बुधवार, 23 जून 2021 | 11:42 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सीएम रावत ने रेल विकास निगम के अधिकारियों से ली ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाईन की जानकारी          हुंडई मोटर इंडिया फाउंडेशन ने उत्तराखंड को प्रदान किए वेंटिलेटर,ऑक्सीमीटर एवं सैनिटाइजर सहित अन्य सामान          सीएम ने दिखाई पांच वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसों को हरी झंडी          इसरो की सेटेलाइट से बच्चें करेंगे ऑन लाइन पढ़ाई          पंजाब चुनावों से पहले कांग्रेस में छिड़ी जंग          उत्तराखंड में कोरोना कर्फ्यू के लिए दिशा-निर्देश जारी          उत्तराखंड में जल्द दूर होंगी सेवानिवृत्त राजकीय पेंशन संबंधी विसंगतियां          सचिन तेंदुलकर बने सदी के सबसे तेज बल्लेबाज          अमेरिका के राष्ट्रपति को पीछे छोड़ नंबर वन बने पीएम मोदी         
होम | सेहत | अस्पतालों ने छिपाया कोरोना संक्रमितो की मौत का आंकड़ा

अस्पतालों ने छिपाया कोरोना संक्रमितो की मौत का आंकड़ा


देश में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। जिसके कारण अब तक कई सारे लोगो की मौत हो चुकी है तो दूसरी तरफ दूसरी लहर में सबसे ज्यादा कोरोना से सबसे ज्यादा लोग मरे हैं। इस बीच कुछ चौंकाने वाले मामले सामने आए हैं।
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय हर दिन राज्यों की रिपोर्ट के आधार पर देश में नए कोरोना मामले, ठीक हुए लोग और मौत का आंकड़ा जारी करता है।आमतौर पर कोविड अस्पताल प्रशासन की ओर से राज्य सरकार को मौत का आंकड़ा दिया जाता है।राज्यों से केंद्र सरकार के पास आता है। लेकिन दूसरी लहर के दौरान काफी लोगों की मौत घर पर ही हो गई थी।उन्हें अस्पताल जाने का समय ही नहीं मिला या अस्पताल में बेड खाली नहीं थे। बीमारी के इलाज के अभाव में उन्होंने घर पर ही दम तोड़ दिया. ऐसे लोगों की संख्या को अस्पताल और राज्यों ने अपने डेली डेटा सिस्टम में अपडेट नहीं किया।बिहार पहला राज्य है, जहां अतिरिक्त मौत के आंकड़े को जोड़ा गया है।अब सवाल ये भी उठ रहा है कि क्या देश के दूसरे राज्यों में भी ऐसे ही मौत के आंकड़े छिपाएं जा रहे हैं? 
देश में मौत का आंकड़ा बढ़ने का संबंध दरअसल बिहार से है। बिहार में कोरोना से मौत का आंकड़ा एक दिन में ही अचानक 73 फीसदी तक बढ़ गया है।यहां सात जून तक मौत का कुल आंकड़ा 5424 था, ये अगले दिन बढ़कर 9375 हो गया। एक दिन में मौत का आंकड़ा 3951 बढ़ गया।इसी आंकड़े की वजह से देशभर में मौत का आंकड़ा भी बढ़ गया। पटना में सबसे ज्यादा 1070 अतिरिक्त मौतें जोड़ी गई हैं. वहीं बेगूसराय में 316, मुजफ्फरपुर में 314, नालंदा में 222 अतिरिक्त मौतें जोड़ी गई हैं।
इन सभी आंकड़ों को देखते हुए अब रिपोर्ट मांगी गई है। जिससे अब कोरोना से मरने वाले लोगों का सही आंकड़ा पता चल सकेगा।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: