का जरिया


हिंदी फिल्मों के महानायक अमिताभ बच्चन ने कहा है कि सिनेमा लोगों को उनके मतभेद भुलाकर साथ लाने का एक बड़ा माध्यम है। यहां चल रहे 50वें अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में 77 वर्षीय अभिनेता को दादासाहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया गया, जिसकी घोषणा सितंबर में की गई थी।

फिल्म महोत्सव के दौरान अमिताभ बच्चन ने कहा, मैंने हमेशा महसूस किया है कि सिनेमा एक ऐसा सशक्त माध्यम है, जो भाषा और उन सब चीजों से परे है, जो हमारे सामाजिक और आधुनिक जीवन में आती रहती हैं। उन्होंने इसका उदाहरण देते हुए कहा कि जब हम अंधेरे सिनेमा हॉल में बैठते हैं, अपने बराबर में बैठे व्यक्ति से कभी नहीं पूछते कि वह किस जाति, धर्म और रंग का है। फिर भी हम उस फिल्म, उसके गाने, हंसी-मजाक और जज्बात का एकसाथ लुत्फ उठाते हैं।

अभिनेता ने कहा कि इस तेज और अलग-थलग दुनिया में सिनेमा सहित केवल कुछ चीजें हैं, जो सामुदायिकता और शांति के विचारों को फैलाती हैं। हमें उम्मीद है कि हम फिल्में बनाते रहेंगे जो लोगों को जाति, मजहब या रंगों के आधार पर बांटे नहीं बल्कि जोड़े।

फिल्म महोत्सव 28 नवंबर तक चलेगा, जिसमें अमिताभ बच्चन की भी सुपर हिट फिल्में शोले, दीवार, पीकू, ब्लैक और बदला दिखाई जा रही है। उन्होंने कहा, इस फिल्म इंडस्ट्री में उन्हें 50 वर्ष हो गए हैं। उन्होंने 1969 में अपना फिल्मी सफर शुरू किया था और फिल्म महोत्सव का यह 50वां आयोजन है। उन्होंने आयोजकों को इसे यादगार बनाने के लिए बधाई दी। बुधवार को हुए फिल्म महोत्सव के उद्घाटन समारोह में विशिष्ट अतिथि अमिताभ ने कहा था कि उनके लिए गोवा आना हमेशा एक शानदार अनुभव रहा है। 

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: