सोमवार, 24 फ़रवरी 2020 | 07:59 IST
समर्थन और विरोध केवल विचारों का होना चाहिये किसी व्यक्ति का नहीं!!
भारत बना रहा है नेवी के लिए नई हाईटेक क्रूज मिसाइल, जद में होगा पाकिस्‍तान          भारतीयों के स्विस खातों, काले धन के बारे में जानकारी देने से वित्त मंत्रालय ने किया इंकार          पीएम की कांग्रेस को खुली चुनौती,अगर साहस है तो ऐलान करें,पाकिस्तान के सभी नागरिकों को देंगे नागरिकता          नागरिकता संशोधन कानून पर जारी विरोध के बीच पीएम मोदी ने लोगों से बांटने वालों से दूर रहने की अपील की है          भारतीय संसद का ऐतिहासिक फैसला,सांसदों ने सर्वसम्मति से लिया फैसला,कैंटीन में मिलने वाली खाद्य सब्सिडी को छोड़ देंगे           60 साल की उम्र में सेवानिवृत्त करने पर फिलहाल सरकार का कोई विचार नहीं- जितेंद्र सिंह          मोदी सरकार का बड़ा फैसला, दिल्ली की अवैध कॉलोनियां होगी नियमित          पीओके से आए 5300 कश्मीरियों के लिए मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, मिलेंगे साढ़े पांच लाख रुपये          पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कबूल किया कि उनका देश कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने की कोशिशों में नाकाम रहा          संयुक्‍त राष्‍ट्र ने भी माना,जलवायु परिवर्तन से निपटने में अहम है भारत की भूमिका          बैंकों और बीमा कंपनियों में लावारिस पड़े हैं 32,000 करोड़ से भी ज्यादा पैसे, नहीं है कोई दावेदार         
होम | उत्तराखंड | सीने में दर्द की शिकायत के बाद हरीश रावत अस्पताल में भर्ती

सीने में दर्द की शिकायत के बाद हरीश रावत अस्पताल में भर्ती


उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हरीश रावत की सोमवार सुबह अचानक तबियत खराब हो गई। सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। बताया जा रहा है कि अचानक उनके सीने में तेज दर्द हुआ जिसके बाद तत्काल उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां पर उनका इलाज जारी है।
हरीश रावत का इलाज कर रहे डॉक्टर प्रवीन जिंदल के अनुसार हरीश रावत के पांव में ब्लड क्लोटिंग हुई है जिसकी वजह से उन्हें बार-बार पैर दर्द और सूजन की शिकायत हो रही है. डॉक्टर ने पूर्व मुख्यमंत्री को 24 से 48 घंटे की अब्सर्वशन में रखा है.

मेडिकल साइंस में इस बीमारी को deep vein thrombosis कहा जाता है. डॉक्टर जिंदल के अनुसार अगर यह खून का थक्का दिल तक पहुंच जाए तो जान के लिए खतरा भी हो सकता है.

इसीलिए मरीज़ को ऑब्ज़र्वेशन में रखा गया है. पहले डॉक्टर दवाओं से इस खून के थक्के को हटाने की कोशिश करेंगे और ऐसा नहीं हो पाता तो ऑपरेशन किया जाएगा.

जानकारी के अनुसार हरीश रावत का इलाज डॉक्टरों की एक टीम कर रही है। उनकी सभी जरूरी जांच की जा रही हैं। हालांकि अभी उनकी हालत कैसी है इस संबंध में कोई भी जानकारी नहीं दी गई है।



© 2016 All Rights Reserved.
Follow US On: