शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024 | 09:48 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
होम | लाइफस्टाइल | घर पर कैसे रखें अपनी सेहत का ख़्याल, जान लीजिए

घर पर कैसे रखें अपनी सेहत का ख़्याल, जान लीजिए


अच्छी सेहत की कीमत एक बीमार इंसान ही समझ सकता है। आप बीमार नहीं होना चाहते तो बेहतर है अपनी हेल्थ का ध्यान खुद ही रखें। जरूरी नहीं इसके लिए आप डॉक्टर का अपॉइंटमेंट लें और महंगे चेकअप करवाएं। घर बैठे भी ये सब किया जा सकता है।  इनके आधार पर आप तय कर सकते हैं कि आपकी हेल्थ का स्टेटस क्या है। 

हार्ट रेट
अगर आपके पास स्मार्ट वॉच या ऑक्सीमीटर है तो हार्टरेट घर पर चेक कर सकते हैं। नहीं है तो आप कलाई पर उंगली रखकर भी चेक कर सकते हैं। नॉर्मल रेस्टिंग हार्ट रेट (RHR) 1 मिनट में 60-100 होनी चाहिए। यानी जब आप आराम कर रहे हैं तो एक मिनट में दिल इतनी बार धड़कना चाहिए। आपकी हार्टरेट जितनी कम है उतना अच्छा। स्वस्थ मनुष्य में हार्ट रेट बढ़ने के साथ मृत्युदर बढ़ने का खतरा बढ़ता जाता है। 
ब्लड प्रेशर
बीपी मशीन से घर पर ब्लड प्रेशर भी आसानी से चेक किया जा सकता है। आदर्श ब्लड प्रेशर 90/60 और 120/80 mmhg माना जाता है। मशीन की नाप 140/90 mmhg से ज्यादा मतलब आपका ब्लड प्रेशर ज्यादा है। जिनका 90/60 से कम है उनको लो बीपी की समस्या है। हाई बीपी से हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा ज्यादा होता है।
एक्सरसाइज के वक्त हार्ट रेट( HR)
इसे भी आप स्मार्टवॉच या चेस्ट रैप से नाप सकते हैं। जब आप हल्की-फुल्की एक्सरसाइज कर रहे हों तो हार्ट रेट आपकी मैक्सिमम हार्ट रेट का 50-70% होना चाहिए। जब तेज एक्सरसाइज करें तो 70-85 फीसदी होना चाहिए। मैक्सिम हार्ट रेट 220 में अपनी उम्र को घटाकर निकाला जा सकता है। एक्सरसाइज के वक्त अगर आपका HR ज्यादा है तो मतलब आपकी कार्डियोरिस्पिरेटरी हेल्थ (दिल और फेफड़े) गड़बड़ है।
हार्ट रेट रिकवरी
हार्ट रेट रिकवरी का मतलब है जब आप एक्सरसाइज बंद कर दें तो इसमें कमी। पहले 1 मिनट में आपकी हार्ट रेट 18-20 bpm कम हो जानी चाहिए। अगर आपकी हार्ट रेट एक मिनट में 12 Bpm से कम घट रही है तो मतलब कोई दिक्कत हो सकती है। 
चेक करें वजन 
आपका वजन सही है या नहीं इसे चेक करने के लिए आप ऑनलाइन BMI कैलकुलेट कर सकते हैं। अगर आपका बीएमआई 18.5 से कम है तो आप अंडरवेट हैं। 18.5 से 24.9 है तो नॉर्मल। 25-29.9 ओवरवेट। बीएमआई अगर 30 से ज्यादा है तो आप मोटापे का शिकार हैं। मोटापे से डायबिटीज, हायपरटेंशन, हार्ट अटैक, स्ट्रोक, डेमेंशिया और कैंसर जैसी बीमारी हो सकती है। 
वन लेग स्टैंड
एक पैर से खड़े होने की क्षमता हर किसी की अलग होती है। उम्र बढ़ने के साथ यह क्षमता घटती जाती है। अगर आपकी उम्र 50 साल से ऊपर है तो आपको एक पैर पर 10 सेकंड से ज्यादा खड़े होना चाहिए। यह क्षमता घटने का मतलब आप बीमारियों को न्योता दे रहे हैं। 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: