सोमवार, 23 सितंबर 2019 | 11:00 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
सेंसेक्स के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी तेजी, 1 दिन में ही निवेशकों को 7 लाख करोड़ रुपए का फायदा          इंतजार खत्म- वायुसेना को मिला पहला राफेल फाइटर जेट, दिया गया नए वायुसेना प्रमुख का नाम          जीएसटी काउंसिल की बैठक: ऑटो सेक्टर को नहीं मिली राहत, होटल कमरों पर कम हुई टैक्स दर          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          मौत का एक्सप्रेस वे बना यमुना एक्सप्रेस वे, इस साल हादसों में गई 154 लोगों की जान          महाराष्ट्र, हरियाणा में 21 अक्टूबर को होगा विधानसभा चुनाव, 24 को आएंगे नतीजे          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | देश | हरीश रावत का कांग्रेस महासचिव पद से इस्तीफा

हरीश रावत का कांग्रेस महासचिव पद से इस्तीफा


उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कांग्रेस महासचिव के पद से इस्तीफा दे दिया है। हरीश रावत का कहना है कि असम में मिली हार की जिम्मेदारी लेते हुए मैं इस्तीफा दे रहा हूं। कांग्रेस अध्यक्ष पद से राहुल गांधी के इस्तीफे के बाद पार्टी के एक और बड़े नेता ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। असम के प्रभारी व उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कांग्रेस महासचिव पद से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा, 'लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी की हार और संगठनात्मक कमजोरी के लिए हम पदाधिकारीगण उत्तरदायी हैं।'

लोकसभा चुनाव में उत्तराखंड में भी कांग्रेस को बुरी हार झेलनी पड़ी थी। राज्य की सभी पांच लोकसभा सीटों पर कांग्रेस उम्मीदवारों की हार हुई थी और बीजेपी ने इन सीटों पर कब्जा जमाया था। हरीश रावत ने अपने इस्तीफे का ऐलान करते हुए लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस की शिकस्त की जिम्मेदारी भी ली है। 
उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत लोकसभा चुनाव में नैनीताल-उधमसिंह नगर सीट से चुनाव मैदान में उतरे थे। उन्हें बीजेपी कैंडिडेट अजय भट्ट ने 3.39 लाख से ज्यादा मतों के भारी अंतर से मात दी थी। 2014 के लोकसभा चुनाव में भी बीजेपी ने राज्य की सभी पांच सीटों पर कब्जा जमाया था।

बता दें कि राहुल गांधी ने एक दिन पहले ही कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया। राहुल ने ये कहते हुए अपने पद से इस्तीफा दिया कि उन्हें लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन के लिए दोषी ठहराया जाना चाहिए, क्योंकि पार्टी 542 में से केवल 52 सीटों पर ही जीत दर्ज कर पाई। 

आपको बता दें कि असम के प्रभारी हरिश रावत असम में कांग्रेस को ज्यादा सींटे नहीं दिला पाए थे। लोकसभा चुनाव 2019 में कांग्रेस ने असम की 14 संसदीय सीटों में से केवल 3 सीट पर जीत दर्ज की और भारतीय जनता पार्टी के खाते में 9 सीटें आईं जबकि एक सीट ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमॉक्रेटिक फ्रंट (एआईयूडीएफ) और एक सीट निर्दलीय उम्मीदवार ने जीती थी।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: